जवाहर नवोदय विद्यालय सेकंड लिस्ट नहीं होगा जारी ?

जवाहर नवोदय विद्यालय चयन परीक्षा द्वारा कक्षा 6 और कक्षा 9 में शिक्षा सत्र 2024-25 में दाखिला लेने के लिए आयोजित चयन प्रवेश परीक्षा का रिजल्ट नवोदय विद्यालय समिति ने 31 मार्च 2024 को जारी कर दिया है। जिसे नवोदय विद्यालय समिति की आधिकारिक वेबसाइट navodaya.gov.in पर देखे जा सकते हैं। जवाहर नवोदय विद्यालय के प्रवेश पाने के इच्छुक विद्यार्थियों का कक्षा 6 के लिए 2024 में यह परीक्षा दो चरणों में आयोजित की गई थी। पहला चरण 4 नवंबर, 2023 तथा दूसरा चरण 20 जनवरी, 2024 को आयोजित किया गया था। वहीं कक्षा 9 की चयन परीक्षा 10 फरवरी 2024 को आयोजित की गई थी।

31 मार्च 2024 को जारी रिजल्ट के फर्स्ट लिस्ट के अनुसार जिन विद्यार्थियों का जवाहर नवोदय विद्यालय के लिए चयनित अनन्तिम सूची जारी किया गया है उनकी दाखिला की प्रक्रिया सप्ताह भर के भीतर शुरू हो जाएगी। चयनित विद्यार्थियों को समय सीमा के अंदर अपनी समस्त दस्तावेजों के साथ नवोदय विद्यालय में अपनी दाखिला की प्रक्रिया पूर्ण करनी होगी। फर्स्ट लिस्ट में चयनित विद्यार्थियों का प्रवेश प्रक्रिया पूर्ण हो जाने के बाद बचे हुए रिक्त सीटों के लिए सेकंड लिस्ट जारी किया जाता है।

इस पोस्ट में यह सेकंड लिस्ट कब आता है और कब नहीं ? इस बारे में हम यहां बताने जा रहे हैं।

नवोदय विद्यालय चयन परीक्षा के माध्यम से सभी नवोदय विद्यालय में निर्धारित सीटों के अनुसार चयनित विद्यार्थियों की फर्स्ट लिस्ट जारी की जाती है इस फर्स्ट लिस्ट के अनुसार विद्यार्थियों की प्रवेश प्रक्रिया प्रारंभ कर प्रवेश दिया जाता है।

उदाहरण के लिए मान लीजिए जवाहर नवोदय विद्यालय, जयपुर में कक्षा छठवीं के लिए 80 सीटें हैं, तो जवाहर नवोदय विद्यालय, जयपुर के लिए फर्स्ट लिस्ट में 80 विद्यार्थियों का चयन सूची जारी किया जाता है। इस चयन सूची के अनुसार चयनित 80 विद्यार्थियों का प्रवेश प्रक्रिया प्रारंभ कर प्रवेश दिया जाता है। मान लीजिए जवाहर नवोदय विद्यालय, जयपुर के लिए चयनित 80 में से सभी 80 विद्यार्थियों ने जवाहर नवोदय विद्यालय, जयपुर में प्रवेश ले लिया और कोई भी सीट रिक्त नहीं रहा, तो जवाहर नवोदय विद्यालय, जयपुर या ऐसे ही अन्य सभी जवाहर नवोदय विद्यालयों के लिए सेकंड लिस्ट जारी नहीं होता है।

लेकिन ऐसा कभी नहीं होता है कि किसी भी जवाहर नवोदय विद्यालय में फर्स्ट लिस्ट में चयनित सभी के सभी विद्यार्थियों द्वारा प्रवेश ले लिया जाता है। अर्थात सभी जवाहर नवोदय विद्यालयों में कुछ ना कुछ ऐसे विद्यार्थी भी होते हैं जो चयनित होकर भी प्रवेश नहीं लेते। यहां प्रवेश नहीं लेने का मुख्य कारण है कुछ विद्यार्थी जवाहर नवोदय विद्यालय के अतिरिक्त, सैनिक स्कूल, मिलिट्री स्कूल, बनारस हिन्दू स्कूल या अनेक राज्यों में संचालित विशेष विद्यालयों में चयन होने पर वहाँ प्रवेश प्राप्त कर लेते हैं और जवाहर नवोदय विद्यालय में प्रवेश नहीं लेते। जवाहर नवोदय विद्यालय के लिए चयनित ऐसे कुछ विद्यार्थियों का सीट लगभग प्रत्येक जवाहर नवोदय विद्यालयों में रिक्त रह जाते हैं। इन रिक्त सीटों को भरने के लिए नवोदय विद्यालय समिति द्वारा सेकंड लिस्ट जारी किया जाता है। जिसमें फर्स्ट लिस्ट में चयन नहीं होने वाले विद्यार्थियों में से ही सेकेंड लिस्ट जारी किया जाता है और उन्हें पुनः जवाहर नवोदय विद्यालयों में प्रवेश का मौका दिया जाता है।

अब प्रश्न यह उठता है कि यह सेकंड लिस्ट कब तक जारी होता है?

यह सेकंड लिस्ट जारी होने में काफी समय लग जाता है क्योंकि फर्स्ट लिस्ट में चयनित विद्यार्थियों की प्रवेश प्रक्रिया पूर्ण होने में महीनों का वक्त लग जाता है। इस आधार पर फर्स्ट लिस्ट के बाद एक या दो महीने पश्चात सेकंड लिस्ट जारी किया जाता है। सेकंड लिस्ट में चयनित विद्यार्थियों को जवाहर नवोदय विद्यालय द्वारा दूरभाष या पत्राचार के माध्यम से सूचित किया जाता है। सेकंड लिस्ट को रिजल्ट की तरह इंटरनेट पर जारी नहीं किया जाता।

JNVST 2024 कक्षा 6 का रिजल्ट जारी, ऐसे चेक करें | JNVST 2024 RESULT DECLARED, STEP BY STEP GUIDE

जवाहर नवोदय विद्यालय कक्षा 6वीं चयन परीक्षा 20 जनवरी 2024 कि रिजल्ट आज जारी कर दिया गया है। अपने रोल नंबर के आधार पर रिजल्ट जांच करने के लिए रोलनंबर तथा जन्मतिथि की जरूरत पड़़ेगी।
रिजल्ट का लिंक आपको नवोदय विद्यालय समिति की आधिकारिक वेबसाईट navodaya.gov.in प्राप्त हो जाएंगे।

यदि आप यहीं से सीधे रिजल्ट जांच करने वाले पेज पर जाना चाहते हैं तो निचे लिंक तथा रिजल्ट जांच करने की पूरी प्रक्रिया स्टेप-बाई-स्टेप दिया जा रहा है।

1. निचे दिये गए लिंक को क्लिक करने के बाद इस तरह का पेज खुलेगा।

2. निर्धारित स्थान पर अपना रोलनंबर तथा जन्मतिथि (कलेण्डर का उपयोग करें) भरकर निचे दिये गए CHECK RESULT पर क्लिक करें।

3. क्लिक करते ही आपका रिजल्ट आ जाएगा।

4. रिजल्ट चेक करने के बाद कमेन्ट सेक्शन पर कमेन्ट करे आपका सलेक्शन हुआ या नहीं या अन्य कोई बातें हो तो भी लिखें। यथा संभव जवाब दिया जाएगा।

अपना रिजल्ट चेक करेंCLICK HERE

Answer Key जवाहर नवोदय विद्यालय चयन परीक्षा कक्षा 6th 2024 | JNVST Answer Key 2024

आज 20 जनवरी 2024 को देश भर में जवाहर नवोदय विद्यालय चयन परीक्षा कक्षा 6th (शिक्षा सत्र 2024-25) का सफलतापूर्वक आयोजन हो गया। अब बच्चों को इस परीक्षा का संभावित उत्तर कुंजी (Probable Answer Key) दिया जा रहा है, ज्ञातव्य हो कि देश भर में यह परीक्षा अलग-अलग राज्यों में अलग-अलग कोड पर लिया गया है लेकिन सभी कोड के प्रश्न एक जैसे हैं। प्रश्नों का क्रम आगे-पीछे जरूर है लेकिन सभी कोड के पेपर में एक जैसे प्रश्न दिए गए हैं। देशभर के सभी राज्यों के सभी कोड के प्रश्न पत्रों के लिए मॉडल आंसर अलग अलग बनाना संभव नहीं है इसलिए हम यहाँ प्रश्न पेपर VS246J परीक्षण पुस्तिका कोड T के सभी पृष्ठों पर सभी प्रश्नों के सही उत्तरों पर सही (✔️) का निशान लगाकर अपलोड कर दिया है, आप अपने कोड के पेपर से हमारे द्वारा दिए गए आंसर को अच्छी तरह से मिलान कर सकते हैं।

अपने उत्तरों का मिलान करके आपके द्वारा सही किए गए कुल प्रश्नों की संख्या को कमेन्ट करें। आपने कुल 80 प्रश्नों में कितने प्रश्न सही किया है कमेन्ट करे। अपने प्राप्तांकों के आधार पर हमारे द्वारा जारी कट-ऑफ मार्क्स (Cut-off Mark) से अपना स्थिति का मिलान करें।

नवोदय कक्षा 6th 2024 कट-ऑफ मार्क | Navodaya Cut-Off marks 2024 Class 6th

20 जनवरी 2024 को आयोजित जवाहर नवोदय विद्यालय प्रवेश परीक्षा के परीक्षण पुस्तिका अनुसार प्रथम दृष्टया, उम्मीदवारों के प्रदर्शन तथा इस वर्ष के परीक्षा प्रश्न-पेपर की कठिनाई स्तर के अनुसार हमारी नवोदय स्टडी टीम द्वारा एक अनुमान लगया गया है कि इस परीक्षा में आरक्षित सीटों के आनुसार कितने प्रतिशत अंक प्राप्त करने वाले उम्मीदवारों का सलेक्शन होने की संभावना है।

यहाँ जो कट-ऑफ अंक दिए जा रहे हैं वह एक अनुमान मात्र है जो आज 20 जनवरी 2024 के परीक्षण पुस्तिका में आये प्रश्नों के कठिनाई स्तर के आधार पर है जबकि परीक्षा का रिजल्ट (चयन लिस्ट) जिलेवार जारी होता है। इस आधार पर कुछ बेहतर स्कूली शिक्षा वाले जिलों तथा कमजोर स्कूली शिक्षा वाले जिलों के अंकों में 2% का विचलन संभव है।

कुछ जिलों में बेहतर स्कूली शिक्षा होने के बावजूद भी कट-ऑफ कम चला जाता है क्योंकि ऐसे जिलों में कुछ आन्य बेहतर विकल्प भी होते हैं जिससे आवेदन संख्या कम होते हैं। इसके विपरित कुछ पिछड़े जिलों में भी कट-ऑफ ऊपर चला जाता है क्योंकि यहाँ कोई विकल्प नहीं होने के कारण आधिक आवेदन की जाती है तथा तैयारी पर विशेष ध्यान दिया जाता है।

कट-ऑफ मार्क 2024 :-

शहरी/ग्रामीण अनारक्षित 25% सीटों के लिए अनुमानित कट-ऑफ मार्क (80 प्रश्न में से)

CategoryBoysGirls
UR77-8075-80
OBC76-7774-75
ST74-7773-75
SC74-7771-75
20 जनवरी 2024 को आयोजित जवाहर नवोदय विद्यालय प्रवेश परीक्षा के कट-ऑफ मार्क शहरी/ग्रामीण अनारक्षित

ग्रामीण बच्चों के लिए आरक्षित 75% सीट का अनुमानित कट-ऑफ मार्क (80 प्रश्न में से)

CategoryBoysGirls
UR74-7772-75
OBC73-7471-72
ST70-7468-72
SC68-7466-72
20 जनवरी 2024 को आयोजित जवाहर नवोदय विद्यालय प्रवेश परीक्षा के कट-ऑफ मार्क ग्रामीण बच्चों के लिए आरक्षित

नवोदय पूरी तैयारी के बाद, ये बातें रखें याद। भाग – 2

जवाहर नवोदय विद्यालय चयन परीक्षा कक्षा छठवीं की परीक्षा में बैठने वाले बच्चों के लिए महत्वपूर्ण बातें जो उनकी परीक्षा की पूरी तैयारी हो जाने के बाद परीक्षा के दौरान याद रखनी जरूरी है। इसके लिए हमने “नवोदय पूरी तैयारी के बाद, ये बातें रखें याद। भाग – 1” पर महत्वपूर्ण तीन बिंदुओं को लेकर वृहद चर्चा की है। यदि आपने इसे नहीं पढ़ा है तो एक बार पढ़े। आज इस पोस्ट में इसके आगे की महत्वपूर्ण बातें आगे की बिंदु चार से शुरू करने जा रहे हैं इसे भी आप ध्यान से पढ़ कर यह जरूरी टिप्स अपनाएं और सफलता प्राप्त करें :

4. एकाग्रता भंग :

परीक्षा के दौरान परीक्षा हाल में बच्चों को पूरे 2 घंटे के लिए एकाग्रता बनाए रखना चाहिए। यदि उसके आसपास, अगल-बगल किसी प्रकार की कोई घटनाएं शोरगुल, आवाज़, बगल के बच्चे की कोई हरकत आदि हो रही है तो उस पर किसी प्रकार का ध्यान नहीं देना चाहिए। उसे अपने परीक्षा पर ही एकाग्रता बनाए रखने की जरुरत है। प्रत्येक प्रश्न को हल करने के लिए एकाग्रता बनाएँ रखें। किसी भी हल किये हुए या पीछे हल कर चुके प्रश्नों पर चिंतन-मनन नहीं करना चाहिए। आप जिस प्रश्न पर पहुंचे हैं या जिस प्रश्न को आप हल कर रहे हैं उस समय केवल उसी एक प्रश्न पर ही विचार करते रहें, ना कि आने वाले प्रश्न के लिए और ना ही पीछे हल हो चुके प्रश्न के लिए किसी प्रकार का कोई विचार मन में नहीं लाना चाहिए और जब प्रश्न पूरा हो जाए तब अगले प्रश्न पर विचार करना चाहिए।

5. अति आत्मविश्वास :

किसी भी परीक्षा के प्रश्न को हल करने के लिए आत्मविश्वास का होना बहुत जरूरी है किंतु किसी भी परीक्षा में अति आत्मविश्वासी होना भी कुछ प्रश्न को गलत कर देता है। हम यहां इन बातों पर चर्चा करेंगे। यदि बच्चा अति आत्मविश्वास के साथ किसी सरल प्रश्न को जल्दी-बाजी में किसी ऑप्शन के प्रति आस्वस्थ होकर ओएमआर पर उत्तर भर देता है तो भी यह गलत होने की संभावना बन जाती है। इसलिए यह ध्यान रखें की सरल से सरल प्रश्न या जिसे आप आसानी से भी क्यों ना बना सकते हैं उसके लिए भी कुछ समय अवश्य रुकें और उस प्रश्न को भी आप पेन चलाकर या दुबारा पढ़कर अवश्य हल करें। बिना पेन चलाए या एकबार पढ़े हुए प्रश्न में कभी-कभी गलती होने की संभावनाएं बढ़ जाती है।

6. बैचैनी, घबराहट या डर :

बच्चे तो बच्चे बड़ों को भी परीक्षा शब्द का नाम सुनते ही बेचैनी, घबराहट या डर लगना स्वाभाविक बात है। जवाहर नवोदय विद्यालय चयन परीक्षा में वैसे भी छोटे-छोटे बच्चे होते हैं। इनको बेचैनी घबराहट या डर लगना स्वाभाविक है। जब आपको ऐसा लगने लगे तो आप कुछ मिनट के लिए रिलैक्स हो जाए, लंबी सांस ले, उसके बाद फिर आराम से धीरे-धीरे हल करना शुरू करें। जैसे-जैसे आपकी एक-एक प्रश्न हल होते जाएंगे वैसे-वैसे आपकी घबराहट, बेचैनी या डर समाप्त होते जाएंगे। इसके लिए बिलकुल डरने की जरूरत नहीं है आप स्वाभाविक रूप से परीक्षा हाल में बैठें जैसे कि आप घर पर बैठे हो और स्वाभाविक रूप से एक-एक प्रश्न बनते जाएं। जैसे-जैसे आपकी एक-एक प्रश्न बनेंगे आपकी डर, बेचैनी या घबराहट खत्म होते जाएंगे और आप अंत तक सभी प्रश्नों को आसानी से हल कर सकते हैं।

7. अध्ययन चूक

प्रायः देखा गया है कि अधिकांश परीक्षार्थी परीक्षा के समय प्रश्नों को पढ़ने में कुछ ना कुछ चूक (गलती) कर जाते हैं या पढ़ने में कुछ शब्द को समझ नहीं पाते। इसके कारण उनके उत्तर भी गलत हो जाते हैं या उल्टे हो जाते हैं। जैसे कि किसी प्रश्न में नकारात्मक प्रश्न होता है उसे वह उत्तर सकारात्मक में दे देता है। तो ऐसे प्रश्नों को ध्यानपूर्वक पढ़े। जिस प्रश्न में आप समझने में देरी कर रहे हैं या गलत समझ रहे हैं, पढ़ने में या अध्ययन करने में आप से चूक हो रहा है तथा प्रश्न को हल करके गलत उत्तर दे बैठते हैं। ऐसे प्रश्नों को आप ध्यान पूर्वक पढ़े। यह कोशिश करें कि ऐसे प्रत्येक प्रश्न को हल करने से पहले एक या दो बार पढ़े और हल करने के बाद भी एक बार अवश्य पढ़े उसके बाद उत्तर को ओएमआर शीट पर लगाएं।

ऊपर दिए गए सभी सात बातों को ध्यान में रखते हुए आप परीक्षा हॉल जाएं और परीक्षा में सभी प्रश्नों को सावधानीपूर्वक हल करें….. आपकी सफलता एवं उज्जवल भविष्य की शुभकामनाओं के साथ नवोदय स्टडी टीम……।

नवोदय प्रवेश परीक्षा से पहले ईन बातो का रखें ध्यान

1. किसी भी परिस्थिति में बिना प्रवेश पत्र के किसी भी अभ्यर्थी को परीक्षा में बैठने की अनुमति नहीं दी जायेगी।

2. प्रवेश पत्र में विवरण को ध्यान से देखें। यदि कोई त्रुटि हो, तो तुरंत अपने जिले के जवाहर नवोदय विद्यालय के प्रधानाचार्य को (आपके एडमिट कार्ड में दिए गए) ईमेल द्वारा सूचित किया जाना चाहिए।

3. परीक्षा हॉल में साधारण कलाई घड़ी को छोड़कर किसी भी इलेक्ट्रॉनिक उपकरण/गैजेट की अनुमति नहीं है।

4. परीक्षा हॉल में एडमिट कार्ड और काले/नीले बॉल पेन के अलावा कोई भी वस्तु न ले जाएं।

5. उम्मीदवार को परीक्षा केंद्र पर सुबह 10:30 बजे तक रिपोर्ट करना होगा।
देर से रिपोर्ट करने पर उम्मीदवार को परीक्षा में बैठने की अनुमति नहीं दी जाएगी। परीक्षा की कुल अवधि 2 घंटे (सुबह 11.30 बजे से दोपहर 1.30 बजे तक) है। हालांकि विशेष आवश्यकता वाले (दिव्यांग) उम्मीदवारों के संबंध में 40 मिनट का अतिरिक्त समय प्रदान किया जाएगा। सुबह 11.15 बजे से 11.30 बजे तक निर्देशों को पढ़ने के लिए 15 मिनट का अतिरिक्त समय दिया जाता है।

6. उत्तर देने से पहले, उम्मीदवार को यह सुनिश्चित करना होगा कि प्रश्न पुस्तिका में 1 से 80 तक क्रमानुसार 80 प्रश्न हों।

7. विसंगति के मामले में, उम्मीदवार चाहिए प्रश्न पत्र बदलने के लिए तुरंत मामले की सूचना निरीक्षक को दें।

8. ओएमआर शीट पर लिखने के लिए केवल नीले/काले बॉल प्वाइंट पेन का ही प्रयोग करें। पेंसिल का प्रयोग सख्त वर्जित है।

9. प्रत्येक प्रश्न के बाद चार वैकल्पिक उत्तर दिए गए हैं, जिन्हें A, B, C और D से चिह्नित किया गया है। उम्मीदवार को सही उत्तर का चयन करना होगा और संबंधित गोले को काला करना होगा। ओएमआर उत्तर पत्रक पर चयनित उत्तर पर कोई निगेटिव मार्किंग नहीं की जाएगी।

10. प्रवेश पत्र में उल्लिखित परीक्षा के उसी माध्यम का प्रश्न पत्र प्रदान किया जाएगा। प्रश्न पत्र के माध्यम में परिवर्तन की अनुमति नहीं है।

11. अभ्यर्थी को प्रत्येक खण्ड के सभी प्रश्नों को हल करना चाहिए। हर खण्ड (सेक्शन) में अलग-अलग न्यूनतम अंक (क्वालिफाई मार्क्स) प्राप्त करना होता है।

12. उम्मीदवारों को ओएमआर शीट के साथ-साथ प्रश्न पत्र पर रोल नंबर भरना होगा।

13. एक बार चिह्नित किए गए उत्तर में किसी भी तरह के बदलाव की अनुमति नहीं है। उत्तर पत्रक पर ओवरराइटिंग, कट और मिटाने की अनुमति नहीं है।

14. ओएमआर शीट पर व्हाइटनर/सुधार द्रव/इरेज़र के उपयोग की अनुमति नहीं है।

15. उम्मीदवार को प्रदान की गई जानकारी का समर्थन करने के लिए पहचान/निवास और जन्म तिथि के किसी भी प्रमाण को सत्यापित करने के लिए आधार कार्ड/सरकारी निवास प्रमाण पत्र ले जाना होगा।

16. उम्मीदवार दोपहर 01.30 बजे से पहले और ओएमआर उत्तर पत्रक निरीक्षक को सौंपे बिना हॉल से बाहर नहीं जाएंगे।

17. परीक्षा के दौरान सहायता देने या प्राप्त करने या अनुचित साधनों का उपयोग करने वाले किसी भी उम्मीदवार को अयोग्य घोषित कर दिया जाएगा।

18. प्रतिरूपण का कोई भी प्रयास भी उम्मीदवारी को अयोग्य घोषित कर देगा।

19. चयन के बाद जवाहर नवोदय विद्यालय में कक्षा छठी में प्रवेश के समय पात्रता मानदंड की पूर्ति के लिए उम्मीदवार को अनंतिम रूप से परीक्षण के लिए उपस्थित होने की अनुमति दी जाती है।

20. संबंधित जेएनवी में प्रवेश के लिए उम्मीदवार का चयन निर्धारित नवोदय विद्यालय समिति मानदंड के अनुसार है।

नवोदय प्रवेश परीक्षा 20 जनवरी 2024, अभिभावकों के लिए सामान्य निर्देश

नवोदय चयन परीक्षा 20 जनवरी 2024 हेतु अभिभावकों के लिए सामान्य निर्देश/महत्वपूर्ण जानकारी –

परीक्षा केंद्र पर ले जाने हेतु सामग्री – प्रवेश पत्र (दो प्रति में), दो बाल पेन, तख्ती, स्केल, घड़ी, रूमाल, पानी की बाटल, मास्क, हेण्ड सेनेटाइजर आदि ।

विद्यार्थी को मास्क लगाकर ही परीक्षा केंद्र में प्रवेश कराएँ।

20 जनवरी 2024 को सुबह विद्यार्थी को हल्का भोजन करवाकर और आरामदायक कपड़े (स्कूल यूनिफार्म) पहना कर 10:30 बजे तक परीक्षा केंद्र पर पहुंचे।

विद्यार्थी से नकारात्मक बातें ना करें सलेक्शन होने का अनावश्यक दबाव ना डालें और विद्यार्थी को बताएं कि वह परीक्षा में Over Speed (जल्दबाजी) ना करे।

विद्यार्थी स्वयं पेपर चालू होने से पहले पानी पेशाब से फ्री होकर बैठना है, जिससे कि 11:30 बजे से 1:30 बजे तक परीक्षा के लिए निर्धारित समय में से एक भी मिनट बर्बाद ना हो।

महत्वपूर्ण जानकारी इसे ध्यान रखें-

जैसे ही विद्यार्थी 1:30 बजे पेपर पूर्ण होने के बाद परीक्षा सेन्टर से बाहर आता है, उससे तुरंत पेपर ले लें और थोड़ा एकांत में अकेला लेजाकर 5 से 10 मिनट रिलैक्स होने दें, रिलैक्सेशन के तुरंत बाद विद्यार्थी द्वारा परीक्षा केंद्र के अंदर जो उत्तर भर कर आया है परीक्षण पुस्तिका के प्रश्नों के उन्हीं विकल्पों पर सही का चिन्ह लगवाएँ। अभिभावकों को यह जांच करना है कि विद्यार्थी ने जो सही का चिन्ह लगाया है सभी 80 प्रश्नों में लगा होना चाहिए और स्पष्ट रूप से लगा हुआ होना चाहिए। (ध्यान रहे यह कार्य विद्यार्थी का परीक्षा के बाद सबसे पहला काम होना चाहिए, नाश्ता-पानी या अन्य बातें- बाद में हो) इससे विद्यार्थी के परीक्षा में आने वाले संभावित अंको का सही-सही पता लगाया जा सकता है। ध्यान रहे यदि यह कार्य आप परीक्षा सम्पन्न होने के अधिक समय व्यतीत करने के बाद करते हैं तो बच्चा 80 प्रश्नों का सही-सही जानकारी नहीं दे सकता 10% त्रुटि होने की सम्भावना रहती है। इससे उसके परिणाम का सही आकलन नहीं हो सकेगा।

नवोदय परीक्षा पेपर सरल, मध्यम या कठिन, आपकी रणनीति क्या होना चाहिए ?

जवाहर नवोदय विद्यालय 6th में प्रवेश प्राप्त करने के लिए आपको 20 जनवरी 2024 को आयोजित होने वाली एक चयन परीक्षा से गुजरना है। इस परीक्षा में चयनित होकर प्रवेश पाने के लिए आपने साधारण, मध्यम या भरपूर तैयारी की होगी। हम इस लेख में आपकी तैयारी का स्तर (साधारण, मध्यम या भरपूर) तथा परीक्षा पेपर का स्तर (सरल, मध्यम या कठिन) होने की स्थिति में आपकी रणनीति क्या होने चाहिए इस बारे में बात करेंगे।

इस परीक्षा में बैठने वाले सभी बच्चों को हमने उनके तैयारी के अनुसार तीन स्तर पर रखा है। आप इन तीन स्तरों में से कोई भी हो सकते हैं। आप अपने तैयारी की स्तर के आधार पर परीक्षा पेपर की स्तर के अनुसार अपनी रणनीति तैयार करेंगे। बच्चों की तैयारी के अनुसार तीन स्तर निम्नानुसार है-

साधारण तैयारी करने वाले बच्चे :-

ये वे बच्चे हैं जो विशेष रूप से परीक्षा की तैयारी नहीं करते, ये फार्म भरे होते हैं, कभी-कभी तैयारी में लग जाते हैं तथा परीक्षा नजदीक आने पर कुछ तैयारी करने लगते हैं। इन बच्चों को परीक्षा का तनाव कम होता है।

मध्यम तैयारी करने वाले बच्चे :-

इस स्तर के बच्चे परीक्षा की तैयारी में अपना पूरा समय देते हैं, साल भर घर पर ही उपलब्ध संसाधनों के द्वारा तैयारी करते हैं। तैयारी में घर के सदस्यों द्वारा सहयोग प्रदान किया जाता है। कोई कोचिंग क्लासेज या ट्यूशन टीचर का उपयोग नहीं करते है। इन बच्चे को परीक्षा का तनाव होता है।

भरपूर तैयारी करने वाले बच्चे :-

इस स्तर के बच्चे ऐसे संस्थान में पढ़ाई करते है जहाँ स्कूल शिक्षा के साथ-साथ नवोदय की तैयारी भी कराते हैं। इन्हें संस्था द्वारा अतिरिक्त संसाधनों के साथ विशेष तैयारी कराया जाता है साथ ही घर के सदस्यों द्वारा भी विशेष सहयोग प्रदान किया जाता है। कोई कोचिंग क्लासेज, ट्यूशन टीचर या हास्टल का उपयोग करते है। इन बच्चों को परीक्षा का तनाव सबसे अधिक होता है।

अब बात करेंगे इन तीनों स्तर पर तैयारी करने वाले बच्चों की क्या रणनीति होने चाहिए यदि 20 जनवरी का पेपर सरल, मध्यम या कठिन आए तो। तो चलिए एक-एक पर आलग-अलग विचार करते हैं-

सरल प्रश्न पेपर होने पर रणनीति :-

यदि प्रश्न पेपर बहुत ही सरल आ जाए, जैसे 2021 में आया था। ऐसी स्थिति में तीनों स्तर के बच्चों के बीच कम्पटीशन होता है और कट-ऑफ बहुत ऊपर चला जाता है। इसमें मध्यम स्तर एवं भरपूर स्तर पर तैयारी करने वाले बच्चे अधिक सरल प्रश्न देखकर उतावले हो जाते हैं । परीक्षा को गंभीरता से नहीं लेते, जल्दीबाजी में सरल प्रश्नों को भी गलत कर जाते हैं। वहीं साधारण स्तर पर तैयारी करने वाले बच्चे गंभीरता पूर्वक परीक्षा देते हैं और अधिकांश प्रश्न सही करते हैं। यदि आप अच्छे से तैयारी किए हैं तो भी सरल से सरल प्रश्न पेपर आने पर भी जलदबाजी न करें गंभीर होकर सभी प्रश्न सही-सही हल करके ही उत्तर भरें।

मध्यम प्रश्न पेपर होने पर रणनीति :-

मध्यम स्तर के प्रश्न पेपर होने पर होने की स्थिति में ज्यादा कम्पटीशन दूसरे एवं तीसरे स्तर के बच्चों के बीच होता है। यहाँ भी भरपूर स्तर पर तैयारी करने वाले बच्चे कुछ सरल प्रश्नों को देखकर जल्दीबाजी में गलत कर बैठते हैं। वहीं मध्यम स्तर पर तैयारी करने वाले बच्चे गंभीरता पूर्वक परीक्षा देते हैं और अधिकांश प्रश्न सही करते हैं। यदि आप अच्छे से तैयारी किए हैं तो सरल प्रश्नों पर कोई भी जल्दबाजी न करें गंभीर होकर सभी प्रश्नों को सही-सही हल करके ही उत्तर भरें।

कठिन प्रश्न पेपर होने पर रणनीति :-

यदि परीक्षा पेपर कठिन स्तर का हो, तो मध्यम स्तर पर तैयारी करने वाले बच्चे गंभीरता से पेपर हल करें। कठिन प्रश्नों में ज्यादा समय व्यतीत न करते हुए अपने स्तर के सभी प्रश्नों को सही-सही हल करके कठिन प्रश्नों के लिए समय बचाएं तथा जो हल हो सके ऐसे प्रश्नों को समय देकर हल करें। शेष प्रश्न जिसे आप बिल्कुल ही हल नहीं कर पा रहे हैं उन सभी प्रश्नों के लिए कोई एक आप्शन को चयन करके सभी में एक ही आप्शन का तुक्का लगाने से औसत अंक अधिक प्राप्त होते हैं। (यहाँ तुक्का लगाने की नियम हमारी अपनी राय है, आपको जो ठीक लगे वही अपनाएँ।)

सारांश :-

उपर्युक्तानुसार इस परीक्षा में सलेक्शन प्राप्त करने वाले बच्चे तथा सलेक्शन नहीं हो पाने वाले बच्चों के बीच केवल 2 से 3 प्रश्नों का अंतर होता है। आप सही रणनीति अपनाकर 2 से 3 प्रश्न अधिक सही कर सकते है और सलेक्शन पा सकते हैं। अन्त में मुख्य बात “प्रश्न कितने भी सरल क्यों न हो, जल्दबाजी में उत्तर भरकर गलत न करें। तनाव मुक्त होकर गंभीरता से परीक्षा दें।”

आप परीक्षा में सफलता प्राप्त करें…
अग्रिम शुभकामनाओं के साथ।

NAVODAYA STUDY APP
NAVODAYA MOCK TEST
NAVODAYA MODEL PAPER
NAVODAYA OLD PAPER
NAVODAYA IMP QUESTIONS
NAVODAYA 26 OMR SHEET
BLOG PAGE

नवोदय पूरी तैयारी के बाद, ये बातें रखें याद। भाग – 1


जवाहर नवोदय विद्यालय प्रवेश परीक्षा कक्षा छठवीं में प्रवेश परीक्षा के लिए तैयारी करने वाले छोटे-छोटे बच्चों का उम्र लगभग 11-12 वर्ष की होती है। इस छोटी सी उम्र में इन बच्चों से सभी माता-पिता, गुरु या उनके परिवार वाले उनसे परीक्षा में चयन के लिए 100% प्रश्न हल करने की दबाव बनाए रहते हैं। बच्चा पूरी तरह से तैयार होने के बावजूद जब उसका टेस्ट लिया जाता है तो वह इस दबाव के कारण घबराहट में बहुत सारे गलतियां कर बैठता है। जैसे समय प्रबंधन, ओवर स्पीड, एकाग्रता भंग, अति आत्मविश्वास, बैचैनी, डर, भूलभूलैया, अध्ययन चूक आदि। इन गलतियों के कारण उसके कुछ या बहुत कुछ प्रश्न गलत हो जाते हैं जो वह जानता था या हल कर सकता था।

आज इस पोस्ट के माध्यम से हम इन्हीं गलतियों के बारे में चर्चा करेंगे जिससे बच्चे को स्वयं मनन करने की अपेक्षा उनके माता-पिता, अभिभावक, गुरु या परिवार वाले बच्चों को एक-एक कर समझाएं ताकि बच्चा अधिक से अधिक प्रश्नों को हल कर सके। तथा उन प्रश्नों को हल कर सके जिनको वह पूरी तरह से जानता है ताकि जानते हुए कोई भी प्रश्न उससे गलती ना हो। प्राय देखा गया है कि बच्चा परीक्षा हल से निकलते ही कुछ प्रश्न गलती हो जाने पर यह कहता है कि इसको तो मैं जानता था गलती क्यों हो गया? तो चर्चा में उपर्युक्त एक-एक बिंदु पर कुछ बातें आपके सामने रखेंगे जिसको आपको आप परीक्षा लिए बचे हुए कुछ दिनों में बच्चों को समझाते हुए उसे परीक्षा के लिए पूरी तरह तैयार कर सकते हैं।

परीक्षा के दिन तक उसे इनमें से उसे किन-किन बातों का ध्यान रखना है इस बातों को बच्चे को समझाएं। अंतिम समय में तैयारी संबंधित कृषि प्रकार का दबाव बच्चों के दिमाग में ना हो और उसे जो तैयारी हुआ है उसको अच्छी तरह से भली भांति परीक्षा के दिन कैसे उपयोग करेगा इस पर हमें आप फोकस करने की जरूरत है तो चलिए हम प्रत्येक बिंदु पर विस्तार पूर्वक चर्चा करें कि बच्चा परीक्षा के दिन या उससे पहले किसी टेस्ट के समय किन-किन बातों का विशेष ध्यान रखें :

1. समय का प्रबंध :

इस परीक्षा में तीन खंडों पर प्रश्न पूछे जाते हैं जिसमें से प्रथम खंड मानसिक योग्यता के 40 प्रश्न दूसरे खंड में अंकगणित के 20 प्रश्न तथा तीसरे खंड भाषा परीक्षण के लिए चार अनुच्छेद दिए जाते हैं इन चार अनुच्छेदों में पांच-पांच करके कुल 20 प्रश्न पूछे जाते हैं। इन तीन खंडों में समय का प्रबंध कैसे किया जाए ताकि बच्चा सभी प्रश्नों को आसानी से हल कर सके इस पर चर्चा करते हैं :

खंड 1 मानसिक योग्यता परीक्षण :

इस खंड में मानसिक योग्यता संबंधी 10 अलग-अलग प्रकार असाब्दिक प्रश्न दिए जाते हैं। इस भाग के लिए नवोदय विद्यालय द्वारा 60 मिनट का समय माना गया है किंतु हमारे अनुसार यदि बच्चा इस भाग में 60 मिनट का समय लेता है, तो उसे आगे की दोनों खंडों के लिए समय कम पड़ जाते हैं और पूरे प्रश्न हल नहीं कर पाते। इस खंड के प्रश्नों को हल करने के लिए हमारे अनुसार 30 से 40 मिनट का समय पर्याप्त है यदि हम 30 से 40 मिनट के समय में इस खंड को हल कर लेते हैं, तो हमें आगे की दो खंडों को पूरा करने में अधिक समय मिलेगा और हम अंक गणित जैसे कठिन विषय के सभी प्रश्नों को बिना किसी दबाव के आसानी से हल कर सकते हैं तथा भाषा परीक्षण में दिए गए अनुच्छेदों को सावधानीपूर्वक पढ़कर अच्छे से समझ कर उसके नीचे दिए गए प्रश्नों के उत्तर निकाल सकते हैं।

खंड 2 अंक गणित परीक्षण :

इस खंड में कुल 20 प्रश्न पूछे जाते हैं सभी प्रश्न अंक गणित के अलग-अलग अध्यायों से लिए जाते हैं। वैसे तो गणित के प्रश्न के लिए 30 मिनट का समय निर्धारित है किंतु यदि हम खंड एक से बचे हुए समय का प्रयोग खंड दो अर्थात अंक गणित के खंड में करते हैं तो अंक गणित के प्रश्नों को हल करने के लिए हमें 50 से 60 मिनट का समय प्राप्त हो जाता है। इससे हम अंक गणित के कठिनतम प्रश्नों को भी, बिना किसी दबाव के हल कर पाते हैं। हमारे अधिकतम प्रश्न सही हो जाते हैं। अंक गणित के प्रश्न को पूरा करने के लिए हमारे अनुसार निर्धारित समय 50 से 60 मिनट है।

खंड 3 भाषा परीक्षण :

जैसे कि ऊपर बताया जा चुका है कि भाषा परीक्षण के लिए चार अपठित गद्यांश से संबंधित 20 प्रश्न पूछे जाते हैं। इन अपठित गद्यांशों को सावधानीपूर्वक पढ़कर उसके नीचे दिए गए प्रश्नों के उत्तर देने के लिए निर्धारित समय 30 मिनट है। यदि बच्चा इसे सावधानीपूर्वक पढ़कर तथा नीचे दिए गए प्रश्नों को समझ कर हल करें तो 30 मिनट के निर्धारित समय इसे हल करने के लिए पर्याप्त है। तो हमें प्रथम खंड एवं द्वितीय खंड में अचछे से समय का प्रबंध कर तीसरे खंड के लिए कम से कम 30 मिनट का समय बचाए रखने की आवश्यकता है।

2. भूल-भुलैया :

भूल-भुलैया का मतलब परीक्षा पेपर में कुछ ऐसे प्रश्न होते हैं जिसमें बच्चा अटक या लम्बे समय तक रुक जाता है तथा हल करने में अधिक समय लेता है। इस प्रकार के कई तरह के प्रश्न हमारे सामने आते हैं। जैसे बच्चों को लगता है कि यह प्रश्न मैं हर हाल में हल कर ही लूंगा। किंतु बार-बार हल करने पर भी कभी सही उत्तर नहीं निकाल पाता और वह फिर से उसी को हल करने में लगा रहता है। यह सोचकर कि यह प्रश्न हल हो ही जाएगा। और समय का ध्यान नहीं दे पाता। कुछ प्रश्न ऐसे होते हैं जिसका उत्तर वह निकाल लेता है किंतु वह उत्तर उसे सही नहीं लगता और फिर से बनता है इसी तरह वह लंबे समय तक एक ही प्रश्न में रुका रहता है इस कारण से उसका उपयुक्त समय प्रबंधन की कड़ी है टूट जाती है। इस तरह एक ही प्रश्न पर वह 10 से 15 मिनट का समय समाप्त कर देता है जिसके कारण उसके आगे आने वाले शेष प्रश्नों के लिए समय कम पड़ने लगता है। उसपर दबाव बढ़ने लगता है इस कारण से बहुत सारे सरल प्रश्न भी गलत होना शुरू हो जाता है और वह अंततः बहुत सारे ऐसे प्रश्नों को गलत कर जाता है जिसे वह समय होने पर आसानी से हल कर सकता था। तो ध्यान रखें और बच्चों को बताएं कि किसी एक प्रश्न पर यदि वह 2 से 3 मिनट तक रुकता है और उसके बाद भी हल नहीं कर पता तो उसे उस प्रश्न को उस समय छोड़कर आगे बढ़ बढ़ जाए और अंत में सभी प्रश्नों को हल करने के बाद समय बचाने पर ऐसे छोड़े हुए प्रश्नों को फिर से समय देकर हल करें ताकि वह सरल प्रश्नों को समय के दबाव के कारण किसी प्रकार का गलती ना करें।

3 . ओवर स्पीड :

जैसे कि ऊपर समय प्रबंधन के बारे में बताया गया है कि प्रत्येक खंडों को स्वयं के द्वारा निर्धारित निश्चित समय लेकर हल करें। प्रत्येक खंड के लिए वह जितना समय वह निर्धारित किया है उसके आधार पर हल करें या खुद उसमें कुछ मिनट का काम ज्यादा हेर फेर करके अपने योग्यता के अनुसार समय प्रबंधन जो किया हुआ है उस समय प्रबंधन के आधार पर यदि बच्चा हल करते हुए आगे बढ़ता है तो उसके परीक्षा के सभी प्रश्नों पर उसका पकड़ बना रहेगा और अधिक से अधिक प्रश्न सही होने की संभावना बढ़ेगी। जैसे कोई बच्चा सरल प्रश्नों को देखकर ज्यादा उत्साहित हो जाता है और किसी प्रश्न पर बहुत ही कम समय देकर अति उत्साह के कारण जल्दी बाजी करता है तो हम इसे “ओवर स्पीड” के नाम से जानते हैं और इसी जल्दी बाजी की कारण उसके सरलतम प्रश्न भी गलत हो जाते हैं।

कई बार देखा गया है कि परीक्षा के लिए निर्धारित 2 घंटे समय वाली इस पेपर को बहुत से बच्चे 1 घंटे 30 मिनट या इससे भी कम समय में पूरा कर देता है। इस ओवर स्पीड के कारण उसके बहुत सारे प्रश्न गलत हो जाते हैं और अंत में उसके समय भी बच जाते हैं। तो इस जल्दी बाजी या ओवर स्पीड जैसे बातों से बचने के लिए हमें सभी खंडों के लिए समय का प्रबंधन और सरलतम प्रश्नों में भी कुछ समय देकर उसे हल करने की जरूरत है ताकि जल्दी बाजी में किसी भी सरलतम प्रश्न भी गलत ना हो।

इस पोस्ट के भाग – 2 में और भी महत्वपूर्ण बतें जारी रहेगा…..

एकाग्रता भंग,
अति आत्मविश्वास,
बैचैनी,
घबराहट या डर,
अध्ययन चूक आदि।

Navodaya 2024 Question Paper class 6th New Pattern

Translate in English

नवोदय पेपर 2024 कैसा रहेगा : इस वर्ष बदले हुए नये परीक्षा पाठ्यक्रम के आधार पर 20 जनवरी 2024 को आयोजित होने वाली जवाहर नवोदय विद्यालय प्रवेश परीक्षा में किस प्रकार के प्रश्न पुछे जाने की सम्भावना है, इस लेख में पूरी जानकारी दी गई है।

नवोदय पेपर 2024-25 में आंशिक रूप से बदले हुए नये पाठ्यक्रम के आधार पर ली जाएगी। इस वर्ष जवाहर नवोदय विद्यालय प्रवेश परीक्षा कक्षा छठवीं का परीक्षा 20 जनवरी 2024 को आयोजित होने वाली है। परीक्षा में अंक गणित वाले भाग में पाठ्यक्रम पर कुछ आंशिक रूप से संशोधन किया गया है जिसमें कुछ नए पाठ्यक्रम जोड़े गए हैं तथा कुछ पाठ्यक्रम को हटाए गए हैं। इस आधार पर इस वर्ष के जवाहर नवोदय विद्यालय प्रवेश परीक्षा कक्षा छठवीं का नवोदय पेपर में परीक्षार्थियों को कुछ नये प्रश्नों के साथ तालमेल बिठाना होगा।

ये पाठ्यक्रम पर आधारित प्रश्नों में कोण एवं उनपर आधारित प्रश्न होंगे तथा चित्रालेख, ग्राफ, रेखाग्राफ, चार्ट आदि पर आधारित प्रश्न पूछे जाएंगे। चित्रालेख, ग्राफ, रेखाग्राफ, चार्ट वाले भाग जो कुछ वर्ष पहले पाठ्यक्रम में सम्मिलित था इस वर्ष फिर से सम्मिलित किया गया है। यहां हम बताने वाले हैं कि इस प्रवेश परीक्षा में किस प्रकार के प्रश्न पुछे जाने की सम्भावना है, इसके लिए हम नये परीक्षा पैटर्न का प्रश्न पुस्तिका इस लेख के साथ उपलब्ध करा रहे हैं। यह प्रश्न पुस्तिका जवाहर नवोदय विद्यालय समिति द्वारा आयोजित 4 नवंबर 2023 को “विंटर वेकेशन” वाले जवाहर नवोदय विद्यालयों में कक्षा छठवीं में प्रवेश लेने के लिए आयोजित की गई थी। इस प्रवेश परीक्षा की प्रतिलिपि संलग्न है।

4 नवंबर 2023 को संपन्न हुए जवाहर नवोदय विद्यालय प्रवेश परीक्षा कक्षा छठवीं के प्रश्न पेपर के भाग- दो, अंक गणित परीक्षण को देखें तो पिछले वर्षों की तुलना में कुछ महत्वपूर्ण अध्यायों के प्रश्न नहीं पूछे गए हैं जैसे कि प्रतिशतता, पर आधारित प्रश्न, चाल समय दूरी पर आधारित प्रश्न, साधारण ब्याज पर आधारित प्रश्न, जबकि कोण पर आधारित प्रश्न तथा चित्रालेख, ग्राफ, चार्ट पर आधारित प्रश्न फिर से पूछे गए हैं। इस आधार पर 20 जनवरी 2024 को आयोजित होने वाली जवाहर नवोदय विद्यालय चयन परीक्षा का नवोदय पेपर इसी पेपर के आधार पर पूछे जाने की पूरी संभावना बनती है।

इस पेपर को हम एक बार आवश्यक रूप से अपने बच्चों को दिखाएं और हल भी कराएं साथ ही इस पाठ्यक्रम के अनुसार कुछ अध्यायों के प्रश्न जो तैयारी करते समय छूट गए हों, उसे समय रहते ही पूरा कर लें। बच्चों को पूरी तरह से परीक्षा के लिए तैयार करें और सफलता प्राप्त करें।

नीचे इस परीक्षा प्रश्न पुस्तिका के सभी पृष्ठों के प्रति उपलब्ध कराई गई है साथ ही इसके पीडीएफ फाइल (4 NOVEMBER JNV PAPER 2023 PDF FILE) डाउनलोड करने की सुविधा दी गई है। पीडीएफ फाइल डाउनलोड (PDF FILE DOWNLOAD) करके इसका प्रिंट प्राप्त करें तथा अपने बच्चों को निर्धारित समय सीमा (2 घंटे) के आधार पर इसे हल करा कर अभ्यास कराएँ। इसके लिए आपको एक ओएमआर उत्तर पुस्तिका (JNV OMR ANSWER SHEET) की जरूरत पड़ेगी जिसे आप हमारे वेबसाइट से डाउनलोड कर सकते हैं। OMR SHEET की भी प्रिंट प्रति देकर बच्चों को भरने का अभ्यास कारावें ताकि परीक्षा हाल में बच्चा किसी प्रकार की कोई गलती ना करें। उसे परीक्षा के लिए पूरी तरह से तैयार करें।

Jawahar Navodaya Vidyalaya Selection Test 2024, Passage Test Part- 06

चे भाषा परीक्षण के लिए एक अनुच्छेद दिया गया है ऐसे अनुच्छेद जवाहर नवोदय विद्यालय प्रवेश परीक्षा में पूछे जाते हैं, जवाहर नवोदय विद्यालय कक्षा छठवीं की परीक्षा अब कुछ ही दिन शेष रह गया है। अब यदि कोई विद्यार्थी इस अनुच्छेद के नीचे दी गई सभी 5 प्रश्नों का सही उत्तर बना लेता है तो उसकी भाषा क्षमता परीक्षण की तैयारी अच्छी मानी जाएगी।

चयन परीक्ष के इस भाग का विशेष महत्व होता है। क्योंकि इस भाग से परीक्षा का एक चौथाई अंक अर्थात 25 प्रतिशत अंक निर्धारित होता है। जिसके लिए गद्यांशों पर आधारित 20 प्रश्नों के लिए 4 अनुच्छेद दिए जाते हैं। जिसमें समझ, चेतना, विचार, व्याकरण आदि पर आधारित प्रश्न पूछे जाते हैं। यहाँ ऐसे ही एक अनुच्छेद दिया जा रहा है। आशा है बच्चों की तैयारी में मदद मिल सके।

आप इस अनुच्छेद को ध्यानपूर्वक पढ़कर नीचे दिए गए सभी प्रश्नों का सही-सही उत्तर देने का प्रयास करें यदि आप सफल हो जाते हैं तो निश्चित ही आपकी तैयारी बहुत ही अच्छी है आप ऐसे ही प्रयास करने के लिए हमारे इस वेबसाइट पर और भी अधिक मटेरियल प्राप्त कर सकते हैं।

यादि आप इस सीरीज के पिछले “भाग एक” तथा “भाग 2” के प्रश्न का भी प्रैक्टिस करना चाहते हैं, तो यहाँ क्लिक करें.

गद्यांश- 06

समय हमें अपने कार्यों को योजनाबद्ध और अनुकूलित करने में मदद करती हैं। समय को मापने के विभिन्न विधियाँ विकसित की गई। इसकी सबसे प्राचीन विधि सूर्य घड़ी थी, जिसमें सूर्य की किरणों की छाया को एक शंकु पर पड़ने वाले अंकों से समय का अनुमान लगाया जाता था। यह विधि प्राचीन मिस्र, बाबिलोन, चीन और भारत में प्रचलित था। रेत घड़ी भी प्राचीन विधि है, जिनमें एक बर्तन से दूसरे बर्तन में रेत के बहने से समय का अनुमान लगाया जाता था। इस विधि का उपयोग यूनान, रोम, अरब और भारत में प्रचलित था। लोलक घड़ी या घूमने वाली घड़ी एक नवीन विधि थी, जिसमें एक लोलक को एक धागे से लटकाकर उसके दोलनों को गिनकर समय का पता लगाया जाता था। इस विधि का उपयोग मध्यकालीन यूरोप में किया जाता था। वर्तमान घड़ी का आविष्कार एक क्रांतिकारी विधि थी। जैसे पेंडुलम घड़ी, हाथ घड़ी, दीवार घड़ी, टेबल घड़ी, डिजिटल घड़ी, इलेक्ट्रॉनिक घड़ी आदि।

  1. समय को मापने की सबसे प्राचीन विधि ………. थी।
    (A) रेत घड़ी
    (B) लोलक घड़ी
    (C) सूर्य घड़ी
    (D) पेंडुलम घड़ी
  2. सूर्य घड़ी एवं रेत घड़ी का प्रचलन ……….. देश में था।
    (A) मिस्र
    (B) यूनान
    (C) नेपाल
    (D) भारत
  3. अनुच्छेद में दिए गए शब्दों में से कौन सा शब्द एक क्रिया है?
    (A) योजनाबद्ध
    (B) अनुकूलित
    (C) मापने
    (D) करती
  4. अनुच्छेद अनुसार ………. शब्द एक विशेषण है।
    (A) समय
    (B) प्राचीन
    (C) घड़ी
    (D) अंकों
  5. अनुच्छेद में दिए गए शब्दों में से ………. शब्द एक सर्वनाम है।
    (A) इसकी
    (B) जिसमें
    (C) जाता
    (D) था

Passage – 06

Time helps us plan and optimize our actions. Various methods of measuring time were developed. Its oldest method was the sun clock, in which the time was estimated from the marks cast by the shadow of the sun’s rays on a cone. This method was prevalent in ancient Egypt, Babylon, China and India. Sand clock is also an ancient method, in which time was estimated by the flow of sand from one vessel to another. The use of this method was prevalent in Greece, Rome, Arabia and India. The pendulum clock or rotating clock was an innovative method in which time was measured by hanging a pendulum from a thread and counting its oscillations. This method was used in medieval Europe. The invention of the present clock was a revolutionary method. Such as pendulum clock, hand clock, wall clock, table clock, digital clock, electronic clock etc.

  1. The oldest method of measuring time………. was.
    (A) sand clock
    (B) Pendulum clock
    (C) Sun clock
    (D) Pendulum clock
  2. Sun clock and sand clock were prevalent in ……….. country.
    (A) Egypt
    (B) Greece
    (C) Nepal
    (D) India
  3. Which word given in the paragraph is a verb?
    (A) plan
    (B) optimize
    (C) measuring
    (D) does
  4. According to the article………. The word is an adjective.
    (A) time
    (B) old
    (C) watch
    (D) digits
  5. Of the words given in the paragraph………. The word is a pronoun.
    (A) its
    (B) in which
    (C) goes
    (D) was

ANSWER :
(1) c
(2) d
(3) c
(4) b
(5) a

JNVST: जवाहर नवोदय विद्यालय भाषा परीक्षण 2024 भाग – 05

चे भाषा परीक्षण के लिए एक अनुच्छेद दिया गया है ऐसे अनुच्छेद जवाहर नवोदय विद्यालय प्रवेश परीक्षा में पूछे जाते हैं, जवाहर नवोदय विद्यालय कक्षा छठवीं की परीक्षा अब कुछ ही दिन शेष रह गया है। अब यदि कोई विद्यार्थी इस अनुच्छेद के नीचे दी गई सभी 5 प्रश्नों का सही उत्तर बना लेता है तो उसकी भाषा क्षमता परीक्षण की तैयारी अच्छी मानी जाएगी।
चयन परीक्ष के इस भाग का विशेष महत्व होता है। क्योंकि इस भाग से परीक्षा का एक चौथाई अंक अर्थात 25 प्रतिशत अंक निर्धारित होता है। जिसके लिए गद्यांशों पर आधारित 20 प्रश्नों के लिए 4 अनुच्छेद दिए जाते हैं। जिसमें समझ, चेतना, विचार, व्याकरण आदि पर आधारित प्रश्न पूछे जाते हैं। यहाँ ऐसे ही एक अनुच्छेद दिया जा रहा है। आशा है बच्चों की तैयारी में मदद मिल सके।
आप इस अनुच्छेद को ध्यानपूर्वक पढ़कर नीचे दिए गए सभी प्रश्नों का सही-सही उत्तर देने का प्रयास करें यदि आप सफल हो जाते हैं तो निश्चित ही आपकी तैयारी बहुत ही अच्छी है आप ऐसे ही प्रयास करने के लिए हमारे इस वेबसाइट पर और भी अधिक मटेरियल प्राप्त कर सकते हैं।

यादि आप इस सीरीज के पिछले “भाग एक” तथा “भाग 2” के प्रश्न का भी प्रैक्टिस करना चाहते हैं, तो यहाँ क्लिक करें.

गद्यांश- 05

ऋषि चरक आयुर्वेद के प्रसिद्ध आचार्य थे। वे कुषाण राज्य के राजवैद्य भी थे। उन्होंने आयुर्वेद के मूल ग्रन्थों को संकलित और संशोधित किया। उनका रचित चरक संहिता आज भी आयुर्वेद का मानक ग्रन्थ माना जाता है। इस ग्रंथ में रोगों के कारण, लक्षण, निदान और चिकित्सा का विस्तृत वर्णन है। इसमें रोगनाशक और रोगनिरोधक दवाओं के साथ-साथ सोना, चाँदी, लोहा, पारा धातुओं के भस्म और उनके उपयोग का भी जिक्र है। इसमें भोजन, स्वच्छता, रोगों से बचने के उपाय, चिकित्सा-शिक्षा, वैद्य, धाय और रोगी के विषय में भी विशद चर्चा की गयी है। चरक ने आयुर्वेद को मुक्तिदाता और आरोग्यता को महान सुख की संज्ञा दी है। उन्हें आयुर्वेद के पिता और भारतीय चिकित्सा के महान आचार्य के रूप में याद किया जाता है।

  • ऋषि चरक कुषाण राज्य के ………. थे।
    (A) आचार्य
    (B) आयुर्वेद
    (C) ऋषि
    (D) राजवैद्य
  • अनुच्छेद में ……….. धातु के भस्म का जिक्र नहीं है।
    (A) सोना
    (B) तांबा
    (C) चाँदी
    (D) लोहा
  • चरक ने आयुर्वेद को ………. शब्द से संबोधित किया है।
    (A) मुक्तिदाता
    (B) जीवनदाता
    (C) शान्तिदाता
    (D) आनंददाता
  • चरक ने आरोग्यता को ………. की संज्ञा दी है।
    (A) महान सुख
    (B) महान शक्ति
    (C) महान धन
    (D) महान गौरव
  • अनुच्छेद में दिए गए शब्दों में से कौन सा शब्द विशेषण है?
    (A) ऋषि
    (B) प्रसिद्ध
    (C) आयुर्वेद
    (D) आचार्य

Passage – 05

Rishi Charak was a famous acharya of Ayurveda. He was also the royal physician of the Kushan kingdom. He compiled and revised the original texts of Ayurveda. Charak Samhita written by him is still considered the standard text of Ayurveda. This book contains a detailed description of the causes, symptoms, diagnosis and treatment of diseases. It also mentions curative and prophylactic medicines as well as the ashes of gold, silver, iron and mercury metals and their uses. In this, there has been a detailed discussion about food, cleanliness, ways to prevent diseases, medical education, doctors, nurses and patients. Charak has described Ayurveda as a liberator and health as a great happiness. He is remembered as the father of Ayurveda and a great master of Indian medicine.

Sage Charak was………… of Kushan kingdom.
(A) Acharya
(B) Ayurveda
(C) Rishi
(D) Rajvaidya

There is no mention of ashes of which metal in the paragraph.
(A) gold
(B) Copper
(C) Silver
(D) Iron

Charak has addressed Ayurveda with the word………….
(A) Liberator
(B) Life giver
(C) Peace giver
(D) giver of pleasure

Charak has termed health as………….
(A) great happiness
(B) great power
(C) great wealth
(D) great pride

Which of the words given in the paragraph is an adjective?
(A) Rishi
(B) Famous
(C) Ayurveda
(D) Acharya

ANSWER :
(1) D
(2) c
(3) a
(4) A
(5) B

JNVST: जवाहर नवोदय विद्यालय भाषा परीक्षण 2024 भाग – 04

नीचे भाषा परीक्षण के लिए एक अनुच्छेद दिया गया है ऐसे अनुच्छेद जवाहर नवोदय विद्यालय प्रवेश परीक्षा में पूछे जाते हैं, जवाहर नवोदय विद्यालय कक्षा छठवीं की परीक्षा अब कुछ ही दिन शेष रह गया है। अब यदि कोई विद्यार्थी इस अनुच्छेद के नीचे दी गई सभी 5 प्रश्नों का सही उत्तर बना लेता है तो उसकी भाषा क्षमता परीक्षण की तैयारी अच्छी मानी जाएगी।
चयन परीक्ष के इस भाग का विशेष महत्व होता है। क्योंकि इस भाग से परीक्षा का एक चौथाई अंक अर्थात 25 प्रतिशत अंक निर्धारित होता है। जिसके लिए गद्यांशों पर आधारित 20 प्रश्नों के लिए 4 अनुच्छेद दिए जाते हैं। जिसमें समझ, चेतना, विचार, व्याकरण आदि पर आधारित प्रश्न पूछे जाते हैं। यहाँ ऐसे ही एक अनुच्छेद दिया जा रहा है। आशा है बच्चों की तैयारी में मदद मिल सके।
आप इस अनुच्छेद को ध्यानपूर्वक पढ़कर नीचे दिए गए सभी प्रश्नों का सही-सही उत्तर देने का प्रयास करें यदि आप सफल हो जाते हैं तो निश्चित ही आपकी तैयारी बहुत ही अच्छी है आप ऐसे ही प्रयास करने के लिए हमारे इस वेबसाइट पर और भी अधिक मटेरियल प्राप्त कर सकते हैं।

यादि आप इस सीरीज के पिछले “भाग एक” तथा “भाग 2” के प्रश्न का भी प्रैक्टिस करना चाहते हैं, तो यहाँ क्लिक करें.

गद्यांश- 04

वस्तुओं को उनके उपयोग के आधार पर दो प्रकार से विभाजित किया जा सकता है। पूरक वस्तु और स्थानापन्न वस्तु। पूरक वस्तु वे होती हैं जिनका उपयोग किसी अन्य वस्तु के साथ मिलकर किया जाता है। उदाहरण के लिए, चाय और चीनी, पेन और स्याही, जूते और जुराबें आदि। इनमें से किसी एक वस्तु की कीमत में बदलाव होने पर दूसरी वस्तु की मांग पर भी प्रभाव पड़ता है। यदि चाय की कीमत बढ़ जाए तो लोग कम चाय पीएंगे और इससे चीनी की मांग भी कम हो जाएगी। स्थानापन्न वस्तु वे होती हैं जिनका उपयोग किसी अन्य वस्तु के बदले में किया जाता है। उदाहरण के लिए, चावल और गेहूं, बटर और जाम, कोला और जूस आदि। इनमें से किसी एक वस्तु की कीमत में बदलाव होने पर दूसरी वस्तु की मांग पर भी प्रभाव पड़ता है। यदि चावल की कीमत बढ़ जाए तो लोग ज्यादा गेहूं खाएंगे और इससे चावल की मांग कम हो जाएगी।

  1. पूरक वस्तु का अर्थ है:
    (A) जिनका उपयोग किसी अन्य वस्तु के साथ मिलकर किया जाता है
    (B) जिनका उपयोग किसी अन्य वस्तु के बदले में किया जाता है
    (C) जिनका उपयोग किसी अन्य वस्तु को पूरा करने के लिए किया जाता है
    (D) जिनका उपयोग किसी अन्य वस्तु को बेकार करने के लिए किया जाता है
  2. स्थानापन्न वस्तु का उदाहरण ………. है।
    (A) पेन और स्याही
    (B) जूते और जुराबें
    (C) चावल और गेहूं
    (D) चाय और चीनी
  3. चाय और चीनी ………. का उदाहरण है।
    (A) पूरक वस्तु
    (B) स्थानापन्न वस्तु
    (C) न तो पूरक न ही स्थानापन्न वस्तु
    (D) दोनों पूरक और स्थानापन्न वस्तु
  4. पूरक वस्तुओं में किसी एक वस्तु की कीमत में वृद्धि होने पर दूसरी वस्तु की मांग ………. ।
    (A) घट जाएगी
    (B) बढ़ जाएगी
    (C) बदलाव नहीं होगा
    (D) अनिश्चित
  5. वस्तु की उपयोगिता का अर्थ है ……….।
    (A) वस्तु की आवश्यकता
    (B) वस्तु की गुणवत्ता
    (C) वस्तु की उपलब्धता
    (D) वस्तु की विशेषता

Passage – 04

Items can be divided into two types based on their use. Complementary object and substitute object. Complementary items are those that are used in conjunction with another item. For example, tea and sugar, pens and ink, shoes and socks, etc. A change in the price of one of these goods also affects the demand for the other. If the price of tea increases, people will drink less tea and this will also reduce the demand for sugar. Substituted goods are those which are used in place of any other goods. For example, rice and wheat, butter and jam, cola and juice, etc. A change in the price of one of these goods also affects the demand for the other. If the price of rice increases, people will eat more wheat and this will reduce the demand for rice.

Complementary object means:
(a) Which are used in conjunction with any other article
(b) which are used in lieu of any other article
(c) which are used to complete any other article
(d) which are used to render any other article useless

An example of a substitution object is……….
(A) Pen and ink
(B) Shoes and socks
(C) Rice and wheat
(D) Tea and sugar

Tea and sugar are examples of.
(A) Complementary Object
(B) Substitute Object
(C) Neither Complementary nor Substitute Object
(D) Both Complementary and Substitute Object

In supplementary commodities, when the price of one commodity increases, the demand for another commodity …………….
(A) will decrease
(B) will increase
(C) will not change
(D) uncertain

Utility of the object means……..
(A) Need of the commodity
(B) Quality of the commodity
(C) Availability of the commodity
(D) Characteristics of the commodity.

ANSWER :
(1) a
(2) c
(3) a
(4) b
(5) a

JNVST- जवाहर नवोदय विद्यालय भाषा परीक्षण 2024 भाग – 03

जवाहर नवोदय विद्यालय प्रवेश परीक्षा में गद्यांश पर आधारित भाषा क्षमता परीक्षण की तैयारी का विशेष महत्व होता है।

नीचे भाषा परीक्षण के लिए एक अनुच्छेद दिया गया है ऐसे अनुच्छेद जवाहर नवोदय विद्यालय प्रवेश परीक्षा में पूछे जाते हैं, जवाहर नवोदय विद्यालय कक्षा छठवीं की परीक्षा अब कुछ ही दिन शेष रह गया है। अब यदि कोई विद्यार्थी इस अनुच्छेद के नीचे दी गई सभी 5 प्रश्नों का सही उत्तर बना लेता है तो उसकी भाषा क्षमता परीक्षण की तैयारी अच्छी मानी जाएगी।
चयन परीक्ष के इस भाग का विशेष महत्व होता है। क्योंकि इस भाग से परीक्षा का एक चौथाई अंक अर्थात 25 प्रतिशत अंक निर्धारित होता है। जिसके लिए गद्यांशों पर आधारित 20 प्रश्नों के लिए 4 अनुच्छेद दिए जाते हैं। जिसमें समझ, चेतना, विचार, व्याकरण आदि पर आधारित प्रश्न पूछे जाते हैं। यहाँ ऐसे ही एक अनुच्छेद दिया जा रहा है। आशा है बच्चों की तैयारी में मदद मिल सके।
आप इस अनुच्छेद को ध्यानपूर्वक पढ़कर नीचे दिए गए सभी प्रश्नों का सही-सही उत्तर देने का प्रयास करें यदि आप सफल हो जाते हैं तो निश्चित ही आपकी तैयारी बहुत ही अच्छी है आप ऐसे ही प्रयास करने के लिए हमारे इस वेबसाइट पर और भी अधिक मटेरियल प्राप्त कर सकते हैं।

यादि आप इस सीरीज के पिछले “भाग एक” तथा “भाग 2” के प्रश्न का भी प्रैक्टिस करना चाहते हैं, तो यहाँ क्लिक करें.

गद्यांश- 03

प्राचीन काल में पाल नौकाएँ समुद्र के पार परिवहन और व्यापार का मुख्य साधन थीं। पाल वाली नावें अपने पालों को हिलाने और उन्हें आगे बढ़ाने के लिए हवा की शक्ति पर निर्भर रहती थीं। व्यापारिक हवाएँ सतत चलने वाली हवाएँ हैं, जो भूमध्य रेखा के निकट पूर्व से पश्चिम की ओर चलती हैं। वे पाल नौकाओं के लिए बहुत उपयोगी थे क्योंकि वे हवा का एक सतत और विश्वसनीय स्रोत प्रदान करते थे। नाविकों ने लंबी दूरी की यात्रा करने और विभिन्न महाद्वीपों तक पहुँचने के लिए व्यापारिक हवाओं का उपयोग करना सीखा। उदाहरण के लिए, व्यापारिक हवाओं ने यूरोपीय खोजकर्ताओं को अमेरिका तक पहुँचने में और एशियाई व्यापारियों को अफ्रीका तक पहुँचने में मदद की। व्यापारिक हवाओं ने उनसे जुड़े क्षेत्रों की जलवायु, संस्कृति और अर्थव्यवस्था को भी प्रभावित किया। प्राचीन काल में समुद्री वाणिज्य और अन्वेषण के विकास के लिए पाल नौकाएँ और व्यापारिक हवाएँ आवश्यक थीं।

  1. प्राचीन काल में समुद्र पार परिवहन और व्यापार के मुख्य साधन ………. थे।
    (A) नावें चलाना
    (B) पानी जहाज
    (C) हवाई जहाज
    (D) सड़क परिवहन
  2. भूमध्य रेखा के निकट पूर्व से पश्चिम की ओर हमेशा चलने वाली पवनें ………. कहलाती हैं।
    (A) पछुआ हवाएँ
    (B) व्यापारिक हवाएँ
    (C) पूर्वी हवाएँ
    (D) मध्य हवाएँ
  3. पाल नावों को आगे बढ़ाने के लिए ………. की शक्ति पर निर्भर थीं।
    (A) पतवार
    (B) इंजन
    (C) मोटर
    (D) हवा
  4. व्यापारिक हवाओं ने यूरोपीय खोजकर्ताओं को ………. महाद्वीप तक पहुँचने में मदद की?
    (A) एशिया
    (B) यूरोप
    (C) अमेरिका
    (D) अफ्रीका
  5. अनुच्छेद में “पहुंचने” क्रिया का काल ………. है।
    (A) वर्तमान काल
    (B) भविष्य काल
    (C) भूतकाल
    (D) कोई नहीं

Passage – 03

In ancient times, sailboats were the main means of transport and trade across the seas. Sailboats relied on the power of the wind to move their sails and propel them. Trade winds are sustained winds that blow from east to west near the equator. They were very useful for sailboats because they provided a continuous and reliable source of wind. Sailors learned to use the trade winds to travel long distances and reach different continents. For example, trade winds helped European explorers reach the Americas and Asian traders reach Africa. Trade winds also affected the climate, culture, and economy of the regions associated with them. In ancient times, sailing ships and trade winds were essential for the development of maritime commerce and exploration.

  • In ancient times the main means of transport and trade across the sea was …………….
    (A) Boats
    (B) Ships
    (C) Aircraft
    (D) Road Transport
  • The winds that always blow from east to west near the equator are called………..…..
    (A) The westerly winds
    (B) The trade winds
    (C) The easterly winds
    (D) The middle winds
  • The sails depended on the power of……….…. to propel the boats.
    (a) Rudder
    (b) engine
    (c) motor
    (d) air
  • The trade winds helped European explorers reach the continent……………?
    (a) Asia
    (b) Europe
    (c) America
    (d) Africa
  • The Tense of “helped” in the article is…….
    (A) The present
    (B) The future
    (C) The past
    (D) None

ANSWER :
(1) a
(2) b
(3) d
(4) C
(5) c

जवाहर नवोदय विद्यालय भाषा परीक्षण 2024 भाग – 02

जवाहर नवोदय विद्यालय प्रवेश परीक्षा में गद्यांश पर आधारित भाषा क्षमता परीक्षण की तैयारी का विशेष महत्व होता है। क्योंकि इस भाग से परीक्षा का एक चौथाई अंक निर्धारित होता है। गद्यांश पर आधारित 20 प्रश्नों के लिए 4 अनुच्छेद दिए जाते हैं। जिसमें समझ, चेतना, विचार, व्याकरण आदि पर आधारित प्रश्न पूछे जाते हैं। यहाँ ऐसे ही एक अनुच्छेद दिया जा रहा है। आशा है बच्चों की तैयारी में मदद मिल सके।

गद्यांश- 02

डॉ. बिमला चालीहा एक प्रसिद्ध हिंदी लेखिका और समाजसेवी थीं। उनका जन्म 26 जनवरी 1926 को असम के जोरहाट जिले में हुआ था। उनके पिता श्री रामचन्द्र चालीहा एक वकील और राजनीतिज्ञ थे, जो बाद में असम के मुख्यमंत्री भी बने। उनकी माता श्रीमती निर्मला चालीहा एक शिक्षिका और स्वतंत्रता सेनानी थीं। डॉ. बिमला चालीहा ने अपने विद्यार्थी जीवन में ही राष्ट्रीय आंदोलन में भाग लिया और अनेक बार जेल भी गईं। उनकी पहली कहानी ‘अभिशाप’ 1948 में प्रकाशित हुई। उनकी रचनाओं में नारी जीवन की चुनौतियों, समाज की कुरीतियों, राष्ट्रभावना का दर्शन होता है। उन्हें अनेक पुरस्कार और सम्मान प्राप्त हुए, जिनमें साहित्य अकादमी पुरस्कार, असम साहित्य सभा पुरस्कार, असम रत्न आदि शामिल हैं। उनका निधन 26 जुलाई 2011 को गुवाहाटी में हुआ।

  1. निर्मला चालीहा एक ………. थीं।
    (A) वकील
    (B) शिक्षिका
    (C) लेखिका
    (D) चिकित्सक
  2. श्री रामचन्द्र चालीहा ……….. के मुख्यमंत्री बने।
    (A) भारत
    (B) केरल
    (C) असम
    (D) नेपाल
  3. देश के लिए …………. को जेल जाना पड़ा।
    (A) श्रीमती निर्मला चालीहा
    (B) श्री रामचंद्र चालीहा
    (C) डॉ. बिमला चालीहा
    (D) उक्त सभी
  4. ………. “अभिशाप” का पर्यायवाची नहीं है।
    (A) बद्दुआ
    (B) श्राप
    (C) दुआ
    (D) शाप
  5. “उन्हें अनेक पुरस्कार प्राप्त हुए।” इस वाक्य में विशेषण है :
    (A) अनेक
    (B) पुरस्कार
    (C) प्राप्त
    (D) हुए

Passage – 02

Dr. Bimala Chaliha was a famous Hindi writer and social worker. She was born on 26 January 1926 in Jorhat district of Assam. Her father, Shri Ramchandra Chaliha, was a lawyer and politician who later became the Chief Minister of Assam. Her mother Smt. Nirmala Chaliha was a teacher and freedom fighter. Dr. Bimala Chaliha participated in the national movement during her student life and went to jail several times. Her first story ‘Shapash’ was published in 1948. Her works reflect the challenges of women’s life, the ills of society, the spirit of nation. She has received several awards and honours including Sahitya Akademi Award, Assam Sahitya Sabha Award, Assam Ratna etc. She died on 26 July 2011 in Guwahati.

  1. Nirmala Chaliha was ……….
    (a) A Lawyer
    (b) A Teacher
    (c) A Writer
    (d) A Doctor
  2. Sri Ramachandra Chaliha became the Chief Minister of …………
    (A) India
    (B) Kerala
    (C) Assam
    (D) Nepal
  3. ……………. had to go to jail for the country.
    (A) Smt. Nirmala Chaliha
    (B) Shri Ramchandra Chaliha
    (C) Dr. Bimala Chaliha
    (D) All the above
  4. There is NO a synonym for “curse.”
    (A) Obscenity
    (B) Profanity
    (C) Praise
    (D) Cussing
  5. “She has received many awards.” Adjective in this sentence is:
    (A) Many
    (B) Awards
    (C) Received
    (D) Has

ANSWER :
(1) B
(2) C
(3) C
(4) C
(5) A

यादि आप इस सीरीज के पिछले “भाग एक” तथा “भाग तीन” के प्रश्न का भी प्रैक्टिस करना चाहते हैं, तो यहाँ क्लिक करें.

जवाहर नवोदय विद्यालय भाषा परीक्षण 2024 भाग – 01

जवाहर नवोदय विद्यालय प्रवेश परीक्षा में गद्यांश पर आधारित भाषा क्षमता परीक्षण की तैयारी का विशेष महत्व होता है। क्योंकि इस भाग से परीक्षा का एक चौथाई अंक निर्धारित होता है। गद्यांश पर आधारित 20 प्रश्नों के लिए 4 अनुच्छेद दिए जाते हैं। जिसमें समझ, चेतना, विचार, व्याकरण आदि पर आधारित प्रश्न पूछे जाते हैं। यहाँ ऐसे ही एक अनुच्छेद दिया जा रहा है। आशा है बच्चों की तैयारी में मदद मिल सके।

यादि आप इस सीरीज के “भाग दो” तथा “भाग तीन” के प्रश्न का भी प्रैक्टिस करना चाहते हैं, तो यहाँ क्लिक करें.

गद्यांश- 01

भारतीय युद्धपोत अरिहन्त भारत का पहला परमाणु पनडुब्बी है, इसका नाम संस्कृत का शब्द है, जिसका अर्थ “विजयी” या “जीतने वाला” होता है। इसकी लंबाई और चौड़ाई क्रमशः 112 मीटर और 15 मीटर है। इसमें 95 नौसैनिक और 10 वैज्ञानिक कर्मचारी कार्यरत हैं। इसका उद्देश्य देश की रक्षा को मजबूत करना है। इस पनडुब्बी के मिसाइलें पानी के नीचे से ही लॉन्च की जा सकती हैं। इन मिसाइलों की रेंज 750 किलोमीटर से 3,500 किलोमीटर तक है। इसमें अनेक प्रकार के सेंसर, रडार, सोनार और नेविगेशन सिस्टम लगे हुए हैं, जो इसे शत्रु के पनडुब्बियों और जहाजों को पहचानने और निशाना लगाने में मदद करते हैं। अरिहन्त का निर्माण भारत के लिए एक गौरव की बात है, क्योंकि दुनिया में इससे पहले, सिर्फ अमेरिका, रूस, चीन और फ्रांस ने परमाणु पनडुब्बी बनाया है।

  1. भारतीय युद्धपोत का नाम ………. है।
    (A) पनडुबी
    (B) परमाणु
    (C) अरिहन्त
    (D) संस्कृत
  2. युद्ध पोत की चौड़ाई ………. है।
    (A) 112 मीटर
    (B) 15 मीटर
    (C) 112 मीटर और 15 मीटर
    (D) 95 मीटर
  3. भारत दुनिया का ………. देश है जिसने परमाणु पनडुबी का निर्माण किया।
    (A) पहला
    (B) दूसरा
    (C) चौथा
    (D) पांचवाँ
  4. अरिहन्त का अर्थ ………. है।
    (A) जीने वाला
    (B) जीतने वाला
    (C) जीवन दाता
    (D) उक्त सभी
  5. “देश की रक्षा को मजबूत करना है।” इस वाक्य में विशेषण है :
    (A) देश
    (B) रक्षा
    (C) मजबूत
    (D) करना

The Indian warship Arihant is India’s first nuclear submarine, its name is a Sanskrit word, which means “victorious” or “conqueror.” Its length and width are 112 meters and 15 meters respectively. The ship has a crew of 95 sailors and 10 scientists. Its purpose is to strengthen the defense of the country. These missiles can be launched from underwater. The range of these missiles ranges from 750 km to 3,500 km. It is equipped with a variety of sensors, radars, sonars and navigation systems that help it identify and target enemy submarines and ships. The construction of Arihant is a matter of pride for India as only the US, Russia, China and France have built nuclear submarines before this in the world.

  1. The name of the Indian warship is…
    (A) Submarine
    (B) Atom
    (C) Arihant
    (D) Sanskrit
  2. The width of the warship is…………
    (A) 112 m
    (B) 15 m
    (C) 112 m and 15 m
    (D) 95 m
  3. India is the first country in the world to build a nuclear submarine.
    (A) 1st
    (B) 2nd
    (C) 4th
    (D) 5th
  4. The meaning of Arihant is……
    (A) living
    (B) the winner
    (C) life giver
    (D) All of the said
  5. “The country’s security needs to be strengthened.” The adjective in this sentence is:
    (A) country
    (B) defence
    (C) strengthened
    (D) to do

ANSWERS ARE :

(1) C
(2) B
(3) D
(4) B
(5) C

नवोदय प्रवेश परीक्षा कक्षा 6 2024 के लिए प्रभावी समय प्रबंधन : परीक्षा के दौरान समय का प्रबंधन कैसे करें?

Read In English – Here

परीक्षा विभिन्न कारणों से भय का स्रोत हो सकती है, लेकिन सबसे कठिन पहलू आवंटित समय सीमा के भीतर परीक्षा समाप्त करने में असफल होना है। यह समय की कमी के कारण प्रत्येक प्रश्न का उत्तर देने में असमर्थ होने, आपके द्वारा भी उत्तर दिए गए प्रश्न की गलत व्याख्या करने, या आपके द्वारा अपना अंतिम प्रश्न पूरा करने से पहले ही निरीक्षक द्वारा आपकी परीक्षा पत्रक ले लिए जाने के कारण हो सकता है। ये सभी बातें हमारी परीक्षा के दौरान अप्रभावी समय प्रबंधन एक अहम मुद्दा है। इसलिए, छात्रों के लिए कुशल समय प्रबंधन का कौशल हासिल करना आवश्यक है।

एक शोध के अनुसार, लगभग 88% छात्रों को परीक्षा देते वक्त, समय प्रबंधन के साथ कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है, 58% ने स्वीकार किया कि वे परीक्षा के लिए आवंटित समय सीमा के भीतर पूरा नहीं कर पाए। भले ही आपने अध्ययन के लिए काफी प्रयास किया हो, परीक्षा के दौरान अपर्याप्त समय प्रबंधन आपको वांछित परिणाम प्राप्त करने से रोक सकता है। परीक्षा के दौरान अपने समय को अधिक कुशलता से प्रबंधित करने में आपकी सहायता करने के लिए, आपकी परीक्षा से पहले और उसके दौरान ध्यान देने वाली यहां कुछ महत्वपूर्ण समय प्रबंधन की युक्तियां दी गई हैं।

प्रभावी समय प्रबंधन युक्तियाँ – परीक्षा से पहले :

1. अध्ययन कार्यक्रम तैयार करें :

परीक्षा के अंतिम क्षणों की समस्याओं से बचने के लिए, एक कुशल अध्ययन कार्यक्रम बनाना और उसका पालन करना महत्वपूर्ण है। प्रभावी समय प्रबंधन तकनीकों में प्रत्येक घंटे का अध्ययन कार्यक्रम तैयार करना शामिल है जो विषय अनुसार किया जाता है, चुनौतीपूर्ण विषयों के लिए अधिक समय देना, सुधार के लिए पर्याप्त समय आरक्षित करना (बचा कर रखना) और समय पर खाने, स्नान करने और सोने जैसी आवश्यक गतिविधियों को प्राथमिकता देना शामिल है। ध्यान रखें कि एक सीधा और आसानी से पालन हो सकने वाला अध्ययन कार्यक्रम तैयार करना आवश्यक है।

2. अपने परीक्षा दृष्टिकोण की योजना बनाएं :

मॉक टेस्ट पेपर हल करके और वास्तविक परीक्षा से निपटने के लिए रणनीति बनाकर अपनी परीक्षा की तैयारी करें। परीक्षा प्रारूप, प्रश्न पैटर्न और अंकन योजना से परिचित हों, और इस ज्ञान का उपयोग अपने समय का प्रबंधन करने और परीक्षा के दौरान भ्रम या गलत व्याख्या से बचने के लिए एक प्रभावी दृष्टिकोण की योजना बनाने के लिए करें। ऐसा करके, आप अपने प्रदर्शन को अनुकूलित कर सकते हैं और बेहतर परिणाम प्राप्त कर सकते हैं।

FREE NAVODAYA MOCK TEST

3. अधिक से अधिक अभ्यास करें :

परीक्षा के लिए समय प्रबंधन कौशल हासिल करने के लिए, सबसे प्रभावी तरीका निरंतर अभ्यास के माध्यम से होता है। इसमें माडल प्रश्न पेपर के माध्यम से परीक्षा स्थितियों के तहत व्यक्तिगत प्रश्नों और पूर्ण प्रश्न पत्रों दोनों का अभ्यास करना शामिल करें। आवंटित समय सीमा के भीतर पूरे प्रश्न पत्रों का प्रयास करके, आप व्यावहारिक समझ विकसित कर सकते हैं कि परीक्षा के दौरान कुशलतापूर्वक समय का प्रबंधन कैसे करें।

FREE NAVODAYA MODEL PAPER
NAVODAYA OLD QUESTION PAPERS

परीक्षा के दौरान प्रभावी समय प्रबंधन के महत्वपूर्ण बातें :

1. प्रश्नों को दो बार पढ़े :

ऐसा करने से, आप एक रणनीति तैयार कर सकते हैं, अपनी प्रतिक्रियाओं को व्यवस्थित कर सकते हैं और निश्चित कर सकते हैं कि आप ने किसी भी प्रश्न को अनदेखा नहीं किया है या भूल नहीं की है।

2. प्रश्नों को प्राथमिकता दें :

कठिन प्रश्नों के लिए अधिक समय बचाने के लिए, पहले उन प्रश्नों को हल करने पर ध्यान दें जिनके बारे में आप आश्वस्त हैं या जिसे आप सरलता से हल कर सकते हैं।

3. आसान प्रश्नों को पहले अटेंड करें :

परीक्षा के दौरान अपने समय को प्रभावी ढंग से प्रबंधित करने के लिए, पहले उन प्रश्नों को हल करने को प्राथमिकता दें जिनके बारे में आप सबसे अधिक आश्वस्त हैं और कठिन प्रश्नों को बाद के लिए बचाएं। ऐसा करने से, आप अधिक आत्मविश्वास प्राप्त कर सकते हैं और कठिन प्रश्नों को हल करने के लिए अधिक समय प्राप्त कर सकते हैं।

नवोदय स्टडी टीम द्वारा सुझाए गए परीक्षा के दौरान उपर्युक्त समय प्रबंधन युक्तियों को प्रैक्टिस के समय अवश्य आज़माएं और देखें कि वे आपके परीक्षा के तनाव को कम करने और आपके स्कोर को बेहतर बनाने में कितने प्रभावी हैं। यदि आपके पास कोई अन्य सुझाव, प्रश्न और टिप्पणियाँ हैं, तो बेझिझक हमसे संपर्क करें। हम सहर्ष आपकी सहायता करेंगे।

नवोदय प्रवेश परीक्षा कक्षा 6 में गणित के कुछ ऐसे प्रश्न पूछे जाते हैं

नवोदय प्रवेश परीक्षा कक्षा 6 में गणित के कुछ ऐसे प्रश्न पूछे जाते हैं जिसे देखने पर बहुत ही कठिन प्रकृति के लगते हैं। ऐसे प्रश्नों को हल करने के आसान और सही तरीके का जानकारी नहीं होने की स्थिति में बच्चे अक्सर उलझन में पड़ जाते है कि इसे हल कैसे करें। आज के इस पोस्ट में यहाँ इसी प्रकार के प्रश्न दिए जा रहे हैं तथा उसे आसानी से हल कैसे करें इसके सरल एवं आसान तरीके भी बताए जाएंगे। प्रश्न के हल देखे देखे बिना हल करने की कोशिश जरूर करें और नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स पर अपने उत्तर का कमेन्ट करें।

यहाँ एक ही तरह के चार प्रश्न दिए जा रहे हैं तथा नीचे इनको हल करने के तरीके बताए जाएँगे। इन चार प्रश्नों के हल करने के तरीकों को देखने के बाद इस पैटर्न पर बनने वाली किसी भी प्रश्न को आप सहज ही हल कर पाएंगे यह हमारी दावा है।

प्रश्न 1. एक वस्तु को ₹ 500 में बेचने पर हानि होती है। यदि इस वस्तु को ₹ 700 में बेचा जाता, तो दुकानदार को पहले होने वाली हानि से तीन गुना लाभ होता। इस वस्तु का क्रय मूल्य क्या है?
(A) ₹ 525
(B) ₹ 600
(C) ₹ 550
(D) ₹ 650

प्रश्न 2. एक वस्तु को ₹ 645 में बेचने पर लाभ होती है। यदि इस वस्तु को ₹ 465 में बेचा जाता, तो दुकानदार को पहले होने वाली लाभ से तीन गुना हानि होता। इस वस्तु का क्रय मूल्य क्या है?
(A) ₹ 525
(B) ₹ 600
(C) ₹ 550
(D) ₹ 650

प्रश्न 3. एक वस्तु को ₹ 450 में बेचने पर हानि होती है। यदि इस वस्तु को ₹ 675 में बेचा जाता, तो दुकानदार को पहले होने वाली हानि से दो गुना लाभ होता। इस वस्तु का क्रय मूल्य क्या है?
(A) ₹ 525
(B) ₹ 600
(C) ₹ 550
(D) ₹ 650

प्रश्न 4. एक वस्तु को ₹ 715 में बेचने पर लाभ होती है। यदि इस वस्तु को ₹ 520 में बेचा जाता, तो दुकानदार को पहले होने वाली लाभ से दो गुना हानि होता। इस वस्तु का क्रय मूल्य क्या है?
(A) ₹ 525
(B) ₹ 600
(C) ₹ 550
(D) ₹ 650

ऊपर दिए गए चारों प्रश्न अलग-अलग जरूर हैं परन्तु एक जैसे पैटर्न पर हैं तथा इन्हें हल करने के लिए एक जैसे ही तरीके का प्रयोग करेंगे। प्रश्न की गहराई की समझ विकसित करने तथा सीखने को प्रभावी बनाने के लिए यहाँ पर चार तरह के प्रश्नों का समावेश किया गया है।

इन प्रश्नों में लाभ या हानि के अनुपात के आधार पर क्रय मूल्य ज्ञात करना है। प्रश्न क्रमांक 1 पर गौर करें – वस्तु को ₹ 500 में बेचने पर हानि होती है तथा ₹ 700 में बेचने पर हानि के 3 गुना लाभ होती है। इसका मतलब है लाभ और हानि का अनुपात 1 : 3 होगा। तथा इन दो अनुपातों का योग 1 + 3 = 4 होगा। (नोट – यहाँ के इस बात को याद जरूर रखें।) तो चलिए इन चार प्रश्नों के हल किस तरह से करें इस बारे में बात करते हैं-

प्रश्न क्रमांक 1 का हल –

पहले प्रश्न के अनुसार –
हानि का मूल्य = 500
लाभ का मूल्य = 700
हानि तथा लाभ के अनुपात का योग (1 : 3) 1 + 3 = 4

अब हल कैसे करें –

  1. हानि वाले मूल्य और लाभ वाले मूल्य का अंतर निकालें
  2. इस अन्तर को हानि तथा लाभ के अनुपात के योग से भाग करें
  3. प्राप्त भागफल को (प्रश्न के पहले मूल्य) हानि के मूल्य में जोड़ने पर क्रय मूल्य प्राप्त हो जाएगा यही इसका उत्तर होगा।
    (नोट – प्रश्न में पहला मूल्य हानि के मूल्य होने पर जोड़ने तथा लाभ के मूल्य होने पर घटाने होंगे। दूसरे प्रश्न के हल से आप इसे अच्छी तरह समझ पाएंगे।)

हल देखें –

प्रश्न क्रमांक 2 का हल –

दूसरे प्रश्न के अनुसार –
लाभ का मूल्य = 645
हानि का मूल्य = 465
लाभ तथा हानि के अनुपात का योग (1 : 3) 1 + 3 = 4

अब हल कैसे करें –

  1. लाभ वाले मूल्य और हानि वाले मूल्य का अंतर निकालें
  2. इस अन्तर को लाभ तथा हानि के अनुपात के योग से भाग करें
  3. प्राप्त भागफल को (प्रश्न के पहले मूल्य) लाभ के मूल्य में घटाने पर क्रय मूल्य प्राप्त हो जाएगा यही इसका उत्तर होगा।
    (नोट – प्रश्न में पहला मूल्य लाभ के मूल्य होने पर घटाया जाएगा)

हल देखें –

प्रश्न क्रमांक 3 का हल –

तीसरे प्रश्न के अनुसार –
हानि का मूल्य = 450
लाभ का मूल्य = 675
हानि तथा लाभ के अनुपात का योग (1 : 2) 1 + 2 = 3 (यहाँ अनुपात पर गौर करें प्रश्न में दो गुना लाभ होने की बात है इस लिए 1 : 2 आएगा)

अब हल कैसे करें –

  1. हानि वाले मूल्य और लाभ वाले मूल्य का अंतर निकालें
  2. इस अन्तर को हानि तथा लाभ के अनुपात के योग से भाग करें
  3. प्राप्त भागफल को (प्रश्न के पहले मूल्य) हानि के मूल्य में जोड़ने पर क्रय मूल्य प्राप्त हो जाएगा यही इसका उत्तर होगा।
    (नोट – प्रश्न में पहला मूल्य हानि के मूल्य होने पर जोड़ा जाएगा)

हल देखें –

प्रश्न क्रमांक 4 का हल –

चौथे प्रश्न के अनुसार –
लाभ का मूल्य = 715
हानि का मूल्य = 520
लाभ तथा हानि के अनुपात का योग (1 : 2) 1 + 2 = 3 (यहाँ अनुपात पर गौर करें प्रश्न में दो गुना लाभ होने की बात है इसलिए 1 : 2 आएगा)

अब हल कैसे करें –

  1. लाभ वाले मूल्य और हानि वाले मूल्य का अंतर निकालें
  2. इस अन्तर को लाभ तथा हानि के अनुपात के योग से भाग करें
  3. प्राप्त भागफल को (प्रश्न के पहले मूल्य) लाभ के मूल्य में घटाने पर क्रय मूल्य प्राप्त हो जाएगा यही इसका उत्तर होगा।
    (नोट – प्रश्न में पहला मूल्य लाभ के मूल्य होने पर घटाया जाएगा)

हल देखें –

नवोदय कक्षा 6 के नये OMR कैसे भरें ताकि कोई ग़लती न हो | देखें पूरी जानकरी

नवोदय प्रवेश परीक्षा कक्षा छठवीं OMR ANSWER SHEET पर आधारित है। छोटे बच्चों को इसे सही-सही भरने सीखने के लिए बारबार प्रैक्टिस की आवश्यकता के साथ-साथ सही गाइडेंस की आवश्यकता है।

जवाहर नवोदय विद्यालय प्रवेश परीक्षा देशभर के लगभग 560 से अधिक जवाहर नवोदय विद्यालयों में ग्रामीण/नगरीय क्षेत्र के कक्षा पांचवीं में अध्ययनरत प्रतिभावान बच्चों कक्षा छठवीं में प्रवेश देकर उनका सर्वांगीण विकस के लिए एक अच्छी आवासीय शिक्षा उपलब्ध कराती है। यह शिक्षा व्यवस्था मानव संसाधन विकास मंत्रालय भारत सरकार द्वारा बिना कोई शुल्क के उपलब्ध है। यहाँ कक्षा 6 स्तर पर 50,000 से अधिक बच्चों को कक्षा छठवीं स्तर पर एडमिशन के लिए OMR SHEET पर आधारित 80 प्रश्नों वाली 100 अंकों की एक चयन परीक्षा प्रति वर्ष आयोजित की जाती है। परीक्षा में मेरिट के आधार पर प्रवेश प्राप्त होता है। जिसका प्रवेश पत्र (Admit Card) पहले ही नवोदय विद्यालय समिति आधिकरिक वेबसाईट पर जारी कर दिया गया है।

छोटे बच्चों को OMR ANSWER SHEET भरने में कोई कठिनाई न हो। इसे सही-सही भरने के लिए बारबार प्रैक्टिस की आवश्यकता के साथ-साथ सही गाइडेंस की आवश्यकता होती है। इस पोस्ट में नयी OMR ANSWER SHEET को भरने संबंधी बातें VIDEO के माध्यम से बारिकी से समझने का मौका मिलेगा।

यदि आपके पास नये OMR SHEET नहीं है तो इसका PDF डाऊनलोड कर ले Download OMR Sheet

नवोदय की तैयारी कैसी हो ?

यहां हम इस वेबसाइट के माध्यम से आप लोगों को उचित एवं उपयोगी सामग्री उचित मार्गदर्शन उपलब्ध कराने का भरपूर प्रयास करेंगे। इस वेबसाइट के हमारे सभी पोस्ट और पेज को एक बार जरूर अवलोकन करें। हमारे क्रिएटिविटी, कार्यशैली और व्यवस्था एक नजर जरुर डालें।

वेबसाइट और ऐप पर ऑनलाइन टेस्ट, प्रैक्टिस सेट, गैस पेपर, पिछले वर्षों के पुराने परीक्षा प्रश्न पत्र, के अलावा आप की तैयारी से संबंधित महत्वपूर्ण प्रश्नों की सूचियां, भाषा क्षमता और विकास, मानसिक योग्यता से संबंधित सभी भागों पर आधारित प्रश्नों को तैयार करके इस वेबसाइट के माध्यम से उपलब्ध कराया जा रहा है। इसके अंतर्गत आप पिछले कई वर्षों में आए हुए कई प्रश्न पत्रों का अवलोकन कर सकते हैं आने वाले प्रश्नों के आने वाले परीक्षाओं के लिए आप गेस पेपर के रूप में मॉडल पेपर का सहारा लेकर अपनी तैयारी को और भी अच्छे कर सकते हैं। अपनी तैयारी को आकलन करने के लिए हमारे द्वारा दिए गए ऑनलाइन टेस्ट में भाग लेकर अपनी तैयारी का आकलन कर सकते हैं। 1100 प्रश्नों वाली हमारी 101 ‘‘नवोदय आॅनलाईन पैक्टिस टेस्ट’’ सीरीज जो नवोदय तैयारी के लिए एक ब्रम्हास्त्र के रुप में है। इसके साथ ही वेबसाइट पर महत्वपूर्ण प्रश्नों की अलग-अलग सूचियां समय-समय पर प्रकाशित किए जाएंगे इन महत्वपूर्ण प्रश्नों को आप हल करके उसका प्रैक्टिस कर के भी इसका लाभ ले सकते हैं।

You May Also Like –
NAVODAYA MOCK TEST
NAVODAYA MODEL PAPER
NAVODAYA OLD PAPER
NAVODAYA IMP QUESTIONS
NAVODAYA 26 OMR SHEET
BLOG PAGE

किसी भी विद्यार्थी को नवोदय जैसे महत्वपूर्ण परीक्षाओं में सफलता अर्जित करने के लिए बहुत अधिक परिश्रम के साथ तैयारी करनी पड़ती है यदि हम किसी भी तरीके से कोई भी शॉर्टकट तरीके को अपनाने का प्रयास करते है तो सफलता नहीं मिलती, कारण यह है कि परीक्षाओं में वही बच्चा सफल हो पाता है जो कठिन से कठिन परिश्रम करता है कई बच्चे तो वर्षों से इसकी तैयारी में जुटे रहते हैं यदि आप भी पहले से तैयारी करने वालों में से हैं तो और भी अच्छी बात है। तैयारी करने के लिए अध्ययन से संबंधित अच्छी सामग्री उपलब्ध हो और हमारी मेहनत और लगन साथ हो तो सफलता अवश्य मिलती है। इसके अलावा हम मेहनत नहीं करना चाहते और ऐसे अध्ययन सामग्रियों की तालाश में आराम करते रहें जैसे- ‘‘यही तैयारी कर लो’’ ‘‘यही प्रश्न आएंगे’’ ‘‘ऐसी ही प्रश्न आते हैं’’ ऐसी बातों या लुभावने विज्ञापानों पर हम जो थोड़े ही समय में तैयारी करके इस परीक्षा को निकाल सकते हैं और देश के अव्वल नम्बर के विद्यालयों दाखिला प्राप्त कर सकते हैं,ऐसा कुछ भी नहीं है। हम एक बार अवश्य देखें कि आज तक जितने भी नवोदय विद्यालय प्रवेश के लिए परीक्षाएँ आयोजित की गई है उसमें हर बार नए तरीके से, नए प्रकार से नए प्रश्न दिए गए हैं इसका तात्पर्य यह है कि कोई भी व्यक्ति यह नहीं कह सकता कि किसी के द्वारा बनाए गए कोई भी अध्ययन सामग्री एकदम बच्चे की तैयारी के लिए 100 प्रतिशत सटीक है। अर्थात बच्चे की तैयारी किसी एक या एक व्यक्ति या एक संसाधन की तैयारी करके वह सफलता अर्जित कर लेगा यह संभव नहीं है। यदि हम इसकी तैयारी अच्छे से अच्छा करना चाहते हैं तो विषय से संबंधित समझ हम पर विकसित होना बहुत जरूरी है हमको विषय से संबंधित समझ विकसित हो, इसके लिए हमारे पास संसाधन उसके अनुरूप हो। हम यहां प्रयासरत हैं कि बच्चों को नवोदय की तैयारी से संबंधित सभी संसाधन तैयारी के अनुरूप हो। इन संसाधनों का उपयोग करके बच्चा नवोदय की अच्छे से अच्छे से तैयारी कर सके, उसे वह सभी संसाधन उपलब्ध हो सके, जो वह चाहता है, जिससे पूरी तैयारी हो सके, इस प्रकार हम इस वेबसाइट के माध्यम से ऐसे सामग्रियाँ और संसाधन उपलब्ध कराने का भरपूर प्रयास रत हैं। आशा करते हैं इससे बच्चों का अच्छी से अच्छी तैयारी हो सके और उनके मेहनत, उसके लगन और उसकी योग्यता के बल पर वह नवोदय जैसे परीक्षाओं के लिए चयनित होकर आपके, आपके परिवार, समाज, प्रदेश और राष्ट्र का नाम रौशन कर सके। हमारे ही आसपास ऐसे बच्चे छुपे होते हैं जिनकी योग्यता असीमित है किंतु इन योग्यता को किसी माध्यम के द्वारा ही हम उभार सकते हैं आज के समय में आफलाइन पढ़ाई के अलावा हमको ऑनलाइन माध्यम से सामग्रियाँ, क्लास आदि की आवश्यकता होती है यह सामग्री या संसाधन, क्लास आदि उपलब्ध तो बहुत है परंतु उपलब्ध सामग्री या संसाधन किस स्तर का है, इसे जिसके द्वारा बनाया जा रहा है, कई तरह से फेंक, नकली या अनुपयोगी संसाधन या सामग्रियाँ भी हमारे आस-पास भरे पड़े हैं। इसकी पहचान हम कैसे करें कि हमारे पास जो संसाधन उपलब्ध हैं या आ रहे हैं, उपयोगी है अथवा नही। इस प्रकार हम भरपूर प्रयास करेंगे कि आपको एक अच्छी और उपयोगी सामग्रियाँ उपलब्ध कराएँ। 

आप हमारे इस प्रयास के लिए एक बार हमारे वेबसाइट के माध्यम से तैयारी करें और देखें कि हमारे संसाधन, अन्य के साथ तुलनात्मक दृष्टि से अच्छे लगे तो बिल्कुल हमारे इस बेबसाइट का अन्य लोगों के साथ प्रचार प्रसार करें

नवोदय प्रवेश परीक्षा 29 अप्रैल 2023 कक्षा 6 के प्रश्न पत्र से 14 कठिन सवाल (उलझ गए कुछ बच्चे)

पिछले कई वर्षों की तुलना में इस वर्ष कक्षा 6 में दाखिला के लिए जवाहर नवोदय विद्यालय प्रवेश परीक्षा में सम्मिलित होने वाले विद्यार्थियों को कुछ अधिक कठिन सवालों से जूझना पड़ा है। हम यहाँ उन 14 कठिन सवालों पर चर्चा करेंगे जो विद्यार्थियों को हल करने में कठिनाई महसूस हुयी। जिन विद्यार्थियों ने इन सवालों को अच्छे से हल कर लिया है उनका जवाहर नवोदय विद्यालय में दखिला मिल जाने की भरपूर संभावना है। जो विद्यार्थी 2024 में दाखिला के लिए जवाहर नवोदय विद्यालय प्रवेश परीक्षा में सम्मिलित होने वाले हैं या तैयारी कर रहे हैं उन्हें ऐसे सवालों की तैयारी पर ध्यान देने की जरुरत है। इस पोस्ट से भविष्य में जवाहर नवोदय विद्यालय की तैयारी करने वाले विद्यार्थियों को कुछ न कुछ लाभ अवश्य होगा।

नवोदय प्रवेश परीक्षा कक्षा 6 में अधिकतम गलतियाँ इन 14 प्रश्नों पर देखने को मिल रही है। भविष्य में तैयारी करने वाले बच्चों की दृष्टि से यह महत्वपूर्ण है कि ऐसे प्रश्नों का तैयारी अच्छी तरह से करें ताकि जवाहर नवोदय विद्यालय में प्रवेश प्राप्त करने का सपना पूरा हो सके।

आगे एक-एक कर उन 14 सवालों को देखिए जो हमारे दृष्टि में बच्चों के लिए कठिन तथा उलझाने वाले सवाल थे और वे सवाल कौन-कौन से हैं। यदि आपने इन 14 सवालों को सही-सही हल कर लिया है तो आपका पेपर भी अच्छा बना होगा।

आगे आने वाली पोस्ट में इन सभी सवालों पर व्याख्यात्मक हल के साथ विस्तार पूर्वक चर्चा करेंगे। देखें वे 14 सवाल कौन-कौन से हैं :

1

2

3

4

80 विद्यार्थियों का एक समूह पिकनिक पर गया। इस समूह में 20% विद्यार्थी लड़कियाँ हैं तथा शेष लड़के हैं। इसमें कितनी और लड़कियाँ सम्मिलित की जाएँ कि समूह में लड़के 70% हो जाएँ? (प्रतिशात सिलेबस में नहीं है)
(A) 16
(B) 24
(C) 12
(D) 8

5

रहीम ने दिनेश से 10 अंक अधिक प्राप्त किए। जॉर्ज ने रहीम से 25 अंक कम प्राप्त किए। सभी तीनों के अंकों का योगफल 235 है। जॉर्ज ने अंक प्राप्त किए :
(A). 80
(B) 65
(C) 90
(D) 75

6

एक वस्तु के क्रय मूल्य और विक्रय मूल्य का अन्तर ₹240 है। यदि लाभ 20% है, तो विक्रय मूल्य है : (प्रतिशात सिलेबस में नहीं है)
(A) ₹1,200
(B) ₹ 1,440
(C) ₹ 1,800
(D) ₹ 2,440

7

यदि एक विक्रेता एक कुर्सी को 15% लाभ के स्थान पर 8% लाभ पर बेचता है, तो उसे ₹56 कम मिलते हैं। कुर्सी का क्रय मूल्य है : (प्रतिशात सिलेबस में नहीं है)
(A) ₹700
(B)₹ 800
(C) ₹900
(D) ₹950

8

दो संख्याओं का योगफल 8 तथा उनका गुणनफल 15 है। इनके व्युत्क्रमों का योगफल क्या होगा ?
(A) 8/15
(B) 15/8
(C) 23
(D) 7

9

10

5 से० मी० को किलोमीटर में लिखते हैं
(A) 0.005 कि० मी०
(B) 0.0005 कि० मी०
(C) 0.00005 कि० मी०
(D) 0.000005 कि० मी०

11

4.239 को 0.9 से भाग करने पर प्राप्त होता है। :
(A) 0.471
(B) 4.71
(C) 47.1
(D) 471

12

‘वास्तविक’ शब्द __ है.
(A) क्रिया-विशेषण
(B) क्रिया
(C) विशेषण
(D) संज्ञा

13

‘बन गए’ क्रिया का _ काल है।
(A) वर्तमान
(B) भूत
(C) भविष्य
(D) अनिश्चित

14

अनुच्छेद में प्रयुक्त ‘सहित’ का अर्थ __ है।
(A) के साथ
(B) पीछे से
(C) घटित
(D) निरंतर

नवोदय चयन परीक्षा 30 अप्रैल 2022 के इस सवाल का क्या है उत्तर, प्रश्न पत्र से कठिन सवाल (उलझ गए कुछ बच्चे)

यह सवाल 30 अप्रैल 2022 को आयोजित जवाहर नवोदय विद्यालय चयन परीक्षा कक्षा 6th के भाषा परीक्षण अनुभाग के अन्तर्गत पूछे गए एक अनुच्छेद का है। इस प्रश्न के उत्तर उम्मीदवारों, अभिभावकों तथा शिक्षकों द्वारा अपने-अपने तर्कों के आधार पर अलग-अलग दिया जा रहा है। हमने भी अपने तर्क के आधार पर इस प्रश्न का संभावित उत्तर दिया है। इस लेख में हम हमारे उत्तर के पक्ष में अपना तर्क प्रस्तुत करेंगे। हमारी तर्क के अनुसार हमरे द्वारा दिए गए उत्तर आपको ठीक लगे तो दूसरों को भी शेयर करें। यदि आप हमारे तर्क से सहमत नहीं हैं तो हमारे द्वारा दी गई संभावित उत्तर को गलत मानने के लिए स्वतंत्र हैं।

निचे जवाहर नवोदय विद्यालय चयन परीक्षा कक्षा 6th के अनुच्छेद तथा वह प्रश्न दिया जा रहा है। दिए गए अनुच्छेद तथा प्रश्न के आधार पर हम अपना तर्क प्रस्तुत करेंगे।

अनुच्छेद –
“यह रविवार का दिन था। हरीश पार्क में अपने मित्रों के साथ खेल रहा था। निकट में एक तालाब था । हरीश तैरना चाहता था। वह छपाक के साथ तालाब में कूद गया। तालाब के दूसरे छोर पर पानी में कुछ बत्तखें थीं। हरीश ठंडे पानी और हल्की धूप का आनंद लेते हुए तैरा। अचानक उसने जोर की आवाज सुनी और पानी छितर गया। उसने चारों तरफ देखा कि कहीं किसी ने तालाब में गोता तो नहीं लगाया। उसे कोई दिखाई नहीं दिया।”

प्रश्न – मौसम ………………. था।
(A) बहुत गरम
(B) थोड़ा गरम
(C) बहुत ठंडा
(D) ठंडा और वर्षा वाला

इस प्रश्न का सीधे-सीधे उत्तर निकल सके ऐसा कुछ भी वर्णन अनुच्छेद में नहीं दिया गया है। शोध-अनुसंधान तथा निष्कर्ष पर आधारित इस प्रश्न के उत्तर पर पहुंचने के लिए अनुच्छेद के प्रत्येक वाक्यों का व्याख्या तथा उसके तर्क के आधार पर निष्कर्ष पर पहुंचना होगा।

प्रश्न में मौसम को पूछा गया है, इस आधार पर प्रत्येक वाक्यों से मौसम सम्बन्धी निष्कर्ष निकालने का प्रयास किया गया है।

“यह रविवार का दिन था। हरीश पार्क में अपने मित्रों के साथ खेल रहा था। निकट में एक तालाब था।”

निष्कर्ष – 01
ऊपर दिए गए गए तीन वाक्य से मौसम संबंधी कुछ भी जानकारी नहीं मिलती है।

“हरीश तैरना चाहता था। वह छपाक के साथ तालाब में कूद गया।”

हरीश तैरना चाहता था और वह तलब में कुद गया। कुछ लोगों का कहना है कि बच्चा गर्मी में तैरना चाहता है, ठंड होता तो तालाब में नहीं कूदता। यहाँ हमारा तर्क है चाहत (चाहने) से किसी मौसम विशेष का स्पष्टिकरण नहीं होता, तैरने की चाहत रखने वाला बच्चा मौसम देखकर तालाब में कूदेगा यह बात तर्क संगत नहीं है। वह तैरना चाहता था तालाब दिखा और कूद गया। इस समय वह पानी ठंडा है या गरम नहीं जनता था। यदि मौसम अधिक गरम या कम गरम होता तो केवल हरीश अकेला तालाब में नहीं कूदता उसके पीछे-पीछे सभी बच्चे तालाब में कूद जाते और जलक्रीड़ा करते जबकि अनुच्छेद के अंत में यह भी बताया गया है कि-

“अचानक उसने जोर की आवाज सुनी और पानी छितर गया। उसने चारों तरफ देखा कि कहीं किसी ने तालाब में गोता तो नहीं लगाया। उसे कोई दिखाई नहीं दिया।”

छपाक की आवाज तथा पानी का छितर जाना किसी मछली के उछाल मारने का भी हो सकता है। मछलियां अक्सर ठंड मौसम में पानी के ऊपरी तल में रहकर हल्की धूप का आनन्द लेते हुए इस प्रकार की जल क्रीड़ाएँ किया करतीं हैं। यहाँ भी हरीश के अलावा कोई और दूसरा बच्चा तालाब में छलांग नहीं लगाया है।

निष्कर्ष – 02
मौसम गर्मी का नहीं ठंडी का आभास हो रहा है। नहीं तो हरीश के सभी या कुछ मित्र तालाब में गोता अवश्य लगाते।

“तालाब के दूसरे छोर पर पानी में कुछ बत्तखें थीं।”

बत्तख किसी भी मौसम में तालाब में पाए जाते है।

निष्कर्ष – 03
बत्तखों से मौसम संबंधी कोई जानकारी नहीं मिलती।

“हरीश ठंडे पानी और हल्की धूप का आनंद लेते हुए तैरा।”

यहाँ ठंडे पानी का जिक्र है। ठंडे पानी को भलेही कम या ज्यादा ठंडा नहीं कहा गया है। फिर भी यह ठंडी की ओर ईशारा करता है।

दूसरी और महत्वपूर्ण बात “हल्की धूप” केवल सूर्य के दक्षिणायन होने की स्थिति में ही होती है और इस समय सर्दी का मौसम होता है। “हल्की धूप का आनन्द” भी सर्दी के मौसम में ही लिया जाता है।

निष्कर्ष – 04
पानी का ठंडा होना, हल्की धूप सूर्य का दक्षिणायन होना थोड़ा गरम या अधिक गरम मौसम मौसम के इर्दगिर्द भी नहीं है। इसलिए यहाँ मौसम “बहुत ठंंडा” की ओर ईशारा कर रहा है।

उपर्युक्त चारों निष्कर्ष से उत्तर आप्शन A, B तथा D से संबंधित कोई ठोस निष्कर्ष नहीं निकल रहा है। इसलिए यहाँ मौसम “बहुत ठंंडा” की ओर ईशारा कर रहा है।

यह तर्क और संभावित उत्तर मेरी अपनी सोच, शोध निष्कर्ष पर आधारित है, (परीक्षा एजेंसी और विषय विशेषज्ञों की राय कुछ भी हो सकती है) सभी उम्मीदवारों, अभिभावकों तथा सम्मानीय गुरुजनों से अपील है कि कमेन्ट करके अपना मत अवश्य शेयर करें।

सैनिक स्कूल प्रवेश परीक्षा प्रैक्टिस सेट 05 : गणित के 100 अति महत्वपूर्ण प्रश्न, परीक्षा के लिए जाने से पहले एकबार जरूर देखें

पूरे देश भर में एकसाथ आयोजित होने वाली सैनिक स्कूल प्रवेश परीक्षा 2024 कक्षा 6 के लिए अब समय बहुत कम ही रह गए हैं। ऐसे समय में पूरी पुस्तक से परीक्षा उपयोगी प्रश्नों को छांटकर तैयारी करना मुश्किल है। इस काम को सरल बनाने के लिए हमरी “नवोदय स्टडी टीम” की ओर से यह पहला प्रयास शायद आपके कुछ काम आ जाए। थोड़े समय में अधिक तैयारी के लिए कुछ चयनित प्रश्नों की जरूरत होती है। हमारा यह प्रयास आपको पसंद आएगा। प्रश्नों का चयन करते समय पिछले वर्षों के परीक्षण पुस्तिकाओं का बारीकी से अध्ययन करके पाठ्यक्रम के अनुरूप यहाँ दिए गए 100 प्रश्न बिल्कुल नये प्रश्न तैयार किया गया है।

इस लेख में 100 प्रश्नों की प्रैक्टिस का अंतिम प्रश्न क्रमांक 81 से 100 तक 20 प्रश्न दिया है। इस श्रृंखला का यह पांचवाँ और अंतिम भाग आपकी तैयारी को मजबूत करेगी। आपकी सफलता की शुभकामनाओं के साथ।

यादि आप इस सीरीज के पिछले “भाग एक”, “भाग दो” तथा “भाग तीन” के प्रश्न क्रमांक 01 से 20, 21 से 40 तथा 41 से 60 का भी प्रैक्टिस करना चाहते हैं, तो यहाँ क्लिक करें

“प्रैक्टिस सेट भाग – 1”

“प्रैक्टिस सेट भाग – 2”

“प्रैक्टिस सेट भाग – 3”

“प्रैक्टिस सेट भाग – 4”

नोट –

सभी प्रश्न हिन्दी/English माध्यम में दिया गया है। सभी प्रश्नों के उत्तर कुंजी 60 वें प्रश्न के बाद दिया गया है।
ये प्रश्न नवोदय चयन परीक्षा के लिए भी उपयोगी है।

प्रश्न 81. किसी संख्या को 13 से विभाजित करने पर भागफल 7 आता है तथा एक दूसरी संख्या को 7 से विभाजित करने पर भागफल 11 आता है। संख्याओं का म.स. (HCF) है।
When a number is divided by 13, the quotient is 7 and when another number is divided by 7 the quotient is 11. is the HCF of the numbers.

(A) 13
(B) 7
(C) 11
(D) 1

प्रश्न 82. यदि चतुर्भुज ABCD में कोण A, B, C तथा D का मान क्रमश: 2x, 3x, 4x तथा 5x + y हो, तो y का मान होगा-
If the angles A, B, C and D in a quadrilateral ABCD are 2x, 3x, 4x and 5x + y respectively, then the value of y will be-

(A) 1
(B) 3
(C) 4
(D) 10

प्रश्न 83. दो संख्याओं के म.स. (HCF) तथा ल.स. (LCM) का अनुपात 1 : 6 है। यह संख्याएँ निम्नलिखित में से कौन-सी “नहीं” हो सकती –
The ratio of HCF and LCM of two numbers is 1 : 6. Which of the following “cannot” be these numbers?

(A) 12, 18
(B) 10, 60
(C) 36, 216
(D) 18, 54

प्रश्न 84. 7644 का अभाज्य गुणनखंड क्या है –
What is the prime factorization of 7644?

(A) 2 × 2 × 3 × 7 × 7 × 13
(B) 2 × 2× 7 × 7 × 39
(C) 2 × 2 × 49 × 39
(D) 2 × 3 × 7 × 7 × 7 × 13

प्रश्न 85. 18 पेंसिल का मूल्य 14 पेन के मूल्य के बराबर है। कितनी पेन 45 पेंसिलों के मूल्य के बराबर होंगे-
The cost of 18 pencils is equal to the cost of 14 pens. How many pens will be equal to the cost of 45 pencils?

(A) 35
(B) 36
(C) 30
(D) 32

प्रश्न 86. 23 का 13% एवं 13 का 23% का योगफल होगा –
The sum of 13% of 23 and 23% of 13 will be –

(A) 5.98
(B) 36.36
(C) 36.00
(D) 1.00

प्रश्न 87. एक दुकानदार 10 कुर्सियों को अंकित मूल्य से 10% छूट में खरीद कर बेचते समय प्रत्येक कुर्सियों पर क्रमशः 1%, 2%, 3%, …….. 10% की छूट प्रदान करता है। इस सौदे में उसके लाभ का प्रतिशत है –
A shopkeeper while buying and selling 10 chairs at 10% discount on marked price allows 1%, 2%, 3%, ……….. 10% discount on each of the chairs respectively. The percentage of his profit in this transaction is –

(A) 4.5%
(B) 5%
(C) 5.5%
(D) 10%

प्रश्न 88. दिए गए आकृतियों में कोणों के मापों का कौन सा अनुक्रम सही तरीके से मेल खाता है-
Which of the following sequence of measures of angles in the given figures is correctly matched ?

(A) 60°, 120°, 90°, 150°
(B) 60°, 180°, 90°, 120°
(C) 60°, 108°, 90°, 150°
(D) 60°, 108°, 90°, 120°

प्रश्न 89. दो संख्याओं का अनुपात 12 : 21 है। यदि पहली संख्या को 9 तथा दूसरी संख्या को 6 से गुणा किया जाए तो, नया अनुपात होगा-
The ratio of two numbers is 12 : 21. If the first number is multiplied by 9 and the second number by 6, the new ratio will be-

(A) 9 : 6
(B) 6 : 9
(C) 6 : 7
(D) 7 : 6

प्रश्न 90. निम्न में से किस अभाज्य संख्या में 2 जोड़ कर भाज्य संख्या बनाया जा सकता है –
Which of the following prime numbers can be added 2 form a composite number?

(A) 89
(B) 51
(C) 41
(D) 91

प्रश्न 91. किसी कार्य को 10 दिन में पूरा करने के लिए 15 आदमी लगाया गया। यदि 7 दिन में काम आधे हुए हों तो, निर्धारित समय में काम पूरा कराने के लिए कितने आदमी और लगाया जाना चाहिए-
15 men were employed to complete a work in 10 days. If the work is half done in 7 days, then how many more men should be employed to complete the work in the stipulated time?

(A) 15
(B) 20
(C) 25
(D) 35

निर्देश : निम्नलिखित तालिका में 6 व्यक्तियों के नाम तथा उनके द्वारा अर्जित आय तथा व्यय का विवरण दिया गया है। प्रश्न क्रमांक 92 से 96 तक के प्रश्नों के उत्तर देने के लिए तालिका को ध्यान पूर्वक अध्ययन कीजिए-

नाम/Name आय/Profit व्यय/Expense
ज्ञान/Dyan300225
करण/Daran500400
शिवा/Shiva450360
देव/Dev150110
जीवा/Jiva350275
रहिम/Rahim250175

प्रश्न 92. सबसे अधिक बचत कौन करता है –
Who saves the most –

(A) ज्ञान/Dyan
(B) करण/Daran
(C) जीवा/Jiva
(D) रहिम/Rahim

प्रश्न 93. किन दो व्यक्तियों का बचत प्रतिशत एक समान (बराबर) है –
Which two persons have the same percentage of savings?

(A) करण – शिवा/Karan – Shiva
(B) ज्ञान – करण/Gyan – Karan
(C) देव – जीवा/Dev – Jiva
(D) देव – रहिम/Dev – Rahim

प्रश्न 94. सबसे कम आय वाला व्यक्ति तथा सबसे अधिक आय वाला व्यक्ति के आय का अनुपात है –
The ratio of the income of the person with the lowest income to that of the person with the highest income is

(A) 3 : 10
(B) 3 : 7
(C) 7 : 3
(D) 10 : 3

प्रश्न 95. सबसे अधिक बचत प्रतिशत किसका है-
Who has the highest saving percentage?

(A) ज्ञान/Gyan
(B) करण/Karan
(C) जीवा?Jiva
(D) रहिम/Rahim

प्रश्न 96. सबसे कम तथा सबसे अधिक बचत करने वाले दोनों व्यक्तियों के बचत का अंतर है –
The difference between the savings of the least and the highest savers is –

(A) 40
(B) 25
(C) 60
(D) 50

प्रश्न 97. एक घड़ी को ₹ 90 में बेचने पर 25% की हानि होती है। 25% लाभ कमाने के लिए विक्रय मूल्य क्या होगा –
There is a loss of 25% by selling a watch for ₹ 90. What will be the selling price to make 25% profit –

(A) ₹ 112.5
(B) ₹ 150
(C) ₹ 156.25
(D) ₹ 125

प्रश्न 98. दो वस्तुओं के अंकित मूल्य का अनुपात 3 : 7 है। यदि पहले वस्तु 40% हानि पर तथा दूसरे वस्तु 30% लाभ पर बेचा जाए तो, इस सौदे में कुल लाभ या हानि का प्रतिशत होगा –
There is a loss of 25% by selling a watch for ₹ 90. What will be the selling price to make 25% profit?

(A) 9% लाभ/Profit
(B) 10% हानि/Loss
(C) 9% लाभ/Profit
(D) 10% हानि/Loss

प्रश्न 99. 7 : 91 : : ? : 455
(A) 13
(B) 175
(C) 35
(D) 5

प्रश्न 100. किसी संख्या और उसके 60% का अनुपात होगा –
The ratio of a number and its 60% will be –

(A) 3 : 5
(B) 6 : 4
(C) 5 : 3
(D) 4 : 6

यहाँ भी प्रैक्टिस करें

AISSEE सैनिक स्कूल प्रवेश परीक्षा कक्षा 6 | गणित प्रैक्टिस सेट 01 : प्रश्न क्रमांक 01 से 20

AISSEE सैनिक स्कूल प्रवेश परीक्षा कक्षा 6 | गणित प्रैक्टिस सेट 02 : प्रश्न क्रमांक 21 से 40

AISSEE सैनिक स्कूल प्रवेश परीक्षा कक्षा 6 | गणित प्रैक्टिस सेट 03 : प्रश्न क्रमांक 41 से 60

AISSEE सैनिक स्कूल प्रवेश परीक्षा कक्षा 6 | गणित प्रैक्टिस सेट 04 : प्रश्न क्रमांक 61 से 80

उत्तर कुंजी –

Q.No.Ans Q.No. Ans Q.No. Ans Q.No. Ans
81B86A91B96C
82D87B92B97B
83D88D93A98C
84A89C94A99C
85A90A95D100C

AISSEE सैनिक स्कूल प्रवेश परीक्षा कक्षा 6 | गणित प्रैक्टिस सेट 04 : परीक्षा उपयोगी 100 प्रश्नों का सीरीज प्रश्न क्रमांक 61 से 80

सैनिक स्कूल प्रवेश परीक्षा 2024 कक्षा 6 के लिए अब कुछ ही दिन शेष रह गए हैं। 2024 में सैनिक स्कूल में प्रवेश चाहने वाले विद्यार्थियों और उनके पालकों के लिए यह समय विशेष महत्वपूर्ण है। बच्चों की तैयारी अब लगभग पूर्ण हो चुकी है। अब का समय आधिकाधिक प्रैक्टिस करने का है। बारबार प्रैक्टिस से ही तैयारी का आकलन तथा कमियों को दूर किया जा सकता है।

आज इस लेख में सैनिक स्कूल गणित के प्रैक्टिस वाली 100 प्रश्नों की सीरीज का प्रश्न क्रमांक 61 से 80 तक के 20 प्रश्नों दिया जा रहा है। इस श्रृंखला का यह चौथा भाग आपकी तैयारी को थोड़ा और मजबूती प्रदान करेगी आशा है आपको पसंद आए।

यादि आप इस सीरीज के पिछले “भाग 1”, “भाग 2”, “भाग 3” तथा “भाग 5” का भी प्रैक्टिस करना चाहते हैं, तो यहाँ क्लिक करें –

“प्रैक्टिस सेट भाग – 1”

“प्रैक्टिस सेट भाग – 2”

“प्रैक्टिस सेट भाग – 3”

“प्रैक्टिस सेट भाग – 5

नोट –

सभी प्रश्न हिन्दी/English माध्यम में दिया गया है। सभी प्रश्नों के उत्तर कुंजी 80 वें प्रश्न के बाद दिया गया है।
ये प्रश्न नवोदय चयन परीक्षा के लिए भी उपयोगी है।

सैनिक स्कूल 20 महत्वपूर्ण प्रश्न –

प्रश्न 61. 507, 273 तथा 234 का महत्तम समापवर्तक ज्ञात कीजिए –
Find the greatest common factor of 507, 273 and 234 –

(A) 13
(B) 26
(C) 39
(D) 52

प्रश्न 62. एक घनाभ में भुजाओं की संख्या होती है –
The number of sides in a cuboid is –

(A) 6
(B) 12
(C) 16
(D) 24

प्रश्न 63. 102 × 102 – 100 × 100 = ?
(A) 4
(B) 40
(C) 44
(D) 404

प्रश्न 64. 1 से 100 के मध्य ऐसी कितनी संख्याएँ हैं, जिसके वर्गमूल का वर्गमूल एक पूर्णांक के रूप में प्राप्त हो –
How many such numbers are there between 1 to 100, whose square root of square root is found as an integer?

(A) 1
(B) 2
(C) 3
(D) 4

प्रश्न 65. 300 का तीन चौथाई के वर्गमूल को किसी संख्या में जोड़ने पर 300 प्राप्त होता है, वह संख्या है –
Adding the square root of three fourth of 300 to a number gives 300, that number is –

(A) 300
(B) 285
(C) 225
(D) 255

प्रश्न 66. नीचे दिए गए संख्या रेखा में A अपने स्थान से 6 आगे बढ़कर 9 स्थान पीछे चलता है। अब A किस स्थान पर है –
In the number line given below, A moves 6 places ahead of his position and moves 9 places behind. Where is A now?

(A) 0
(B) -5
(C) 1
(D) -1

प्रश्न 67. एक मोबाइल को अंकित मूल्य में बेचने पर 7.5% लाभ होती है, यदि क्रय मूल्य 2400 हो, तो अंकित मूल्य ज्ञात करें –
There is a profit of 7.5% on selling a mobile at the marked price, if the cost price is 2400, then find the marked price –

(A) 2500
(B) 2550
(C) 2580
(D) 2600

प्रश्न 68. 34/5 किन दो संख्याओं के मध्य स्थित होगा –
34/5 will lie between which two numbers?

(A) 17 और 18
(B) 6 और 7
(C) 4 और 5
(D) 3 और 4

प्रश्न 69. एक परीक्षा में 40 के पूर्णांक पर, राजू तथा रहीम के प्राप्तांक क्रमशः 23 अंक तथा 33 अंक है। राजू से रहीम का प्रतिशत अंक कितना अधिक है –
In an examination rounding out 40, the marks obtained by Raju and Rahim are 23 marks and 33 marks respectively. What is the percentage marks of Rahim more than that of Raju?

(A) 10%
(B) 15%
(C) 20%
(D) 25%

प्रश्न 70. निम्न में से किन 3 भिन्नों का योगफल एक पूर्ण संख्या के रूप में प्राप्त होगा –
The sum of which of the following 3 fractions will be obtained as a whole number –

(i) 13/10 (ii) 8/5 (iii) 7/5 (iv)11/10
(A) (i), (ii), (iii)
(B) (i), (ii), (iv)
(C) (ii), (iii), (iv)
(D) (i), (iii), (iv)

प्रश्न 71. 25 विभिन्न संख्याओं का औसत 16 है। उसमें से 22, 35 और 13 को छोड़कर पुनः औसत ज्ञात करने पर प्राप्त होगा।
The average of 25 different numbers is 16. Out of that, excluding 22, 35 and 13 will be obtained after finding the average again.

(A) 14
(B) 15
(C) 16
(D) 17

प्रश्न 72. एक धनात्मक पूर्णांक का किसी धनात्मक पूर्णांक से किस संक्रिया के अंतर्गत ऋणात्मक परिणाम प्राप्त हो सकता है –
Under which operation a positive integer can get a negative result from a positive integer –

(A) भाग / division
(B) गुणन / multiplication
(C) घटाना / Subtraction
(D) जोड़ना / adding

प्रश्न 73. 4(-4)-(-4)-(-4)-(-4) = ?
(A) 4
(B) -4
(C) -8
(D) -12

प्रश्न 74. वह छोटी से छोटी संख्या क्या है, जो एक अंकीय सभी विषम संख्याओं से पूरी-पूरी विभाजित है –
What is the smallest number which is exactly divisible by all the odd numbers in one digit?

(A) 945
(B) 315
(C) 630
(D) 145

प्रश्न 75. जब 3447 को 22.5 से भाग दिया जाता है, तो भागफल प्राप्त होगा –
When 3447 is divided by 22.5, the quotient will be –

(A) 153.2
(B) 15.32
(C) 1532
(D) 1.532

प्रश्न 76. 3, 4, 5, 6 तथा 4, 5, 6, 7 की लघुत्तम समापवर्तक का अनुपात है –
The ratio of L.C. M. of 3, 4, 5, 6 and 4, 5, 6, 7 is –

(A) 1/6
(B) 1/7
(C) 5/6
(D) 3/7

प्रश्न 77. एक बस की चाल 72 किलोमीटर/घंटा है। बस 1 सेकंड में कितने मीटर चलती है –
The speed of a bus is 72 km/h. How many meters does the bus travel in 1 second?

(A) 2 मीटर
(B) 12 मीटर
(C) 1.2 मीटर
(D) 20 मीटर

प्रश्न 78. एक वस्तु ₹54 प्रति दर्जन में बेचा जाता है। इसकी लागत ₹5 प्रति वस्तु है। प्रतिशत में हानि ज्ञात कीजिए –
An article is sold for ₹ 54 per dozen. Its cost is ₹ 5 per item. Find the loss in percentage –

(A) 6%
(B) 8%
(C) 10%
(D) 12%

प्रश्न 79. √256 ÷ 42 = ?
(A) 0
(B) 1
(C) 4
(D) 16

प्रश्न 80. वह छोटी-से-छोटी संख्या क्या है, जिससे 49, 62 तथा 87 को भाग देने पर क्रमशः 1, 2 और 3 शेषफल प्राप्त होता है –
What is the least number which when divided by 49, 62 and 87 leaves remainder 1, 2 and 3 respectively?

(A) 3
(B) 6
(C) 9
(D) 12

यहाँ भी प्रैक्टिस करें

AISSEE सैनिक स्कूल प्रवेश परीक्षा कक्षा 6 | गणित प्रैक्टिस सेट 01 : प्रश्न क्रमांक 01 से 20

AISSEE सैनिक स्कूल प्रवेश परीक्षा कक्षा 6 | गणित प्रैक्टिस सेट 02 : प्रश्न क्रमांक 21 से 40

AISSEE सैनिक स्कूल प्रवेश परीक्षा कक्षा 6 | गणित प्रैक्टिस सेट 03 : प्रश्न क्रमांक 41 से 60

AISSEE सैनिक स्कूल प्रवेश परीक्षा कक्षा 6 | गणित प्रैक्टिस सेट 05 : प्रश्न क्रमांक 61 से 80

उत्तर कुंजी –

Q.No.Ans Q.No. Ans Q.No. Ans Q.No. Ans
61C66B71B76B
62B67C72C77D
63D68B73B78C
64B69D74B79B
65B70B75A80B

AISSEE सैनिक स्कूल प्रवेश परीक्षा कक्षा 6 | गणित प्रैक्टिस सेट 03 : परीक्षा उपयोगी 100 प्रश्नों का सीरीज प्रश्न क्रमांक 41 से 60

शिक्षा सत्र 2024-25 में सैनिक स्कूल कक्षा 6 में प्रवेश प्राप्त करने के लिए राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी (एनटीए) द्वारा 28.01.2024 (रविवार) को देश भर में स्थित विभिन्न परीक्षा केंद्रों पर अखिल भारतीय सैनिक स्कूल प्रवेश परीक्षा 2024 आयोजित करेगी।

300 अंकों की इस परीक्षा में गणित खण्ड से 150 अंकों के लिए 50 प्रश्न पूछे जाते हैं। इस लेख के माध्यम से सैनिक स्कूल गणित के अति महत्वपूर्ण 100 प्रश्नों की सीरीज को आगे बढ़ाते हुए प्रश्न क्रमांक 41 से 60 तक के 20 प्रश्नों के लिए इस श्रृंखला का यह तीसरा भाग आपकी प्रैक्टिस के लिए बहुत ही उपयोगी है तथा आशा है कि आपकी तैयारी में कुछ मददगार हो।

यादि आप इस सीरीज के पिछले “भाग 1”, “भाग 2”, “भाग 4” तथा “भाग 5” का भी प्रैक्टिस करना चाहते हैं, तो यहाँ क्लिक करें –

“प्रैक्टिस सेट भाग – 1”

“प्रैक्टिस सेट भाग – 2”

“प्रैक्टिस सेट भाग – 4”

“प्रैक्टिस सेट भाग – 5”

नोट –

सभी प्रश्न हिन्दी/English माध्यम में दिया गया है। सभी प्रश्नों के उत्तर कुंजी 60 वें प्रश्न के बाद दिया गया है।
ये प्रश्न नवोदय चयन परीक्षा के लिए भी उपयोगी है।

सैनिक स्कूल 20 महत्वपूर्ण प्रश्न –

प्रश्न 41. दो संख्याओं का गुणनफल 1352 है। यदि एक संख्या दूसरी का 1/8 है। छोटी संख्या जात कीजिए।
The product of two numbers is 1352. If one number is 1/8 of the other. Enter the smaller number.

(A) 26
(B) 2
(C) 8
(D) 13

प्रश्न 42. (कथन-1) अरेबिक संख्या पद्धति गुणनफल पर आधरित है। (कथन-2) रोमन संख्या पद्धति में संकेताक्षरों को जोड़ा तथा घटाया जाता है।
(A) कथन-1 सत्य तथा कथन-2 असत्य है
(B) दोनों कथन असत्य है
(C) कथन-1 असत्य तथा कथन-2 सत्य है
(D) दोनों कथन सत्य है
The Arabic number system is based on the product. (Statement-2) In Roman numeral system, abbreviations are added and subtracted.
(A) Statement-1 is true and Statement-2 is false
(B) Both the statements are false
(C) Statement-1 is false and Statement-2 is true
(D) Both the statements are true

प्रश्न 43. एक कोण का माप समकोण का आधा है। इसके संपूरक कोण का माप होगा ?
The measure of an angle is half of a right angle. What will be the measure of its supplementary angle?

(A) 30°
(B) 90°
(C) 135°
(D) 45°

प्रश्न 44. 422.15 – 1213.212 + 42.215 + 606.606 × 2 का मान क्या है ?
What is the value of 422.15 – 1213.212 + 42.215 + 606.606 × 2?

(A) 379.935
(B) 464.365
(C) 844.3
(D) 0

प्रश्न 45. 9.65 और 2.579 के अंतर से 2.263 और 3.521 के योग को घटाएं –
Subtract the sum of 2.263 and 3.521 from the difference of 9.65 and 2.579 –

(A) 1.287
(B) 1.305
(C) 2.705
(D) 1.35

प्रश्न 46. एक गोलाकार टंकी जिसकी व्यास 2.1 मीटर तथा ऊँचाई 3 मीटर है, और पानी से पूरा भरा हुआ है। टैंक में भरे हुए पानी लीटर में है।
A circular tank whose diameter is 2.1 m and height is 3 m, and is completely filled with water. The water filled in the tank is in litres.

(A) 10395
(B) 103950
(C) 1039.5
(D) 1039500

प्रश्न 47. निम्न आकृति की परिमाप ज्ञात कीजिए –
Find the perimeter of the following figure –

(A) 105 से.मी.
(B) 80 से.मी.
(C) 55 से.मी.
(D) 42 से.मी.

प्रश्न 48. निम्न में से कौन-सा भिन्न सबसे छोटी है-
Which of the following fraction is the smallest?

(A) 5/8
(B) 13/20
(C) 23/40
(D) 3/4

प्रश्न 49. रुपये 2640 की राशि के लिए ब्याज के रूप में रुपये 165 पाने के लिए यदि समय 30 माह हो, तो वार्षिक साधारण ब्याज की दर होगा ?
If the time taken to get Rs 165 as interest for an amount of Rs 2640 is 30 months, then the rate of simple interest per annum will be?

(A) 5%
(B) 2.5%
(C) 6.25%
(D) 3.5%

प्रश्न 50. 1/12 घण्टा, 1/4 घण्टा, 1/6 घण्टा, तथा 1/10 घण्टा। इन सभी का योग होगा-
1/12 hour, 1/4 hour, 1/6 hour, and 1/10 hour. The sum of all these will be-

(A) 32 मिनट/Minute
(B) 34 मिनट/Minute
(C) 36 मिनट/Minute
(D) 38 मिनट/Minute

प्रश्न 51. एक चतुर्भुज के कोण ABCD का अनुपात क्रमशः 1 : 4 : 2 : 5 है, यदि कोण D का मान 150° है, तो कोण A और C के माप का योग ज्ञात कीजिए।
The ratio of angle ABCD of a quadrilateral is 1 : 4 : 2 : 5 respectively, if the value of angle D is 150°, then find the sum of the measures of angles A and C.

(A) 90°
(B) 60°
(C) 150°
(D) 180°

प्रश्न 52. निम्नलिखित में से कौन-सी रोमन संख्या गलत है ?
Which of the following Roman numbers is incorrect?

(A) MD
(B) CX
(C) DM
(D) XC

प्रश्न 53. एक वृत्त का व्यास 14 से.मी. है, इसका क्षेत्रफल ज्ञात कीजिए –
The diameter of a circle is 14 cm. Find its area –

(A) 144 से.मी.2
(B) 154 से.मी.2
(C) 616 से.मी.2
(D) 304 से.मी.2

प्रश्न 54. एक आदमी अपने कुल यात्रा 180 कि.मी. का 1/3 भाग 45 किमी/घंटे, 1/5 भाग 72 किमी/घंटे, 1/6 भाग 90 किमी/घंटे तथा शेष भाग 60 किमी/घंटे पर पूरा करता है। उसकी औसत चाल लगभग है।
A man covers his total journey 180 kms. It covers 1/3 part at 45 km/h, 1/5 part at 72 km/h, 1/6 part at 90 km/h and the remaining part at 60 km/h. His average speed is approx.

(A) 72 किमी/घंटा km/h
(B) 60 किमी/घंटा km/h
(C) 90 किमी/घंटा km/h
(D) 45 किमी/घंटा km/h

प्रश्न 55. जब 1313.13 को 13 से भाग दें, तो भागफल ज्ञात कीजिए।
When 1313.13 is divided by 13, find the quotient.

(A) 11.1
(B) 101.1
(C) 11.01
(D) 101.01

प्रश्न 56. संख्या N का वर्ग तथा N का अंतर N के 8 गुना के बराबर है, तो N का मान है-
The square of a number N and the difference of N is equal to 8 times that of N, then the value of N is-

(A) 16
(B) 10
(C) 8
(D) 9

प्रश्न 57. 22 मीटर लंबाई और 13 मीटर चौड़ाई की एक हॉल के फर्श 50 सेमी के वर्गाकार टाइल द्वारा ढका हुआ है। इस सड़क को बनाने के लिए उपयोग की जाने वाली टाइलों की संख्या ज्ञात कीजिए –
The floor of a hall of length 22 m and breadth 13 m is covered by 50 cm square tiles. Find the number of tiles used to build this road.

(A) 1430
(B) 1140
(C) 1144
(D) 1340

प्रश्न 58. दो पूरक कोणों में एक कोण दूसरे का 1/4 है। दोनों कोणों में छोटे कोण का मान है-
Among two complementary angles, one angle is 1/4 of the other. The value of the smaller of the two angles is

(A) 18°
(B) 72°
(C) 36°
(D) 45°

प्रश्न 59. 162 – 600 का 0.27 = ?
162 – 600 Of 0.27 = ?

(A) 0
(B) 162
(C) 224
(D) 27

प्रश्न 60. मोनू, राजेश और रमन का कुल भार 82.65 किग्रा है। यदि मोनू और राजेश का भार 50.3 किग्रा तथा राजेश और रमन का भार 56.5 किग्रा है, तो राजेश का भार ज्ञात कीजिए ।
The total weight of Monu, Rajesh and Raman is 82.65 kg. If the weight of Monu and Rajesh is 50.3 kg and that of Rajesh and Raman is 56.5 kg, then find the weight of Rajesh.

(A) 32.35 किग्रा kg
(B) 26.15 किग्रा kg
(C) 24.15 किग्रा kg
(D) 30.35 किग्रा kg

यहाँ भी प्रैक्टिस करें

AISSEE सैनिक स्कूल प्रवेश परीक्षा कक्षा 6 | गणित प्रैक्टिस सेट 01 : प्रश्न क्रमांक 01 से 20

AISSEE सैनिक स्कूल प्रवेश परीक्षा कक्षा 6 | गणित प्रैक्टिस सेट 02 : प्रश्न क्रमांक 21 से 40

AISSEE सैनिक स्कूल प्रवेश परीक्षा कक्षा 6 | गणित प्रैक्टिस सेट 04 : प्रश्न क्रमांक 61 से 80

AISSEE सैनिक स्कूल प्रवेश परीक्षा कक्षा 6 | गणित प्रैक्टिस सेट 05 : प्रश्न क्रमांक 81 से 100

उत्तर कुंजी –

Q.No.Ans Q.No. Ans Q.No. Ans Q.No. Ans
41D46A51A56D
42D47C52C57C
43C48C53B58C
44B49B54B59A
45A50C55D60C

AISSEE सैनिक स्कूल प्रवेश परीक्षा कक्षा 6 | गणित प्रैक्टिस सेट 02 : परीक्षा से पहले 100 प्रश्नों का सीरीज

यह प्रैक्टिस सीरीज सैनिक स्कूल प्रवेश परीक्षा 2024 को ध्यान में रखकर 28.01.2024 (रविवार) को आयोजित होने वाली कक्षा 6 वीं के लिए प्रवेश परीक्षा की तैयारी हेतु गणित के अति महत्वपूर्ण 100 प्रश्नों की श्रृंखला के रूप में तैयार किया जा रहा है। इस श्रृंखला का यह दूसरा भाग आपकी प्रैक्टिस के लिए बहुत ही उपयोगी सिद्ध होने वाली प्रश्नों को समावेश करके तैयार किया गया है।

आज के इस भाग में प्रश्न क्रमांक 21 से 40 तक कुल 20 प्रश्न दिया गया है। यादि आप इस सीरीज के पहले भाग के प्रश्न क्रमांक 01 से 20 का प्रैक्टिस नहीं किया है, तो यहाँ क्लिक करें “भाग एक” या इस टेस्ट अन्त में लिंक दिया गया है वहाँ से भी आप “भाग एक” में प्रवेश कर सकते हैं।

यादि आप इस सीरीज के पिछले “भाग 1”, “भाग 3”, “भाग 4” तथा “भाग 5” का भी प्रैक्टिस करना चाहते हैं, तो यहाँ क्लिक करें –

“प्रैक्टिस सेट भाग – 1”

“प्रैक्टिस सेट भाग – 3”

“प्रैक्टिस सेट भाग – 4”

“प्रैक्टिस सेट भाग – 4”

नोट –
सभी प्रश्न हिन्दी/English माध्यम में दिया गया है। सभी प्रश्नों के उत्तर कुंजी 40 वें प्रश्न के बाद दिया गया है।
ये प्रश्न नवोदय चयन परीक्षा के लिए भी उपयोगी है।

सैनिक स्कूल 20 महत्वपूर्ण प्रश्न –

  1. श्याम, मोहित, रमन, रहिम और रोहित किसी कार्य को पूरा करने पर रु. 30118 मिले। आपस में समान रूप से बाँटने के बाद कितने रुपये बचे थे.
    Shyam, Mohit, Raman, Rahim and Rohit get Rs. 30118 found. How much money was left after dividing it equally amongst themselves.

    (A) रु. 623
    (B) रु. 18
    (C) रु. 8
    (D) रु. 3
  1. एक किसान बैक से ₹ 940 का ऋण साधारण ब्याज पर उतने ही वर्षों के लिए लिया जितनी ब्याज दर है। यदि उसने ₹ 235 का ब्याज ऋण अवधि के अंत में दिया, तो ब्याज दर कितनी थी ?
    A loan of ₹ 940 was taken from a Kisan Bank at simple interest for the same number of years as the rate of interest. If he paid an interest of ₹ 235 at the end of the loan tenure, what was the rate of interest?

    (A) 2.6
    (B) 4.7
    (C) 7
    (D) 5
  1. 5 दर्जन केलों की कीमत 72 रुपये है। 20.40 रुपये में कितने केले खरीदे जा सकते हैं?
    The cost of 5 dozen bananas is Rs.72. How many bananas can be bought for Rs 20.40?

    (A) 72
    (B) 17
    (C) 27
    (D) 37
  1. एक वर्गाकार कागज जिसकी भुजा 15 से.मी. है, को बराबर दो भागों में काट कर दो आयत बना दिया जाता है। दोनों आयतों का परिमाप होगा –
    A square paper whose side is 15 cm. It is cut into two equal parts to form two rectangles. The perimeter of both the rectangles will be –

    (A) 60 से.मी. CM
    (B) 75 से.मी. CM
    (C) 90 से.मी. CM
    (D) 65 से.मी. CM
  1. 9 संख्याओं का औसत 15.15 है तथा 11 संख्याओं का औसत 17.65 है। सभी संख्याओं का औसत ज्ञात कीजिए?
    The average of 9 numbers is 15.15 and that of 11 numbers is 17.65. Find the average of all the numbers?

    (A) 16.161
    (B) 16.0525
    (C) 16.525
    (D) 16.565
  1. यदि 60 का 25% किसी संख्या के 15% के बराबर होता है, तो वह संख्या होगी –
    If 25% of 60 is equal to 15% of a number, then that number will be –

    (A) 100
    (B) 75
    (C) 85
    (D) 90
  1. एक आयताकार खेत के चारों ओर 5 तह में कांटे की तार लगाना है जिसकी लंबाई 40 मीटर और चौड़ाई 28 मीटर है तथा दूसरी 38 मीटर भुजा वाले वर्गाकार खेत के चारों ओर 4 तह में कांटे की तार लगाना है, तो कौन से खेत में कम कांटे की तार लगेगी और कितना।
    A barbed wire is to be installed in 5 folds around a rectangular field whose length is 40 meters and width is 28 meters and the barbed wire is to be installed in 4 folds around a square field of side 38 meters, then which field has less thorns? What wire will it take and for how much?

    (A) आयताकार, 88 मीटर rectangular, 88 m
    (B) आयताकार, 72 मीटर rectangular, 72 m
    (C) वर्गाकार, 88 मीटर square, 88 m
    (D) वर्गाकार, 72 मीटर square, 72 m
  1. एक कमरे की चौड़ाई से.मी. में ज्ञात कीजिए जिसका क्षेत्रफल 133 वर्ग मी, तथा लम्बाई 14 मी. है।
    Width of a room in cm Find the area whose area is 133 sq m and the length is 14 m. Is.

    (A) 1400
    (B) 950
    (C) 900
    (D) 1330
  1. एक त्रिभुज के तीनों कोणों का माप 60 60 60 है, त्रिभुज है-
    The measure of the three angles of a triangle is 60 60 60, the triangle is-

    (A) समकोण त्रिभुज right angled triangle
    (B) समबाहु त्रिभुज Equilateral triangle
    (C) अधिककोण त्रिभुज obtuse triangle
    (D) विषमबाहु त्रिभुज scalene triangle
  1. A संख्या रेखा पर -12 के स्थान पर है तथा B, A से 3 स्थान कम पर है। B का स्थान है –
    A is at -12 position on the number line and B is 3 places less than A. B’s position is –

    (A) – 15
    (B) – 9
    (C) – 10
    (D) – 14
  1. एक शून्येत्तर पूर्ण संख्या और उसके दो उत्तरवर्ती का गुणनफल हमेशा होता है-
    The product of a non-zero whole number and its two successors is always:

    (A) 3 से विभाज्य divisible by 3
    (B) 6 से विभाज्य divisible by 6
    (C) एक सम संख्या an even number
    (D) उपर्युक्त सभी All of the above
  1. एक आयताकार बगीचा 130 मी. लंबा और 110 मी. चौड़ा है। इसके बीच में 110 मी. लंबा और 90 मी. चौड़ा एक तरणताल है। शेष हिस्से का क्षेत्रफल है-
    A rectangular garden is 130 m. long and 110 m. is wide. 110 m in the middle of it. long and 90 m. There is a wide swimming pool. The area of ​​the remaining part is-

    (A) 11700 वर्ग मी. sq. m.
    (B) 1430 वर्ग मी. sq. m.
    (C) 12100 वर्ग मी. sq. m.
    (D) 4400 वर्ग मी. sq. m.
  1. एक राशि 3.5 साल में 7% की दर से रघ् 1837.5 का साधारण ब्याज देती है, राशि क्या है?
    A sum of money gives simple interest of Rs 1837.5 at the rate of 7% in 3.5 years, what is the amount?

    (A) ₹ 7050
    (B) ₹ 5370
    (C) ₹ 7500
    (D) ₹ 7530
  1. नीचे तालिका तीन व्यक्तियों के तीन महिनों का आय दर्शाया गया है। इस तालिका की जानकारी का प्रयोग कीजिए और निम्नलिखित के उत्तर दीजिए :
    किन तो व्यक्तियों का औसत आय अधिक है-
    The table below shows the income of three persons for three months. Use the information in this table and answer the following :
    Which of the following persons have higher average income?

    person……jan……february…….march
    A ………….350 ………180 ………. 350
    B ………….610 ………150 ………. 110
    C ………….190 ………490 ………. 180
    (A) B और C, B and C
    (B) A और C, A and C
    (C) A और B, A and B
    (D) कोई नहीं, none
  1. जब घड़ी 1 बजे का समय होता है, तो घंटा एवं मिनट के सुईयों का कोण मान होता है-
    When the time of the clock is 1 o’clock, then the angle value of the hour and minute hands is-

    (A) 15°
    (B) 45°
    (C) 60°
    (D) 30°
  1. त्रिभुज A, B, C में कोण C का मान क्या होगा-
    What will be the value of angle C in triangle A, B, C?

    (A) 35°
    (B) 45°
    (C) 25°
    (D) 15°
  1. 8 से.मी. भुजा की एक घन को काटकर 8 घन से.मी. आयतन वाले कितने घन बनाए जा सकते हैं-
    8 cm By cutting a cube of side 8 cubic cm. How many cubes of volume can be made-

    (A) 32
    (B) 64
    (C) 8
    (D) 16
  1. एक बड़े घन का भुजा 12 सेमी है। उसके सभी पृष्ठों को पॉलिस से रंगा गया है। इससे प्रत्येक 3 सेमी भाग के छोटे-छोटे घन काटे जाते हैं। कम-से-कम एक पृष्ठ में पॉलिस लगा हुआ कितने छोटे घन बनेंगे ?
    The side of a large cube is 12 cm. All its pages are painted with police. From this small cubes of 3 cm each are cut. How many small cubes will be made with at least one surface polished?

    (A) 26
    (B) 27
    (C) 1
    (D) 54
  1. रोमन अंक CDXCIX को अरबीक अंक में लिखिए –
    Write the Roman numeral CDXCIX in Arabic numeral –

    (A) 589
    (B) 489
    (C) 499
    (D) 449
  1. एक हेक्टोमीटर बराबर होता है-
    One hectometer is equal to-

    (A) 1000 से.मी., CM
    (B) 10000 से.मी., CM
    (C) 100 से.मी., CM
    (D) 100000 से.मी., CM

यहाँ भी प्रैक्टिस करें

AISSEE सैनिक स्कूल प्रवेश परीक्षा कक्षा 6 | गणित प्रैक्टिस सेट 01 : प्रश्न क्रमांक 01 से 20

AISSEE सैनिक स्कूल प्रवेश परीक्षा कक्षा 6 | गणित प्रैक्टिस सेट 03 : प्रश्न क्रमांक 41 से 60

AISSEE सैनिक स्कूल प्रवेश परीक्षा कक्षा 6 | गणित प्रैक्टिस सेट 04 : प्रश्न क्रमांक 61 से 80

AISSEE सैनिक स्कूल प्रवेश परीक्षा कक्षा 6 | गणित प्रैक्टिस सेट 04 : प्रश्न क्रमांक 61 से 80

उत्तर कुंजी –

Q.No.Ans Q.No. Ans Q.No. Ans Q.No. Ans
21D26A31D36C
22D27D32D37B
23B28B33C38A
24C29B34C39C
25C30A35D40B

AISSEE सैनिक स्कूल प्रवेश परीक्षा एवं नवोदय प्रवेश परीक्षा कक्षा 6 गणित प्रैक्टिस सेट 01 : परीक्षा से पहले इन 20 प्रश्नों का कर लें तैयारी |

28.01.2024 (रविवार) को देश भर में सैनिक स्कूल प्रवेश परीक्षा 2024 आयोजित होने जा रही है। परीक्षा की तैयारी तथा सफलता के लिए बार-बार प्रैक्टिस होना बहुत ही जरूरी है। प्रैक्टिस का महत्व तब और अधिक बढ़ जाता है जब परीक्षार्थी मजबूती से तैयारी कर रहा हो तथा प्रैक्टिस पेपर परीक्षा उपयोगी हो।

ऐसे ही इस लेख में गणित भाग से संभावित 20 महत्वपूर्ण प्रश्नों को लेकर आएँ हैं। परीक्षार्थी इन प्रश्नों का तैयारी अच्छी तरह से कर लें तथा आने वाली परीक्षा के लिए मजबूती से तैयार रहें। यह प्रश्न नवोदय तैयारी करने वाले बच्चों के लिए भी बेहद उपयोगी है।

नोट –
सभी प्रश्न हिन्दी/English माध्यम में दिया गया है। सभी प्रश्नों के उत्तर कुंजी 20 वें प्रश्न के बाद दिया गया है।
ये प्रश्न नवोदय चयन परीक्षा के लिए भी उपयोगी है।

यादि आप इस सीरीज के पिछले “भाग 2”, “भाग 3”, “भाग 4” तथा “भाग 5” का भी प्रैक्टिस करना चाहते हैं, तो यहाँ क्लिक करें –

“प्रैक्टिस सेट भाग – 2”

“प्रैक्टिस सेट भाग – 3”

“प्रैक्टिस सेट भाग – 4”

“प्रैक्टिस सेट भाग – 5”

सैनिक स्कूल 20 महत्वपूर्ण प्रश्न –

प्रश्न 1. अंक 8, 3, 4, 1, 5 प्रत्येक का केवल एक बार प्रयोग करके लिखी जा सकने वाली सबसे बड़ी और सबसे छोटी सम संख्या के बीच का अंतर ज्ञात कीजिए-
Find the difference between the largest and the smallest even number that can be written using the digits 8, 3, 4, 1, 5 each only once.

(A) 71973
(B) 71856
(C) 72730
(D) 71730

प्रश्न 2. सरल कीजिए simplify
9+3-2×(2×3)+84÷2+(72÷6+7×3-9)+6 = ?

(A) 84
(B) 0
(C) 72
(D) 1

प्रश्न 3. प्रत्येक संख्या को निकटतम सैकड़ा में पूर्णांकित करके गुणनफल 1234 × 567 का अनुमान लगाएं.
Estimate the product 1234 × 567 by rounding each number to the nearest hundred.

(A) 72000
(B) 600000
(C) 60000
(D) 720000

प्रश्न 4. एक कार्यालय में 15 कर्मचारियों का औसत वेतन 255 रुपये है तथा शेष 6 कर्मचारियों का 374 रुपये है। कार्यालय के सभी कर्मचारियों का औसत वेतन ज्ञात कीजिए-
The average salary of 15 employees in an office is Rs 255 and that of remaining 6 employees is Rs 374. Find the average salary of all the employees of the office-

(A) ₹ 299
(B) ₹ 298
(C) ₹ 289
(D) ₹ 288

प्रश्न 5. तीन संख्याएँ 2 : 3 : 4 के अनुपात में हैं और उनका ल.स. (L.C.M.) 300 है। उनका म.स. (H.C.F.) है.
Three numbers are in the ratio 2 : 3 : 4 and their L.C.M. is 300. His H.C.F. is.

(A) 25
(B) 50
(C) 35
(D) 30

प्रश्न 6. एक मैच में 6 खिलाड़ियों के रनों का औसत 37 है। यदि उनमें से 5 द्वारा बनाए गए रन क्रमशः 11, 37, 22, 50, तथा 44 हैं, तो छठवें खिलाडी़ द्वारा बनाए गए रन ज्ञात कीजिए।
The average of runs of 6 players in a match is 37. If the runs scored by 5 of them are 11, 37, 22, 50, and 44 respectively, then find the runs scored by the sixth player.

(A) 48
(B) 58
(C) 21
(D) 41

प्रश्न 7. गोलू अपने ₹ 100 का ₹ 25 खर्च करता है। देव अपने ₹ 150 का 1/6 खर्च करता है। गोलू और देव के खर्च का अनुपात है –
Golu spends ₹ 25 of his ₹ 100. Dev spends 1/6 of his ₹ 150. The ratio of expenditure of Golu and Dev is –

(A) 1 : 6
(B) 5 : 6
(C) 6 : 5
(D) 1 : 1

प्रश्न 8. सरल कीजिए simplify
(-6+7+9)×(-5+9)×16-8 = ?

(A) -320
(B) -632
(C) 320
(D) 632

प्रश्न 9. (√16/√25 × 25/16 ÷ 4/√256) किस के बराबर है –
(√16/√25 × 25/16 ÷ 4/√256) is equal to –

(A) 4
(B) 5
(C) 25
(D) 16

प्रश्न 10. सरल कीजिए simplify
1.5 ÷ 0.5 × 7.5 ÷ 0.5-0.4 = ?

(A) 44.4
(B) 4.46
(C) 44.6
(D) 4.44

प्रश्न 11. पेड़ पर झूला बांधने के लिए प्रांजल ने 4 मीटर 25 सेंटीमीटर रस्सी लाया तथा उज्जवल ने 5.5 मीटर रस्सी लाया। कुल रस्सी की लंबाई ज्ञात कीजिए।
To tie the swing on the tree, Pranjal brought 4 meters 25 cm rope and Ujjwal brought 5.5 meters rope. Find the total rope length.

(A) 9.30 मीटर meters
(B) 14.25 मीटर meters
(C) 9.75 मीटर meters
(D) 10.25 मीटर meters

प्रश्न 12. 4, 11, 18, 25, 32, 39, 46 का औसत है-
The average of 4, 11, 18, 25, 32, 39, 46 is-

(A) 25
(B) 26
(C) 25.5
(D) 26.5

प्रश्न 13. एक बस 6 घंटे में 35 किमी/घंटा की गति से एक निश्चित दूरी तय करता है। उसी दूरी को 4.2 घंटे में तय करने के लिए, उसे कितनी गति से यात्रा करनी चाहिए?
A bus covers a certain distance in 6 hours at the speed of 35 km/h. At what speed should he travel to cover the same distance in 4.2 hours?

(A) 45 कि.मी./घं km/h
(B) 42 कि.मी./घं km/h
(C) 55 कि.मी./घं km/h
(D) 50 कि.मी./घं km/h

प्रश्न 14. यदि A का P% 36 है तथा B का P% 27 है, तो A और B के बीच संबंध ज्ञात कीजिए।
If P% of A is 36 and that of B is 27, then find the relation between A and B.

(A) 3A = 4B
(B) A = B
(C) 4A = 3B
(D) 2A = 3B

प्रश्न 15. 6, 7 और 18 का लघुत्तम समापवर्त्य है-
The least common common of 6, 7 and 18 is-

(A) 121
(B) 144
(C) 126
(D) 108

प्रश्न 16. किसी संख्या के 2/3 वें के एक-चौथाई का एक तिहाई 16 है। उस संख्या का 25% कितना होगा ?
One-third of one-fourth of 2/3 of a number is 16. What will be 25% of that number?

(A) 72
(B) 48
(C) 192
(D) 288

प्रश्न 17. A किसी काम को 12 दिनों में कर सकता है और B उसी काम को 9 दिनों में कर सकता है। C की मदद से उन्होंने 3 दिनों में ही काम पूरा कर लिया। तो C अकेला उस कार्य को कितने दिनों में कर सकता है?
A can do a piece of work in 12 days and B can do the same work in 9 days. With the help of C, he completed the work in 3 days. Then in how many days can C alone do the work?

(A) 7 दिन days
(B) 7.2 दिन days
(C) 7.5 दिन days
(D) 7.8 दिन days

प्रश्न 18. एक बाजार में औसतन 310 ग्राहक रविवार को और 217 अन्य दिन आते हैं। रविवार से शुरू होने वाले 31 दिन के महीने में ग्राहकों की औसत संख्या कितनी होगी ?
An average of 310 customers visit a market on Sundays and 217 on other days. What will be the average number of customers in the 31 day month starting from Sunday?

(A) 232
(B) 222
(C) 230
(D) 236

यहाँ भी प्रैक्टिस करें

AISSEE सैनिक स्कूल प्रवेश परीक्षा कक्षा 6 | गणित प्रैक्टिस सेट 01 : प्रश्न क्रमांक 01 से 20

AISSEE सैनिक स्कूल प्रवेश परीक्षा कक्षा 6 | गणित प्रैक्टिस सेट 02 : प्रश्न क्रमांक 21 से 40

AISSEE सैनिक स्कूल प्रवेश परीक्षा कक्षा 6 | गणित प्रैक्टिस सेट 03 : प्रश्न क्रमांक 41 से 60

AISSEE सैनिक स्कूल प्रवेश परीक्षा कक्षा 6 | गणित प्रैक्टिस सेट 04 : प्रश्न क्रमांक 61 से 80

प्रश्न 19. आकृति में, वृत्त के अंदर वर्गों की संख्या का वृत्त के अंदर तारों की संख्या तथा त्रिभूजों की संख्या का वृत्त के अंदर की सभी आकृतियों की संख्या से अनुपात ज्ञात कीजिए.
In the figure, find the ratio of the number of squares inside the circle to the number of stars inside the circle and the number of triangles to the number of all the figures inside the circle.

(A) 5/3, 4/12
(B) 3/5, 4/12
(C) 4/5, 3/12
(D) 5/3, 3/12

प्रश्न 20. एक बल्लेबाज 13वें मैच में शतक के स्कोर पर आउट हो जाता है और इस प्रकार उसका औसत 5 बढ़ जाता है। 13वें मैच से पहले उसका औसत ज्ञात कीजिए।
A batsman gets out on the score of a century in the 13th match and thus increases his average by 5. Find his average before the 13th match.

(A) 35
(B) 37
(C) 38
(D) 40

उत्तर कुंजी –

Q.No.Ans Q.No. Ans Q.No. Ans Q.No. Ans
01B06B11C16A
02C07D12A17B
03D08D13D18A
04C09B14C19B
05A10C15C20A

सैनिक स्कूल ऑनलाइन एप्लीकेशन फॉर्म भरने की अंतिम तिथि बढ़ी, अब विद्यार्थी 20 दिसंबर तक आवेदन कर सकते हैं।

सार्वजनिक सूचना 15.11.2023

अखिल भारतीय सैनिक स्कूल प्रवेश परीक्षा (AISSEE)-2024 के लिए परीक्षा तिथि का पुनर्निर्धारण और ऑनलाइन आवेदन जमा करने की अंतिम तिथि बढ़ाई गई है।

कुछ प्रमुख राष्ट्रीय परीक्षाओं और 21 जनवरी, 2024 को आयोजित होने वाली अखिल भारतीय सैनिक स्कूल प्रवेश परीक्षा (AISSEE)-2024 के बीच टकराव और उसके कारण होने वाली कठिनाइयों के कारण, AISSEE-2024 को 28.01.2024 (रविवार) को पूरे देश में पुनर्निर्धारित करने का निर्णय लिया गया है।

परीक्षा की संशोधित तिथि इस प्रकार है

पुरानी दिनांक21.01.2024 (रविवार)
संशोधित तिथि28.01.2024 (रविवार)
(AISSEE)-2024 परीक्षा की संशोधित तिथि

ऑनलाइन आवेदन पत्र जमा करने की अंतिम तिथि

अखिल भारतीय सैनिक स्कूल प्रवेश परीक्षा (AISSEE)-2024 के लिए ऑनलाइन आवेदन पत्र जमा करने की अंतिम तिथि बढ़ाने का भी निर्णय लिया गया है, जिससे इच्छुक उम्मीदवार उक्त परीक्षा के लिए आवेदन कर सकेंगे। शेड्यूल इस प्रकार है:

पुरानी दिनांक16.12.2023 (शाम 05:00 बजे तक)
संशोधित तिथि20.12.2023 (शाम 05:00 बजे तक)
(AISSEE)-2024 के लिए ऑनलाइन आवेदन पत्र जमा करने की अंतिम तिथि

आवेदन पत्र ऑनलाइन जमा करे वेबसाइट के माध्यम से https://exams.nta.ac.in/AISSEE/

ऑनलाइन शुल्क भुगतान की अंतिम तिथि

पुरानी दिनांक16.12.2023 (रात 11:50 बजे तक)
संशोधित तिथि20.12.2023 (शाम 05:00 बजे तक)
(AISSEE)-2024 के लिए ऑनलाइन शुल्क भुगतान की अंतिम तिथि

सुधार विंडो

पुरानी दिनांक18.12.2023 से 20.12.2023
संशोधित तिथि22.12.2023 से 24.12.2023
(AISSEE)-2024 के लिए ऑनलाइन सुधार विंडो

परीक्षा की तारीख

पुरानी दिनांक21.01.2024 (रविवार)
संशोधित तिथि28.01.2024 (रविवार)
(AISSEE)-2024 के लिए ऑनलाइन आवेदन पत्र जमा करने की अंतिम तिथि

नवोदय प्रवेश पत्र डाऊनलोड करने की पूरी प्रक्रिया कक्षा 6 2024 | Download Navodaya Admit Card Class 6th 20 January 2024 (Complete Process)

नवोदय प्रवेश परीक्षा कक्षा 6 का एडमिट कार्ड जारी हो चुका है। निचे दिए गए लिंक से डाऊनलोड कर सकते हैं। प्रवेश-पत्र डाऊनलोड करने की पूरी प्रक्रिया यहाँ दिया जा रहा है।
डाऊनलोड करने के लिए “रजिस्ट्रेशन नंबर” तथा “जन्म तिथि” जरूरत पड़ेगी।

 निचे दिए गए चित्र अनुसार निर्धारित स्थान (पहले बाक्स) पर अपना रजिस्ट्रेशन नंबर सावधानी पूर्वक भरें, कोई गलती न हो इस हेतु दोबारा जांच कर लें।

दूसरे बाक्स पर “जन्म तिथि” को भरने के लिए बाक्स के सम्मुख दिए गए ई-कैलेण्डर पर क्लीक करें तथा वर्ष, माह, तारीख का सही-सही चयन करें।

तीसरे स्टेप में तीसरे बाक्स पर दिए गए कैप्चा के मैथ्स को हल करके उसका केवल उत्तर ही निर्धारित बाक्स पर भरें।

अन्त में निचे दिए गए SIGN IN बटन पर क्लिक कर थोड़ा इन्तजार करें।
आपका प्रवेश पत्र ओपन हो जाएगा। जिसका प्रिन्ट आउट लें या PDF में सुरक्षित कर लें।

प्रवेश पत्र डाऊनलोड करेंCLICK HERE
Navodaya Prep Mobile AppCLICK HERE

Navodaya Tricky Question Solve in less then 10 Sec, Navodaya Short Tricks | नवोदय के ऐसे प्रश्न को हल करें मात्र 10 सेकेण्ड में

विभिन्न परीक्षाओं में गणित के कुछ ऐसे ट्रिकी प्रश्न होते है जिसे हल करने तो बहुत ही आसान होते हैं किन्तु सही फार्मूले या तरीके की जानकारी नहीं होने की स्थिति में ऐसे प्रश्न परीक्षार्थियों को उल्झाते हैं तथा अधिक समय लेकर परीक्षा को प्रभावित भी करते हैं।

इस लेख में जवाहर नवोदय विद्यालय प्रवेश की तैयारी करने वाले विद्यार्थियों के लिए कुछ ऐसे ही ट्रिकी प्रश्न दिया गया है। इस लेख को पढ़ने के बाद इस तरह नवोदय किसी भी प्रश्न को आप सेकेण्डों में हल कर सही उत्तर पर पहुंच सकते हैं।

ऐसे ही एक प्रश्न उदाहरण के साथ निचे दिया गया है तथा उसके हल करने के सरलतम तरीके का व्याख्या सहित हल दिये जा रहे हैं। इसे समझकर सबसे निचे दो प्रश्न और दिये गए हैं उसे हल करें तथा अपने उत्तर की जांच करें कि आप ऐसे प्रश्नों का हल कर पा रहे हैं या नहीं।

उदाहरण के प्रश्न –

प्रश्न 1. दो संख्याओं का योग 216 है तथा उनका म.स. (HCF) 18 है। ऐसे कितने जोड़े बनाए जा सकते हैं –
(A) 2
(B) 4
(C) 6
(D) 8

व्याख्या सहित हल

सबसे पहले 216 को 18 (HCF) से भाग करें।
216 ÷ 18 = 12
अब प्राप्त भागफल 12 को संभव जोड़े में बांटने है।
जैसे –
6 + 6
5 + 7
4 + 8
3 + 9
2 + 10
1 + 11
इस तरह 12 के 6 जोड़े बनते हैं। इन 6 जोड़े में ऐसे जोड़े की संख्या को गिन लें जो 1 को छोड़कर किसी भी संख्या से पूरी-पूरी विभाजित नहीं हो सकते।

जैसे –

6 + 6 (दोनों संख्या 6 से विभाजित है)
5 + 7 (दोनों संख्या विभाजित नहीं है)
4 + 8 (दोनों संख्या 2, 4 से विभाजित है)
3 + 9 (दोनों संख्या 3 से विभाजित है)
2 + 10 (दोनों संख्या 2 से विभाजित है)
1 + 11 (दोनों संख्या विभाजित नहीं है)

इस तरह 5 + 7 तथा 1 + 11 दो जोड़े ही ऐसे हैं जिनको 1 को छोड़कर किसी भी संख्या से पूरी-पूरी विभाजित नहीं हो सकते। अतः उपर्युक्त प्रश्न का सही विकल्प 2 होगा।

उपरोक्त प्रश्न के व्याख्या सहित हल के आधार पर निचे दिये गये दोनों प्रश्नों को हल करें तथा उत्तर की जांच करें

प्रश्न 2. दो संख्याओं का योग 162 है तथा उनका म.स. (HCF) 18 है। ऐसे कितने जोड़े बनाए जा सकते हैं –
(A) 1
(B) 2
(C) 3 Ans
(D) 4

प्रश्न 3. दो संख्याओं का योग 208 है तथा उनका म.स. (HCF) 16 है। ऐसे कितने जोड़े बनाए जा सकते हैं –
(A) 2
(B) 4
(C) 6 Ans
(D) 8

अशाब्दिक मानसिक योग्यता (Nonverbal mental ability) के इस प्रश्न में जांचें अपनी मानसिक क्षमता | 12 सेकेंड में दें इसका उत्तर और ……

दिए गए मानसिक योग्यता के यह प्रश्न चित्र में अशाब्दिक मानसिक योग्यता (Nonverbal mental ability) को जांचने के लिए विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में उपयोग किया जाता है।

ऐसे प्रश्नों का ज्ञान रखना बहुत ही उपयोगी एवं जरूरी है क्योंकि हमारे दैनिक जीवन में ऐसे अशाब्दिक मानसिक योग्यता (Nonverbal mental ability) के विभिन्न पैटर्न के प्रश्न हमें प्रतियोगी परीक्षाओं में हल करना होता है।

यहां दिए गए मानसिक योग्यता के प्रश्न दर्पण प्रतिबिंब या दर्पण चित्र (Mirror object) पर आधारित है। दिए गए चित्र में प्रश्न चित्र के सम्मुख एक दर्पण संकेत के माध्यम से x एवं y अक्षय के रूप में यह पूछा गया है कि प्रश्न चित्र को यदि सम्मुख दिए गए दर्पण पर प्रतिबिंब के रूप में देखा जाए तो नीचे दिये गए चार संभावित उत्तर चित्र में से प्रश्न चित्र में दिए गए चित्र का दर्पण चित्र कौन-सी उत्तर चित्र के समान होगा।

इस प्रकार आप इस प्रश्न का उत्तर 12 सेकंड में दे देते हैं तो आप बहुत ही बुद्धिमान हैं और आपकी तर्कशक्ति, मानसिक योग्यता बहुत ही स्ट्रांग है। अपनी उत्तर नीचे कमेंट बाक्स पर कमेंट करें। यहां जो उत्तर चित्र दिया गया है उसके सही उत्तर ऑप्शन (B) है।

आशा है आपका उत्तर सही रहा हो, ऐसे ही मानसिक योग्यता के प्रश्नों के लिए एवं नई-नई जानकारी के लिए हमारे वेबसाइट को फॉलो करें।

नवोदय भाषा परीक्षण की तैयारी अब इस तरह भी करें

अब नवोदय प्रवेश परीक्षा में भाषा परीक्षण के अन्तर्गत परम्परागत प्रश्नों के अलावा नये जमाने के एडवांस लेवल के प्रश्न पुछे जाने लगे हैं। पहले की भाषा अनुच्छेदों के प्रश्नों के उत्तर अनुच्छेद के शब्दों से खोज कर निकाले जा सकते थे। अब धीरे-धीरे सभी परीक्षाओं के प्रश्न स्तर कठिन होते जा रहे हैं। स्वभाविक भी है क्योंकि परीक्षार्थियों की संख्या बढ़ रही है, तो कम्पीटीशन भी बढ़ते जा रहा है। इन कारणों से आधुनिक एडवांस प्रश्न परम्परागत प्रश्नों का स्थान लेते जा रहा है।

उपर्युक्त बातों को अच्छी तरह समझने के लिए यहाँ नीचे एक अनुच्छेद उदाहरण स्वरूप दिया जा रहा है। अनुच्छेद को ध्यान पूर्वक अध्ययन करके देखें कि नीचे दिए गए प्रश्नों का उत्तर कोई एवरेज परीक्षार्थी शायद ही दे पाए। क्योंकि प्रश्नों के उत्तर अनुच्छेद के शब्दों से खोज कर सीधे-सीधे प्राप्त होने वाला नहीं है। जबतक परीक्षार्थी अनुच्छेद का भावार्थ एवं वाक्यों से संबंधित बातों को नहीं समझ लेगा ऐसे प्रश्नों का उत्तर देने में सक्षम नहीं होगा।

अनुच्छेद पढ़ें तथा सभी प्रश्नों का उत्तर तैयार कर लें। अन्त में सभी प्रश्नों के लिए हमारा विचार भी देखें।

अनुच्छेद-

पृथ्वी के चारो ओर वायुमंडल है जो गैसों की तहों से निर्मित है। जब सूर्य का प्रकाश वायुमंडल में प्रवेश करता है तो सूर्य की कुछ गरमी गैसों के द्वारा रोक ली जाती है और शेष वापस वायुमंडल में चली जाती है। रोकी हुई गरमी से पृथ्वी गरम रहती है और वह हमारे जीवित रहने के लिए पर्याप्त सुखद होती है। परंतु पिछली कुछ शताब्दियों में मनुष्य ने कुछ उपकरणों और जुगतों का उपयोग प्रारंभ कर दिया है जैसे वातानुकूलन यंत्र, कारें इत्यादि जो तेल, गैस, कोयला आदि जैव ईंधनों से चलते हैं। ये सब वायुमंडल में कार्बन डाइऑक्साइड छोड़ते हैं। यह गैस उस गरमी को रोक लेती है जो अन्यथा पृथ्वी के वायुमंडल में चली जाती परिणाम स्वरूप पृथ्वी के औसत तापमान में वृद्धि होती है। इसी तथ्य को वैश्विक भूमंडलीय तापन कहा जाता है और इससे जलवायु में परिवर्तन आता है

तापमान में वृद्धि होने से ग्लेशियर पिघल रहे हैं जिससे समुद्रों का जलस्तर बढ़ रहा है। यदि जलस्तर बढ़ा तो कुछ निम्न धरातल वाले देश या शहर सदा के लिए पानी में निमग्न हो जाएंगे।

प्र. 1 लेखक के अनुसार भूमंडलीय तापमान में वृद्धि का कारण है:

(A) ग्लेशियरों का पिघलना
(B) तेल और गैसें
(C) मानवीय गतिविधियाँ
(D) पृथ्वी का वायुमंडल

प्र. 2 निम्नलिखित में से किस विचार का उल्लेख अनुच्छेद में नहीं हुआ है ?

(A) वृक्ष कार्बन डाइऑक्साइड को सोख कर ताप नियंत्रण करते हैं।
(B) पिघलते ग्लेशियरों के कारण समुद्रों में जलस्तर बढ़ रहा है।
(C) किसी दिन कुछ निम्न धरातलवाले देश डूब जाएंगे।
(D) जैव ईंधनों को जलाने से वायु में कार्बन डाइऑक्साइड बढ़ रही है।

प्र. 3 ‘निमग्न’ शब्द का अर्थ है :

(A) तैरता हुआ
(B) डूबा हुआ
(C) पानी के नीचे तैरता हुआ
(D) बाढ़ग्रस्त

प्र. 4 कार्बन डाइऑक्साइड तब छोड़ी जाती है, जब –

(A) सूर्य की किरणें पृथ्वी के वायुमंडल में प्रवेश करती है।
(B) ग्लेशियर पिघलकर समुद्रों में गिर जाते हैं।
(C) जुगतों और उपकरणों को चलाने के लिए जैव ईंधन का उपयोग किया जाता है।
(D) शहर और कस्बे पानी में डूब जाते हैं।

प्र. 5 निम्नलिखित में से कौनसा उदाहरण जैव ईंधन का नहीं

(A) तेल
(B) गैस
(C) कोयला
(D) कारें

प्रत्येक प्रश्नों के लिए समालोचना एवं उत्तर की जांच –

प्र. 1 में भूमंडलीय तापमान में वृद्धि का कारण पुछा गया है।
यहाँ दो आप्शन (B) तेल और गैसें (C) मानवीय गतिविधियाँ। ये दोनों कहीं न कहीं सही है।
उत्तर (C)

प्र. 2 में यदि सभी आप्शन्स का भावार्थ अच्छे से समझ ले तो ही सही उत्तर पर पहुंचा जा सकता है ।
उत्तर (A)

प्र. 3 में अनुच्छेद का भावार्थ समझना जरूरी है या ‘निमग्न’ शब्द का पर्यायवाची याद हो।
उत्तर (B)

प्र. 4 में उत्तर सीधे-सीधे प्राप्त हो रहा है।
उत्तर (C)

प्र. 5 में उत्तर सीधे-सीधे प्राप्त तो हो रहा है किन्तु अतिरिक्त विशेष ध्यान केन्द्रित करने की आवश्यकता होगी।
उत्तर (D)

सारांश :

अन्त में निष्कर्ष के में कहा जा सकता है कि उपर्युक्तानुसार बच्चों को भाषा की तैयारी कराते समय एक बात अवश्य ध्यान रखें कि बच्चे उत्तर को अनुच्छेद के अन्दर खोजे नहीं बल्कि अनुच्छेद को पढ़कर अच्छी तरह समझने का प्रयास करें। ऐसे छुपे हुए उत्तर भी आसानी से हल हो जाएंगे।

पोस्ट अच्छी लगे तो शेयर जरूर करें।
नीचे कमेन्ट बाक्स पर अपनी राय जरूर देवें।
धन्यवाद !

AISSEE सैनिक स्कूल प्रवेश परीक्षा एवं नवोदय प्रवेश परीक्षा कक्षा 6 गणित प्रैक्टिस सेट 01 : परीक्षा से पहले इन 20 प्रश्नों का कर लें तैयारी |

JNV NEW OMR SHEETCLICK HERE
JNV MODEL PAPERCLICK HERE
JNV MOCK TESTCLICK HERE
JNV IMP QUESTIONCLICK HERE
JNV OLD PAPERCLICK HERE

नवोदय के ये दो सवाल अक्सर बच्चों को उलझाते हैं। पढ़िए हल करने का आसान तरीका

नवोदय जैसे प्रवेश परीक्षा में कुछ ऐसे प्रश्न पूछे जाते हैं जिसमें बच्चे अक्सर उलझन में पड़ जाते है कि इसे हल कैसे करें। हम यहाँ इसी प्रकार के कुछ प्रश्न दे रहे हैं तथा उसे आसानी से हल करने की तरीके भी बताएंगे। पोस्ट को अंत तक जरूर पढ़े, और अंत में कमेंट बॉक्स पर कमेंट जरूर करें।

प्रश्न 1 – 1 से 250 के मध्य ऐसी कुल कितनी संख्याएँ हैं, जो 3 तथा 7 से पूरी-पूरी विभाजित हो।
(A) 118
(B) 11
(C) 25
(D) 107

प्रश्न 2 – 1 से 250 के मध्य ऐसी कुल कितनी संख्याएँ हैं, जो 3 या 7 से पूरी-पूरी विभाजित हो।
(A) 118
(B) 11
(C) 25
(D) 107

ऊपर दिए गए दोनों प्रश्न एक जैसे जरूर लग रहे हैं किंतु इसे ध्यान पूर्वक पढ़ने पर दोनों प्रश्न के हल अलग-अलग तरीके से किए जाएंगे और उत्तर भी अलग-अलग आएंगे। गौर करने वाली बात यह है कि दिए गए प्रश्नों के पहले प्रश्न में 3 तथा 7 से पूरी-पूरी विभाजित होने वाली संख्याओं के बारे में पूछा गया है मतलब यह कि ऐसे कितनी संख्याएँ हैं, जो 3 तथा 7 दोनों से साथ-साथ विभाजित हो (3 से भी विभाजित हो तथा वही संख्या 7 से भी विभाजित हो) जबकि दूसरे प्रश्न में पूछा गया है कि दिए गए प्रश्नों में ऐसे कुल कितने संख्याएँ हैं, जो या तो 3 से या तो 7 से भाग चला जाए (यहाँ दोनों संख्या से साथ-साथ विभाजित होने की बात नहीं है) तो चलिए इन दोनों प्रश्नों के हल किस तरह से करें इस बारे में बात करते हैं-

प्रश्न क्रमांक 1 का हल –

पहले प्रश्न में 1 से 250 के मध्य 3 तथा 7 से पूरी-पूरी विभाजित होने की बात कही गई है मतलब यह है कि हल करने से पहले यह बात समझ लेना चाहिए कि हमें ऐसी संख्याओं को ढूंढना है जो 3 तथा 7 दोनों संख्याओं से विभाजित होने वाली संख्या हो।

सबसे पहले हम 3 और 7 का ल.स. (LCM) निकाल लेंगे। 3 और 7 का ल.स. (LCM) होगा 21

3 और 7 के ल.स. (LCM) 21 से 250 को विभिजित करना (भाग देना) है।

जो भी भागफल पूर्णांक में होगा वही इस प्रश्न का उत्तर होगा।

हल देखें

JNV NEW OMR SHEETCLICK HERE
JNV MODEL PAPERCLICK HERE
JNV MOCK TESTCLICK HERE
JNV IMP QUESTIONCLICK HERE
JNV OLD PAPERCLICK HERE

प्रश्न क्रमांक 2 का हल –

दूसरे प्रश्न में 1 से 250 के मध्य 3 या 7 से पूरी-पूरी विभाजित होने वाली संख्या की बात कही गई है मतलब यह है कि हमें ऐसी संख्याओं को ढूंढना है जो 3 से या तो 7 से विभाजित होने वाली संख्या हो।

इस प्रश्न को चार स्टेप में हल करना होगा-

पहला स्टेप – हम 3 से भाग जाने वाली कुल संख्या निकालने के लिए 250 को 3 विभिजित करेंगे (भाग देंगे)

जो भी भागफल पूर्णांक में होगा 1 से 250 के मध्य उतने ही संख्याएँ 3 से विभिजित होंगे।

दूसरा स्टेप – हम 7 से भाग जाने वाली कुल संख्या निकालने के लिए 250 को 7 विभिजित करेंगे (भाग देंगे)

जो भी भागफल पूर्णांक में होगा 1 से 250 के मध्य उतने ही संख्याएँ 7 से विभिजित होंगे।

स्टेप 1 तथा स्टेप 2 को जोड़ लेंगे।

(ध्यान रहे यहाँ हमें सही उत्तर प्राप्त नहीं हुआ है क्योंकि कुछ ऐसी संख्याएं हैं जो 3 तथा 7 दोनों से विभाजित होती है और उसकी गिनती 3 से विभाजित होने वाली संख्या तथा 7 से विभाजित होने वाली संख्या दोनों में हो चुकी है ऐसे संख्याओं को हमें फिर से ज्ञात करना है तथा 3 एवं 7 से भाग जाने वाली कुल संख्याओं के योग से घटाना (हटाना/निकलना/अलग करना) है तभी सही उत्तर प्राप्त होगा।

तीसरा स्टेप

3 और 7 दोनों से साथ-साथ भाग जाने वाली संंख्या निकालने के लिए सबसे पहले हम 3 और 7 का ल.स. (LCM) निकाल लेंगे। 3 और 7 का ल.स. (LCM) होगा 21

3 और 7 के ल.स. (LCM) 21 से 250 को विभिजित करना (भाग देना) है।

जो भी भागफल पूर्णांक में होगा 1 से 250 मध्य उतने ही संख्याएँ 3 और 7 दोनों से साथ-साथ भाग जाने वाली संंख्याएँ होंगे।

चौथा स्टेप

3 से विभिजित कुल संख्याएँ + 7 से विभिजित कुल संख्याएँ – 3 तथा 7 से विभिजित कुल संख्याएँ = 3 या 7 से विभिजित संंख्याएँ (उत्तर)

हल देखें

जवाहर नवोदय प्रवेश परीक्षा 20 जनवरी 2024 के नये सिलेबस पर उपयोगी प्रैक्टिस सेट्स…

नवोदय प्रवेश परीक्षा 2024 के लिए बदले हुए नये सिलेबस (JNVST New syllabus) पर आधारित सामग्री के साथ उपयोगी प्रैक्टिस सेट (Navodaya model paper) यहाँ उपलब्ध है।

जवाहर नवोदय विद्यालय की कक्षा छठवीं में प्रवेश प्राप्त करने के लिए अखिल भारतीय स्तर पर एकसाथ एकल पाठ्यक्रम पर आधारित कक्षा पाँचवीं में अध्ययनरत बच्चों का प्रतियोगी परीक्षा के माध्यम से चयनित किया जाता है। वैसे तो इस वर्ष की चयन परीक्षा थोड़ी जल्दी अर्थात 20 जनवरी 2024 को निर्धारित है। साथ ही इसी वर्ष से इस परीक्षा के लिए कुछ सिलेबस में बदलाव किया गया है, जिसकी जानकारी बहुत से पालकों को नहीं है। अनजान पालक अपने बच्चों की तैयारी विगत वर्षों के पुराने पाठ्यक्रम के आधार पर करा रहे हैं।

बदले हुए पाठ्यक्रम के अनुसार नवोदय प्रवेश परीक्षा 2024 के लिए नये सिलेबस पर आधारित सामग्री के साथ उपयोगी प्रैक्टिस सेट (Navodaya model paper) हमारे यहाँ उपलब्ध है। आप हमारे Navodaya Mobile App – Navodaya Study को डाऊनलोड कर प्राप्त कर सकते हैं।

वर्षों के अनुभवी शिक्षकों द्वारा तैयार किया गया यह सामग्री अत्यंत उपयोगी है। राट्रीय स्तर के ग्रैफिक्स डिजाइनर द्वारा बनाया गया mental ability के प्रश्न बहुत ही स्पष्ट है।

नये सिलेबस की पूरी जानकारी आप यहाँ से देख सकते हैं।

नवोदय विद्यालय की सफलता के लिए इस दीपावली में महा बचत के साथ अपनी दीपावली को सफलता से रोशन करें।

दीपावली के इस शुभ अवसर जवाहर नवोदय विद्यालय प्रवेश परीक्षा 2024 कक्षा 6 के लिए मॉडल प्रैक्टिस पेपर्स पर हमारी विशेष दिवाली ऑफर के साथ अकादमिक प्रतिभा के लिए अपना रास्ता चुनें और अपना भविष्य रोशन करें।

अपनी तैयारी को बेहतर बनाने तथा देश के सबसे प्रतिष्ठित स्कूलों में अपना स्थान सुरक्षित करने के लिए हमारे विशेष रूप से तैयार किए गए गेस पेपर (मॉडल प्रैक्टिस पेपर) के साथ आगामी जवाहर नवोदय विद्यालय चयन परीक्षा 2024 (JNVST 2024) की अचूक तैयारी के लिए अवश्य अपनाएं।

हमारी सेवाओं में क्या हैं ?

जवाहर नवोदय विद्यालय चयन परीक्षा 2024 (JNVST 2024) के बदले हुए पाठ्यक्रम के अनुरूप व्यापक प्रैक्टिस पेपर।

वास्तविक परीक्षा अनुभव का अनुकरण करने के लिए 1000+ प्रश्नों वाली 100 मॉक टेस्ट।

सुविधाजनक तैयारी के लिए सुलभ, उपयोग में आसान डिजिटल प्रारूप।

इस दीपावली को सीखने और सफलता का उत्सव बनाने के लिए हमारी वेबसाइट/मोबाईल एप पर अविश्वसनीय छूट और विशेष उत्सव ऑफर का लाभ उठाएं।

जल्दी कीजिए इस शुभ समय का अधिकतम लाभ उठाएं और जवाहर नवोदय विद्यालय चयन परीक्षा 2024 (JNVST 2024) मॉडल प्रैक्टिस पेपर्स पर हमारी विशेष दीपावली सेल के साथ अपने भविष्य को रोशन करें। अपनी प्रवेश परीक्षा में सफल होने और गुणवत्तापूर्ण शिक्षा की दुनिया में कदम रखने का यह अवसर न चूकें।

अभी खरीदारी करें और रोशनी के इस त्योहार को अपनी शैक्षिक यात्रा को रोशन करने दें।

Download AppNavodaya Study

Model paper : नवोदय प्रवेश परीक्षा कक्षा 6 के लिए महत्वपूर्ण माडल पेपर सीरीज (model Paper for Navodaya Entrance Exam Class 6)

model Paper for Navodaya Entrance Exam Class 6

नवोदय प्रवेश परीक्षा कक्षा 6 की तैयारी के लिए Model paper द्वारा बारबार प्रैक्टिस जरूरी है। ऐसे प्रैक्टिस के लिए यहाँ माडल पेपर मिलेंगे.

नवोदय प्रवेश परीक्षा में निश्चित सफलता के लिए A से Z सीरीज में 26 माडल पेपर उपलब्ध है। यह सभी पेपर यूनिक प्रश्नों पर तैयार है। पिछले 5 वर्षों से बहुत से कोचिंग संचालक इन पेपरों से भरपूर लाभ ले रहे हैं। यहाँ Model paper की फाईल नमूना के तौर पर देखने को मिल जाएगा।

26 माडल पेपर ऐसे प्राप्त करें :

नमूने के 4 माडल पेपर इसी वेबसाइट पर दिया गया है। इन चारों का लिंक निचे दिया जा रहा है। एक-एक करके इन पेपरों का अवलोकन अवश्य करें। बच्चों से भी प्रैक्टिस अवश्य कराएँ। पेपर पसन्द आने पर आपको हमारे बाकी 26 model paper की जरूरत हो, तो हमारे वाट्सएप नं. पर ‘Model paper’ लिखकर हमें वाट्सएप करें। आपको 26 माडल पेपर प्राप्त करने की पूरी प्रक्रिया के बारे में जानकारी वाट्सएप पर मैसज भेजे जाएंगे।

26 माडल पेपर की विशेषताएं :

  • A से Z सभी पेपरों में अलग-अलग नये प्रश्न।
  • नये 80 प्रश्न परीक्षा पैटर्न पर तैयार किया हुआ।
  • नवोदय मुख्य परीक्षा के अनुरूप 16 पृष्ठों में प्रश्नों का संयोजन।
  • कोचिंग/विद्यालय संचालकों के लिए without watermark पेपरों की सुविधा।
  • 100 से अधिक विद्यार्थी वाले कोचिंग/विद्यालय को उनके संस्था के नाम के साथ प्रिन्टेड माडल पेपर की सुविधा।
  • पिछले वर्षों में कोचिंग/विद्यालय के 70% तक बच्चों का नवोदय विद्यालय में सलेक्शन।
  • सभी 26 model paper एकसाथ मंगाने की सुविधा।
  • आधुनिक आफसेट मशीन द्वारा प्रिन्टेड।

नमूने के 4 माडल पेपर :

अवलोकनार्थ निचे नमूने के चारों पेपरों का लिंक दिया जा रहा है। देखे….

SET 01 HIND ACLICK HERE
SET 02 HIND BCLICK HERE
SET APR16 NCLICK HERE
SET SHIP WWCLICK HERE

उपर्युक्त दिए गए खास विशेषताओं वाली। हमारी model paper विशेष तौर पर नवोदय की तैयारी कराने वाले कोचिंग/हास्टल/विद्यालयों के संचालकों के विशेष मांग पर तैयार किया गया है। तैयारी करने वाले बच्चों का सही मूल्यांकन के साथ-साथ अच्छी तैयारी हमारे माडल पेपर से होती है। आप नवोदय ट्यूटर हैं तो हमसे अवश्य सम्पर्क करें… 100% संतुष्टि का दावा। धन्यवाद !

20 नवोदय मॉडल प्रैक्टिस पेपर आर्डर कैसे करें ? (कोचिंग संचालकों के लिए स्पेशल) | How to order 20 Navodaya Model Practice Paper?

Navodaya Entrance Exam 2023

नवोदय मानसिक योग्यता : असंगत आकृति परीक्षण (ODD MAN OUT) हल करने के तरीके

जवाहर नवोदय विद्यालय प्रवेश परीक्षा कक्षा 6 के लिए मानसिक योग्यता परीक्षण अनुभाग के अन्तर्गत पुछे जाने वाले 10 प्रकार के प्रश्नों में से 4 प्रश्न यहाँ से पुछे जाते हैं। यह भाग मानसिक योग्यता के बाकी सभी प्रश्नों की दृष्टि से सबसे कठिन प्रश्नों में से माना जाता है। क्योंकि इसे हल करने का कोई एक विशेष नियम नहीं बन सकता। इस भाग के प्रश्न निर्माण के अनेक विधियाँ है।

प्रश्न की प्रकृति –

प्रश्न में चार चित्र (आकृति) होते हैं। इन चार चित्रों में से तीन चित्र किसी विधि से एक समान होते हैं, जबकि एक चित्र अन्य तीन से भिन्न (अलग) होती है। परीक्षार्थी को अपने विवेक से उस अलग चित्र को खोज कर सही उत्तर का पहचान करना होता है।
जैसा कि ऊपर बताया जा चुका है कि इस भाग के प्रश्न निर्माण के अनेक विधियाँ है, उसी तरह इसे हल करने की अनेक विधियाँ भी है। यहाँ कुछ प्रश्नों तथा उदाहरण के साथ कुछ विधियों के बारे में बताया गया है शेष विधियाँ दूरे भाग में प्रकाशित करेंगे –

असंगत आकृति –

इस प्रकृति का एक प्रश्न उदाहरण के तौर पर नीचे दिया जा रहा है। मानसिक योग्यता के भिन्नता की पहचान करने वाली ऐसे प्रश्नों की विशेषता यह होती है कि दिए गए चार चित्रों में तीन चित्र बिल्कुल एक जैसे होती है तथा एक चित्र में मामूली अंतर होता है। इस मामूली अंतर या भ्रमित करने वाले अंतर को खोजकर या पहचान कर उत्तर के रूप में अंकित किया जाता है।

उदाहरण –

हल – उपर्युक्त प्रश्न में सभी 4 आकृतियाँ एक जैसी दिख रही है। किन्तु आकृति (C) के अन्दर भाग वाली पंखे जैसी आकृति अलग है।

डिजाईनों की संख्या/अंतर –

इस प्रकृति का एक प्रश्न उदाहरण के तौर पर नीचे दिया जा रहा है। भिन्नता की पहचान करने वाली इस प्रकार के प्रश्नों में दिए गए चार चित्रों में अलग-अलग डिजाईनों, संकेत चिन्हों, अक्षर आदि का प्रयोग होता है। तीन चित्रों में ये डिजाइन एक सी होती है किन्तु एक चित्र में कोई एक या दो डिजाइन अलग होते हैं। इस भ्रमित करने वाली अंतर को खोजकर या पहचान कर उत्तर के रूप में अंकित किया जाता है।

उदाहरण –

हल – उपर्युक्त प्रश्न में सभी 4 आकृतियाँ अलग-अलग दिख रही है। किन्तु आकृति (B) के अन्दर भाग में दिए गए डिजाइनों में 9 अलग है। शेष सभी आकृतियों में समान रूप से 5 डिजाइन एक जैसी है।

चित्रों में रेखाओं की संख्या –

इस प्रकृति का एक प्रश्न उदाहरण के तौर पर नीचे दिया जा रहा है। सरल रेखाओं से मिलकर बनने वाली प्रश्नों के भिन्नता की पहचान करने वाली प्रश्नों की विशेषता यह होती है कि दिए गए चार चित्रों में तीन चित्रों में सरल रेखाओं की संख्या एक समान होती है (आकृतियाँ, अक्षर चिन्ह आदि) तथा एक चित्र में रेखाओं की संख्या कम या अधिक होती है। इस अंतर को खोजकर उत्तर के रूप में चिन्हित किया जाता है।

उदाहरण –

हल – उपर्युक्त प्रश्न में सभी 4 अक्षर चित्र अलग-अलग है फिर भी सभी अक्षरों पर गौर करें तो चित्र (A) की अक्षर तीन सरल रेखाओं से बनी है जबकि शेष 3 अक्षर चित्र 2-2 सरल रेखाओं से निर्मित है।

ज्यामितीय आकृति के विभाजन –

इस प्रकृति का एक प्रश्न उदाहरण के तौर पर नीचे दिया जा रहा है। मानसिक योग्यता के भिन्नता की पहचान के लिए ज्यामितीय आकृतियों के विभाजन को आधार मान कर ज्यामितीय आकृति को अलग-अलग तरीके से समान भागों में विभिजित किया हुआ होता है तथा जो असंगत होती है उस आकृति का विभाजन अन्य तीन आकृति से कम या अधिक संख्या में होती है। इसी खास अंतर को खोजकर या पहचान कर उत्तर के रूप में अंकित किया जाता है।

उदाहरण –

हल – उपर्युक्त प्रश्न में सभी 4 आकृतियाँ अलग-अलग ही है। किन्तु 3 वर्ग आकृति को अलग-अलग तरीके से 4 बराबर भागों में विभाजित किया गया जबकि आकृति (B) को देखें तो 5 भाग में विभाजित है।

असंगत आकृति परीक्षण (ODD MAN OUT) के प्रश्नों से संबंधित अन्य विधियाँ अगले भाग में प्रकाशित होंगे –

APPCLICK HERE
JNV MODEL PAPERCLICK HERE
JNV MOCK TESTCLICK HERE
JNV IMP QUESTIONCLICK HERE
JNV OLD PAPERCLICK HERE

नवोदय पाठ्यक्रम में नया अध्याय “कोणों के प्रकार और उनके गुण”, नोट्स, उदाहरण प्रश्न और प्रश्नोत्तरी

रेखाएँ और कोण

रेखाएँ और कोण ज्यामिति में प्रयुक्त मूल शब्द हैं। वे ज्यामिति की सभी अवधारणाओं को समझने के लिए एक आधार प्रदान करते हैं। हम एक रेखा को 1-डी आकृति के रूप में परिभाषित करते हैं जिसे विपरीत दिशाओं में अनंत तक बढ़ाया जा सकता है, जबकि कोण को दो या दो से अधिक रेखाओं को जोड़कर बनाए गए उद्घाटन के रूप में परिभाषित किया जाता है। समस्या की अवधारणा के आधार पर किसी कोण को डिग्री या रेडियन में मापा जाता है।

सभी ज्यामितीय आकृतियों में रेखाएँ और कोण होते हैं और उनकी समझ होने से हमें ज्यामिति की दुनिया को बेहतर ढंग से समझने में मदद मिलती है। इस लेख में हम रेखाओं, कोणों, उनके प्रकार, गुणों और अन्य के बारे में विस्तार से जानेंगे।

रेखाओं और कोणों की परिभाषा

रेखाएँ और कोण ज्यामिति का आधार आकार हैं और इनका ज्ञान हमें ज्यामिति की अवधारणा को बेहतर ढंग से समझने में मदद करता है। रेखाओं और कोणों की मूल परिभाषा यह है कि रेखाएँ 1-डी आकृतियाँ हैं जिन्हें विपरीत दिशा में अनंत रूप से बढ़ाया जा सकता है, जबकि कोण को दो रेखाओं के प्रतिच्छेद करने पर मुंह के खुले होने की डिग्री के रूप में परिभाषित किया जाता है। यदि दो प्रतिच्छेदी रेखाओं के बीच चौड़ा स्थान अधिक हो तो उनके बीच का कोण अधिक होता है।

इन अवधारणाओं का उपयोग विभिन्न शब्दों को परिभाषित करने के लिए अत्यधिक किया जाता है और ये छात्रों के लिए ज्यामिति का अध्ययन करने में बहुत सहायक होते हैं। आइए अब इनके बारे में विस्तार से जानें।

रेखाएँ क्या हैं?

रेखा को एक आयामी आकृति के रूप में परिभाषित किया गया है जिसे अनंत तक बढ़ाया जा सकता है। इसका विस्तार दोनों दिशाओं में हो सकता है और एक रेखा की लंबाई अनंत होती है। हम एक रेखा को उन अनंत बिंदुओं के संग्रह के रूप में भी परिभाषित कर सकते हैं जो एक साथ जुड़कर एक सतत आकृति बनाते हैं।

एक रेखा का कोई प्रारंभिक बिंदु या समापन बिंदु नहीं होता है। यदि किसी रेखा का एक प्रारंभिक बिंदु और एक अंतिम बिंदु है तो उसे रेखाखंड कहा जाता है, जबकि यदि किसी रेखा का केवल एक प्रारंभिक बिंदु है लेकिन कोई अंत बिंदु नहीं है तो उसे किरण कहा जाता है।

रेखाओं और कोणों के प्रकार

इस विषय में हम ज्यामिति में वर्गीकृत सभी विभिन्न प्रकार की रेखाओं और कोणों के बारे में जानेंगे।

रेखाओं के प्रकार

हम रेखाओं को उनके समापन बिंदु और प्रारंभिक बिंदु के आधार पर वर्गीकृत कर सकते हैं,

  • रेखा खंड
  • किरण

रेखाओं को इस प्रकार भी वर्गीकृत किया जा सकता है,

  • समानांतर रेखाएं
  • लम्बवत रेखायें
  • अनुप्रस्थ रेखाएँ

आइए अब इनके बारे में विस्तार से जानें।

रेखा खंड

रेखाखंड एक रेखा का वह भाग है जिसके दो अंतबिंदु होते हैं। यह दो बिंदुओं के बीच की सबसे छोटी दूरी है और इसकी एक निश्चित लंबाई होती है और इसे आगे नहीं बढ़ाया जा सकता है। नीचे जोड़ी गई छवि में एक रेखाखंड AB दिखाया गया है:

रेखा खंड

किरण

किरण वह रेखा है जिसका एक आरंभिक बिंदु या अंतिम बिंदु होता है और जो एक दिशा में अनंत की ओर बढ़ती है। नीचे जोड़ी गई छवि में एक किरण OA दिखाया गया है। यहां O प्रारंभिक बिंदु है और A की ओर बढ़ रहा है।

किरण

लम्बवत रेखायें

जब दो रेखाएं एक-दूसरे से समकोण बनाती हैं और एक ही बिंदु पर मिलती हैं तो उन्हें लंबवत रेखाएं कहा जाता है। नीचे जोड़ी गई छवि में दो लंबवत रेखाएँ AB और CD दिखाई गई हैं:

लम्बवत रेखायें

समानांतर रेखाएं

समानांतर रेखाएँ वे रेखाएँ होती हैं जो किसी भी बिंदु पर एक समतल पर एक दूसरे से नहीं मिलती हैं और एक दूसरे को नहीं काटती हैं। समांतर रेखाओं के किन्हीं दो बिंदुओं के बीच की दूरी निश्चित होती है। नीचे जोड़ी गई छवि में दो समानांतर रेखाएँ l और m दिखाई गई हैं:

समानांतर रेखाएं

अनुप्रस्थ रेखाएँ

जब दो दी गई रेखाएं एक दूसरे को एक अलग बिंदु पर काटती हैं, तो उन्हें अनुप्रस्थ रेखाएं कहा जाएगा। रेखा n , रेखा l और रेखा m की अनुप्रस्थ रेखा है जैसा कि नीचे जोड़ी गई छवि में दिखाया गया है:

अनुप्रस्थ रेखाएँ

अनुप्रस्थ रेखाएँ और कोण

अनुप्रस्थ रेखाएँ और कोण

समानांतर रेखाओं और अनुप्रस्थ रेखाओं के प्रतिच्छेदन से बनने वाले विभिन्न कोण हैं,

  • संगतकोण
  • एकांतर अंतः कोण
  • एकांतर बाह्य कोण
  • लंबवत् विपरीत कोण

आइए इसके बारे में विस्तार से जानें।

संगतकोण

कोणों के निम्नलिखित जोड़े जो ऊपर जोड़े गए चित्र से संगतकोण कोण हैं, हैं:

  • ∠a = ∠p
  • ∠b = ∠q
  • ∠d = ∠s
  • ∠c = ∠r

एकांतर बाह्य कोण

कोणों के निम्नलिखित जोड़े जो ऊपर जोड़े गए चित्र से एकांतर बाह्य कोण हैं, हैं:

  • ∠a = ∠r
  • ∠b = ∠s

एकांतर अंतः कोण

ऊपर जोड़े गए चित्र से कोणों के निम्नलिखित जोड़े एकांतर आंतरिक कोण हैं,

  • ∠d = ∠q
  • ∠c = ∠p

लंबवत् विपरीत कोण

कोणों के निम्नलिखित जोड़े जो ऊपर जोड़े गए चित्र से लंबवत् विपरीत कोण हैं, हैं:

  • ∠a = ∠c
  • ∠बी = ∠डी
  • ∠p = ∠r
  • ∠q = ∠s

नीचे जोड़ी गई तालिका सभी प्रकार के कोणों को दर्शाती है जो समानांतर रेखाओं और एक तिर्यक रेखा की जोड़ी से बनते हैं।

कोणों का युग्म बनाकोणों के बीच संबंध
संगतकोण∠a = ∠p ∠b = ∠q ∠d = ∠s ∠c = ∠r
एकांतर अंतः कोण∠a = ∠r ∠b = ∠s
एकांतर बाह्य कोण∠d = ∠q ∠c = ∠p
लंबवत् विपरीत कोण∠a = ∠c ∠बी = ∠डी ∠p = ∠r ∠q = ∠s

रेखाओं के गुण

रेखाओं के विभिन्न गुण हैं,

  • यदि तीन या तीन से अधिक बिंदु एक ही रेखा में स्थित हों तो उन्हें संरेख बिंदु कहा जाता है।
  • दो रेखाएँ समानान्तर रेखाएँ कहलाती हैं यदि उनके बीच की दूरी सदैव स्थिर रहती है।
  • यदि रेखाएँ समकोण पर प्रतिच्छेद करती हैं तो वे लम्ब रेखाएँ कहलाती हैं।

कोण क्या हैं?

जब दो किरणों के अंतिम बिंदु एक उभयनिष्ठ बिंदु पर मिलते हैं तो इस प्रकार बनी आकृति को कोण कहा जाता है। एक कोण को या तो डिग्री या रेडियन में मापा जाता है और हम आसानी से डिग्री को रेडियन में बदल सकते हैं। हम किसी कोण को दर्शाने के लिए ‘∠’ का उपयोग करते हैं।

माप के आधार पर कोण विभिन्न प्रकार के होते हैं। उनकी चर्चा नीचे की गई है,

कोणों के प्रकार

कोणों के प्रकार

माप और विभिन्न परिदृश्यों के आधार पर ज्यामिति में विभिन्न प्रकार की रेखाएँ और कोण होते हैं। आइए हम यहां उन सभी रेखाओं और कोणों को उनकी परिभाषाओं के साथ जानें।

  • न्यूनकोण
  • अधिक कोण
  • समकोण
  • सरल कोण या ऋजु कोण
  • बृहत्कोण
  • पूर्ण कोण

न्यूनकोण

जब कोण समकोण से छोटा होता है तो वह न्यूनकोण कहलाता है। इसका माप इसका माप 0 डिग्री से 90 डिग्री के बीच होता है होता है। नीचे जोड़ी गई छवि एक न्यून कोण दिखाती है:

न्यूनकोण

अधिक कोण

जब कोण की माप समकोण से अधिक हो तो उसे अधिक कोण कहते हैं।इसका माप 90 डिग्री से 180 डिग्री के बीच होता है। नीचे जोड़ी गई छवि एक अधिक कोण दिखाती है:

अधिक कोण

समकोण

जब कोण का माप ठीक 90 डिग्री होता है तो उसे समकोण कहते हैं। नीचे जोड़ी गई छवि एक समकोण दिखाती है:

सरल कोण (ऋजु कोण)

यदि किसी कोण की माप 180 डिग्री है तो इस प्रकार बने कोण को सरल कोण कहा जाता है। नीचे जोड़ी गई छवि एक सीधा कोण दिखाती है। 

सरल कोण (ऋजु कोण)

बृहत्कोण

जब कोण की माप 180° से अधिक तथा 360° से कम हो तो इसे बृहत्कोण कोण कहते हैं। नीचे जोड़ी गई छवि रिफ्लेक्स एंगल दिखाती है

बृहत्कोण

पूर्ण कोण

जब कोण की माप 360° हो तो उसे पूर्ण कोण कहते हैं। नीचे जोड़ी गई छवि पूर्ण कोण दिखाती है।

पूर्ण कोण

हम कोणों को इस प्रकार भी वर्गीकृत कर सकते हैं,

  • पूरक कोण
  • संपूरक कोण
  • आसन्न कोण
  • लंबवत् विपरीत कोण

पूरक कोण

जब दो कोणों का योग 90° होता है, तो उन्हें पूरक कोण कहा जाता है। नीचे दी गई छवि में दो पूरक कोण AOB और BOC दिखाए गए हैं।

पूरक कोण

संपूरक कोण

जब दो कोणों का योग 180° हो तो वे संपूरक कोण कहलाते हैं। नीचे दी गई छवि में दो पूरक कोण PMN और QMN दिखाए गए हैं।

संपूरक कोण

आसन्न कोण

जब दो कोणों में एक उभयनिष्ठ भुजा और एक उभयनिष्ठ शीर्ष होता है और शेष दो भुजाएं उभयनिष्ठ भुजा की एकांतर भुजाओं पर स्थित होती हैं तो उन्हें आसन्न कोण कहा जाता है। नीचे दी गई छवि में दो आसन्न कोण A और B दिखाए गए हैं।

आसन्न कोण

लंबवत् विपरीत कोण

जब दो कोण एक-दूसरे के विपरीत हों और दो रेखाएँ एक-दूसरे को एक उभयनिष्ठ बिंदु पर काटती हों, तो उन्हें लंबवत् विपरीत कोण कहा जाता है। नीचे जोड़ी गई छवि में दो कोण AOB और COD दिखाए गए हैं।

लंबवत् विपरीत कोण
  • ∠AOD= ∠BOC
  • ∠AOB= ∠DOC

त्रिभुज में कोणों का योग 180° तक होता है

किसी भी त्रिभुज के सभी कोणों का योग 180° होता है। यह नीचे सिद्ध है, मान लीजिए हमारे पास एक त्रिभुज ABC है जैसा कि नीचे दी गई छवि में दिखाया गया है:

त्रिभुज में कोणों का योग 180°
  • ∠A + ∠B + ∠C = 180°

रेखाओं और कोणों के गुण

इस अनुभाग में, हम रेखाओं और कोणों के कुछ सामान्य गुणों के बारे में जानेंगे

रेखाओं के गुण

रेखा के निम्नलिखित गुण हैं

  • रेखा का केवल एक ही आयाम अर्थात् लंबाई होती है।इसमें चौड़ाई और ऊंचाई नहीं है.
  • एक रेखा पर अनंत बिंदु होते हैं।
  • एक रेखा पर स्थित तीन बिंदुओं को संरेख बिंदु कहा जाता है

कोणों के गुण

कोणों के निम्नलिखित गुण हैं

  • कोण बताते हैं कि कोई व्यक्ति अपनी स्थिति से कितना घूम चुका है।
  • जब दो रेखाएँ मिलती हैं तो कोण बनते हैं और उन्हें कोण की भुजाएँ कहा जाता है।

रेखाओं और कोणों पर उदाहरण-

उदाहरण 1: यदि ∠x का मान 65 डिग्री है, तो ∠x का प्रतिवर्ती कोण ज्ञात करें।
(A) 295
(B) 285
(C) 175
(D) 25

समाधान: (A)

अब, रेखाओं और कोणों के गुणों के अनुसार, एक कोण और उसके प्रतिवर्ती कोण का योग 360° होता है।

इस प्रकार,

∠x + ∠y = 360°

75° + ∠y = 360°

∠y = 360° − 65°

∠y = 295°

इस प्रकार, 65° का प्रतिवर्ती कोण 295° है।

उदाहरण 2: यदि ∠x का मान 75 डिग्री है, तो ∠x का पूरक कोण ज्ञात करें।
(A) 25
(B) 15
(C) 45
(D) 30

समाधान: (B)

अब, रेखाओं और कोणों के गुणों के अनुसार, एक कोण और उसके पूरक कोण का योग 90° होता है।

इस प्रकार,

∠x + ∠y = 90°

75° + ∠y = 90°

∠y = 90° − 75°

∠y = 15°

इस प्रकार, 75° का पूरक कोण 15° है।

उदाहरण 3: यदि ∠x का मान 45 डिग्री है, तो ∠x का संपूरक कोण कोण ज्ञात करें।
(A) 215
(B) 145
(C) 45
(D) 135

समाधान: (D)

अब, रेखाओं और कोणों के गुणों के अनुसार, एक कोण और उसके संपूरक कोण का योग 180° होता है।

इस प्रकार,

∠x + ∠y = 180°

75° + ∠y = 180°

∠y = 180° − 45°

∠y = 135°

इस प्रकार, 75° का संपूरक कोण 135° है।

नवोदय कक्षा 6 के नये सिलेबस पर आधारित अध्ययन सामग्री जारी | JNVST Study material based on new syllabus

नवोदय विद्यालय प्रवेश परीक्षा (JNVST) कक्षा 6 वीं के लिए तैयारी करने वाले विद्यार्थियों के लिए इस वर्ष आयोजित होने वाली प्रवेश परीक्षा का पाठ्यक्रम (This years Syllabus for Selection Test) में आंशिक बदलाव किया गया है। समय रहते विद्यार्थियों को नवोदय की परिवर्तित पाठ्यक्रम (JNVST Changed Syllabus) पर आधारित अध्ययन सामग्री उपलब्ध हो सके इसके लिए हमारे नवोदय स्टडी टीम (Navodaya Study team) ने दिन-रात अथक परिश्रम करके अध्ययन सामग्री को नवोदय मॉडल पेपर हिंदी/अंग्रेजी माध्यम (Navodaya Model Paper Hindi/English Medium) के रुप में जारी किया है।

इसे आप Navodaya study मोबाईल एप पर प्राप्त कर सकते हैं.

हमारे मोबाईल एप को प्लेस्टोर (Play Store) से डाऊनलोड कर सकते हैं या निचे दिए गए लिंक का उपयोग करें।

Get it on Google Play
  1. नवोदय पाठ्यक्रम (Navodaya Syllabus) में क्या बदलाव है ?
  2. नवोदय पाठ्यक्रम में क्या जोड़ा गया है ?
  3. नवोदय पाठ्यक्रम में क्या हटाया गया है ?

नवोदय विद्यालय प्रवेश परीक्षा (JNVST) कक्षा 6 वीं के लिए तैयारी करने वाले विद्यार्थियों के लिए इस वर्ष (2024) आयोजित होने वाली प्रवेश परीक्षा का पाठ्यक्रम (Syllabus) में आंशिक बदलाव किया गया है। परीक्षा पाठ्यक्रम के अनुभाग – 2 अंकगणित में कुछ नये अध्ययन जोड़े गये हैं तथा पहले के कुछ अध्याय हटाए गये हैं। नवोदय पाठ्यक्रम में क्या जोड़े गये ? नवोदय पाठ्यक्रम में क्या हटाए गए ? यह जानकारी आपको नवोदय विद्यालय समिति द्वारा जारी नवोदय विद्यालय प्रवेश परीक्षा नियमावली अधिसूचना के PDF के पृष्ठ संख्या 23 पर उल्लेख किया गया है।
जिसकी नकल यहाँ दी जा रही है।

नवोदय विद्यालय समिति NVS द्वारा जारी नवोदय विद्यालय प्रवेश परीक्षा नियमावली अधिसूचना से लिया गया भाग यहाँ दिया जा रहा है :

Section 2: Arithmetic Test
The main purpose of this test is to measure candidate’s basic competencies in Arithmetic. All the Twenty questions of this test will be based on the following 12 topics

  1. Number and numeric system.
  2. Four fundamental operations on whole number.
  3. Factors and multiples including their properties.
  4. Decimals and fundamental operations on them.
  5. Conversion of fractions to decimals and vice-versa.
  6. Measurement of length, mass, capacity, time, money etc.
  7. Simplification of Numerical Expressions.
  8. Fractional numbers – addition and subtraction of like fraction and multiplication (unlike fraction and division of fractional numbers not included).
  9. Profit and loss without calculation of percentage (calculation of percentage of profit and loss is exempted from the topic).
  10. Perimeter and area – perimeter of polygon, area of square rectangle and triangle (as a part of rectangle).
  11. Types of angle and its simple applications.
  12. Data analysis using bar diagram, graph and line chart.

नवोदय स्टडी ऐप – हमारा ऐप आपकी सफलता। Navodaya Study App – Our App Your Success.

क्या आप भारत के सबसे प्रतिष्ठित और प्रसिद्ध स्कूलों में से एक में पढ़ने का सपना देखते हैं? क्या आप अपनी पूरी क्षमता का उपयोग करना चाहते हैं और शैक्षणिक उत्कृष्टता, सांस्कृतिक विविधता, सामाजिक एकीकरण और समग्र विकास हासिल करना चाहते हैं? यदि हाँ, तो आपको जवाहर नवोदय प्रवेश परीक्षा उत्तीर्ण करने की आवश्यकता है।

जवाहर नवोदय प्रवेश परीक्षा एक प्रतिस्पर्धी और चुनौतीपूर्ण परीक्षा है जो नवोदय विद्यालय में कक्षा 6 में प्रवेश के लिए ग्रामीण क्षेत्रों के छात्रों का चयन करती है। परीक्षा आपकी मानसिक क्षमता, अंकगणित और भाषा कौशल का परीक्षण करती है।

इस परीक्षा की तैयारी के लिए आपको अध्ययन सामग्री, मार्गदर्शन और अभ्यास की आवश्यकता है। इसीलिए हमने नवोदय स्टडी ऐप बनाया है, जो जवाहर नवोदय प्रवेश परीक्षा के लिए सर्वोत्तम शिक्षण ऐप है।

नवोदय स्टडी ऐप आपके घर पर आराम से सीखने का एक स्मार्ट और सुविधाजनक तरीका है। ऐप आपको परीक्षा में सफल होने और अपने सपनों के स्कूल में प्रवेश पाने के लिए आवश्यक सभी चीजें प्रदान करता है। ऐप आपको प्रदान करता है:

नवोदय मॉडल पेपर

हमारे नवोदय मॉडल पेपर हर पहलू में वास्तविक परीक्षा का अनुकरण करने के लिए डिज़ाइन किए गए हैं। वे 2024 के नवीनतम पाठ्यक्रम और परीक्षा के अपेक्षित कठिनाई स्तर पर आधारित हैं। वे उन सभी विषयों और उप-विषयों को कवर करते हैं जिन्हें आपको JNVST के लिए जानना आवश्यक है। वे आपको अपने कौशल का अभ्यास करने, अपनी गति और सटीकता में सुधार करने और अपना आत्मविश्वास बढ़ाने में भी मदद करते हैं।

इस पाठ्यक्रम में ए से जेड श्रृंखला में 26 मॉडल पेपर शामिल हैं। प्रत्येक मॉडल पेपर में 100% अद्वितीय प्रश्न होते हैं, प्रश्नों की कोई पुनरावृत्ति नहीं होती है। प्रश्न का कठिनाई स्तर ऊंचा है, इसलिए आप स्वयं को चुनौती दे सकते हैं और सबसे खराब स्थिति के लिए तैयारी कर सकते हैं। मॉडल पेपर भी 100% जेएनवीएसटी पाठ्यक्रम 2024 पर आधारित हैं, इसलिए आप आश्वस्त हो सकते हैं कि आप अप्रासंगिक या पुरानी सामग्री पर अपना समय बर्बाद नहीं कर रहे हैं।

हमारे नवोदय मॉडल पेपर देश भर के सैकड़ों कोचिंग संस्थानों द्वारा पसंद किए जाते हैं। उन्होंने हजारों छात्रों को जेएनवीएसटी में सफलता प्राप्त करने और उनके सपनों के स्कूलों में प्रवेश सुरक्षित करने में मदद की है। वे आपकी भी मदद कर सकते हैं!

और क्या? आप दो मॉडल पेपर निःशुल्क प्राप्त कर सकते हैं! हां, आपने उसे सही पढ़ा है। आप बिना कुछ भुगतान किए इस पाठ्यक्रम से दो मॉडल पेपर प्राप्त कर सकते हैं। बस इस पाठ्यक्रम में दाखिला लें और हमारे निःशुल्क मॉडल पेपर के साथ अभ्यास शुरू करें। आप कुछ ही समय में अपने प्रदर्शन और आत्मविश्वास में अंतर देखेंगे!

नवोदय प्रैक्टिस टेस्ट

हमारा नवोदय प्रैक्टिस टेस्ट आपको JNVST पाठ्यक्रम में महारत हासिल करने और आपके प्रदर्शन और प्रगति को मापने में मदद करने के लिए डिज़ाइन किया गया है। नवोदय प्रैक्टिस टेस्ट में 1000+ प्रश्न और 100 परीक्षण शामिल हैं जो गणित, मानसिक क्षमता और समझ के सभी विषयों को कवर करते हैं। प्रैक्टिस टेस्ट आपकी सीखने की आवश्यकताओं और लक्ष्यों के अनुरूप अनुकूली और वैयक्तिकृत हैं। आप अपनी गति से टेस्ट दे सकते हैं और त्वरित प्रतिक्रिया, विस्तृत समाधान और अपनी ताकत और कमजोरियों का विश्लेषण प्राप्त कर सकते हैं।

सबसे अच्छी बात यह है कि आप 15 परीक्षणों तक निःशुल्क पहुंच सकते हैं! हां, आपने उसे सही पढ़ा है। आप बिना कुछ भुगतान किए 15 प्रैक्टिस टेस्ट आज़मा सकते हैं और देख सकते हैं कि हमारा पाठ्यक्रम आपके स्कोर और आत्मविश्वास को बेहतर बनाने में कैसे मदद कर सकता है। यदि आपको हमारा पाठ्यक्रम पसंद है, तो आप प्रीमियम संस्करण में अपग्रेड कर सकते हैं और सभी 100 परीक्षणों को अनलॉक कर सकते हैं।

हमारे नवोदय अभ्यास परीक्षण पाठ्यक्रम को सैकड़ों कोचिंग संस्थानों और हजारों छात्रों ने पसंद किया है जिन्होंने जेएनवीएसटी परीक्षा की तैयारी के लिए इसका उपयोग किया है। उनके साथ जुड़ने और अपने सपनों के स्कूल के करीब एक कदम आगे बढ़ने का यह अवसर न चूकें। अभी नामांकन करें और आज ही अभ्यास शुरू करें!

पुरानो वर्षो के पेपर PYQs

PYQ आपकी तैयारी के लिए जानकारी और मार्गदर्शन का एक मूल्यवान स्रोत हैं। PYQ आपको प्रश्नों के प्रकार और प्रारूप, विषयों के महत्व और परीक्षा की कठिनाई के स्तर को समझने में मदद करते हैं।

नवोदय स्टडी ऐप सिर्फ एक ऐप नहीं है, यह एक साथी है जो आपको अपनी तैयारी में केंद्रित, अनुशासित और सुसंगत रहने के लिए प्रेरित करता है।

तो आप किस बात की प्रतीक्षा कर रहे हैं? आज ही नवोदय स्टडी ऐप डाउनलोड करें और जवाहर नवोदय प्रवेश परीक्षा में सफल होने के लिए अपनी यात्रा शुरू करें।

Get it on Google Play

कब आएगा नवोदय कक्षा VI का SECOND LIST | सेकेंड लिस्ट का पूरा सच | When will come tHE SECOND LIST of Navodaya Class 6

जवाहर नवोदय विद्यालय प्रवेश परीक्षा का दूसरी लिस्ट (Second List) कब आएगा ? किन बच्चों का आएगा लिस्ट में नाम ? सेकेंड लिस्ट में कितने बच्चों का सलेक्शन होता है ? सेकेंड लिस्ट आने की जानकारी कैसे पता करें ? ऐसे महत्वपूर्ण जानकारियां इस लेख में दी गई है। पूरी जानकारी के लिए इस लेख को अन्त तक जरूर पढ़िए…

जवाहर नवोदय विद्यालय प्रवेश परीक्षा कक्षा VI का First List की अनन्तिम सूची जारी हो चुकी है। इस सूची में जिन उम्मीदवारों का नाम नहीं आया उनको Second List का बेसब्री से इन्तजार है। यहाँ आपको इस बारे पूरी जानकारी दी जा रही है।

अनन्तिम सूची (First List) में चयनित उम्मीदवारों का एडमिशन प्रक्रिया पुर्णा होने बाद ही Second List जारी होगी। इसे इस तरह से भी समझें – अनन्तिम सूची (First List) में चयनित उम्मीदवारों का एडमिशन प्रक्रिया पूर्ण हो जाने के बाद ही दूसरी चयन सूची (Second List) जारी होता है।

दूसरी लिस्ट (Second List) में उन उम्मीदवारों का नाम आता है जिनका नाम First List में नहीं आया है तथा जिनका नाम वेटिंग लिस्ट में है। अनन्तिम सूची (First List) में चयनित उम्मीदवारों का एडमिशन प्रक्रिया पूर्ण हो जाने के बाद First List से जिस आरक्षण कोटे से जितने संख्या में बच्चों ने नवोदय विद्यालय में एडमिशन नहीं लिया (नहीं हुआ) है उसी कोटे का उतने ही संख्या में बच्चों का दूसरी लिस्ट (Second List) जारी होता है। ध्यान रहे जिस नवोदय विद्यालय में First List के सभी उम्मीदवार नवोदय विद्यालय में एडमिशन ले लेंगे वहाँ Second List जारी नहीं होगा।

Second List आने की जानकारी कैसे मालूम होगा (Second List कहाँ से देखें) ऐसी बातें हमें सबसे ज्यादा बार पूछे जाते हैं। तो आपको बता दें कि नवोदय परीक्षा का दूसरे या तीसरे लिस्ट नवोदय विद्यालय समिति की वेबसाईट पर आनलाईन जारी नहीं होता और न इसे रोल नंबर के आधार पर देखे जा सकते हैं। यह लिस्ट कुछ 4-6 बच्चों का होता है, जिसे नवोदय विद्यालय समिति सीधे सम्बन्धित नवोदय विद्यालयों में भेज देता है। दूसरे या तीसरे लिस्ट में चयनित होने वाले उम्मीदवारों को सम्बन्धित नवोदय विद्यालयों द्वारा व्यक्तिगत तौर पर संपर्क करके एडमिशन के लिए बुलाए जाते हैं। Second List में चयनित उम्मीदवारों को सूचित करने के लिए फोन किया जाता है, फोन पर मैसेज तथा रजिस्टर्ड पत्र भी भेजा जाता है।

यह बात ध्यान देना आवश्यक है कि अलग-अलग नवोदय विद्यालयों में यह दूसरे या तीसरे लिस्ट अलग-अलग तारीखों में आता है, इसका कोई निश्चित तिथि नहीं है, किसी एक नवोदय विद्यालय के लिए (Second List) कब आती है ये पता नहीं चलता। इसलिए निश्चित तिथि नहीं बताया जा सकता।

Must Read:-
JNVST : क्या है अनंतिम सूची ? | What is provisional list ?

Important:-
नवोदय में दाखिला के लिए जरुरी दस्तावेज (Document)

JNVST : क्या है अनंतिम सूची ? | What is provisional list ?

जवाहर नवोदय विद्यालय प्रवेश परीक्षा में सम्मिलित विद्यार्थियों से प्रत्येक जिले के मेरिट के आधार पर जिले में निर्धारित सीटों की संख्या के बराबर नवोदय विद्यालय समिति द्वारा एक चयन सूची जारी किया जाता है। ध्यान रहे इसी सूची को अनंतिम सूची (provisional list) कहा जाता है। यह लिस्ट केवल परीक्षार्थियों के परीक्षा में मेरिट के आधार पर जरी होता है, किन्तु इस सूची में नाम आ जाने मात्र से विद्यार्थी को नवोदय विद्यालय में प्रवेश प्राप्त हो ही जाएगा यह जरूरी नहीं है। इसलिए इसे अनंतिम सूची (provisional list) कहा जाता है या दूसरे शब्दों में कहें तो यह एक अस्थायी चयन सूची है।

यह चयन सूची स्थायी क्यों नहीं है ?

क्योंकि हमारे समस्त दस्तावेजों की जांच तथा स्वस्थ्य परीक्षण होना अभी बाकी है। नवोदय विद्यालय चयन परीक्षा के लिए आनलाईन फार्म भरते समय हमारे द्वारा जो भी जानकारी आनलाईन आवेदन में भर कर दी जाती है उस जानकारी के आधार पर यह सूची तैयार की गई होती है। अनंतिम सूची (provisional list) में नाम आने के बाद विद्यार्थी को उनके द्वारा आनलाईन आवेदन में दी गई समस्त जानकारी से सम्बंधित दस्तावेजों (Documents) की जांच कराकर उसकी प्रमाणित प्रति नवोदय में प्रवेश लेते समय जमा करने तथा स्वास्थ्य परीक्षण (Medical verification) में सबकुछ सही पाए जाने पर प्रवेश स्थायी हो जाता है।

Important:-
नवोदय में दाखिला के लिए जरुरी दस्तावेज (Document)

JNVST 2023 कक्षा 6 का रिजल्ट जारी, ऐसे चेक करें | JNVST RESULT 2023 CLASS 6TH DECLARED, STEP BY STEP GUIDE

जवाहर नवोदय विद्यालय कक्षा 6वीं चयन परीक्षा 29 अप्रैल 2023 कि रिजल्ट आज जारी कर दिया गया है। अपने रोल नंबर के आधार पर रिजल्ट जांच करने के लिए रोलनंबर तथा जन्मतिथि की जरूरत पड़़ेगी।
रिजल्ट का लिंक आपको नवोदय विद्यालय समिति की आधिकारिक वेबसाईट navodaya.gov.in प्राप्त हो जाएंगे।

यदि आप यहीं से सीधे रिजल्ट जांच करने वाले पेज पर जाना चाहते हैं तो निचे लिंक तथा रिजल्ट जांच करने की पूरी प्रक्रिया स्टेप-बाई-स्टेप दिया जा रहा है।

1. निचे दिये गए लिंक को क्लिक करने के बाद इस तरह का पेज खुलेगा।

2. निर्धारित स्थान पर अपना रोलनंबर तथा जन्मतिथि (कलेण्डर का उपयोग करें) भरकर निचे दिये गए CHECK RESULT पर क्लिक करें।

3. क्लिक करते ही आपका रिजल्ट आ जाएगा।

4. रिजल्ट चेक करने के बाद कमेन्ट सेक्शन पर कमेन्ट करे आपका सलेक्शन हुआ या नहीं या अन्य कोई बातें हो तो भी लिखें। यथा संभव जवाब दिया जाएगा।

अपना रिजल्ट चेक करेंCLICK HERE

DOCUMENT REQUIRED FOR ADMISSION IN JNV | नवोदय में दाखिला के लिए जरुरी दस्तावेज

DOCUMENTS REQUIRED FOR ASMISSION IN JNV

जवाहर नवोदय विद्यालय प्रवेश के लिए चयन परीक्षा का आयोजन हो चुका है। इस परीक्षा में अच्छे प्रदर्शन करने वाले विद्यार्थियों का चयनित होना निश्चित है। अपनी प्रदर्शन चेक करें [Check Your Number] तथा Cut Off Mark देखकर चयनित होने की सीमा में होने पर सफल होने की प्रत्याशा रखकर जवाहर नवोदय विद्यालय में प्रवेश संबंधी पूर्व तैयारी करना शुरू कर सकते हैं। सफल परीक्षार्थियों को जवाहर नवोदय विद्यालय में प्रवेश हेतु किन-किन आवश्यक दस्तावेजों एवं जरूरी चीजों की जरूरत पड़ेगी उसकी सूची नीचे कॉलम में दी जा रही है। विस्तृत विवरण के लिए इस पोस्ट को पूरा पढ़ें या हमारे यूट्यूब पर विडिओ देखें –

जरूरी दस्तावेजों की सूची

जरूरी दस्तावेज रिमार्क
प्रवेश आवेदन फार्मजवाहर नवोदय विद्यालय द्वारा प्रदान किया जाता है
जाति प्रमाण-पत्रसक्षम अधिकारी द्वारा जारी किया गया (फोटोकॉपी)
निवास प्रमाण-पत्र सक्षम अधिकारी द्वारा जारी किया गया (फोटोकॉपी)
आय प्रमाण-पत्र सक्षम अधिकारी द्वारा जारी किया गया (फोटोकॉपी)
जन्म प्रमाण-पत्र सक्षम अधिकारी द्वारा जारी किया गया (फोटोकॉपी)
मेडिकल सर्टिफिकेट जिला मेडिकल बोर्ड द्वारा जारी किया गया (ओरिजनल)
अंकसूची कक्षा तीसरी, चौथी और पांचवीं (फोटो कॉपी)
आधार कार्ड विद्यार्थी के साथ-साथ माता-पिता या अभिभावक (फोटोकॉपी)
शाला स्थानान्तरण प्रमाण-पत्र पांचवी पास का या कक्षा छठवीं में अध्ययनरत (ओरिजनल)
पासपोर्ट साइज के फोटो विद्यार्थी के 10 तथा माता-पिता या अभिभावक के 2-2
माता-पिता का शिक्षा प्रमाण-पत्र फोटोकॉपी
नवोदय परीक्षा प्रवेश-पत्र फोटोकॉपी
ग्रामीण होने का प्रमाण-पत्र राजस्व अधिकारी (तहसीलदार) द्वारा प्रमाणीकरण
  • प्रवेश आवेदन फार्म- सबसे पहले नवोदय विद्यालय में प्रवेश के लिए एक प्रवेश आवेदन फार्म की जरूरत पड़ेगी जो आपको आपके जिले के जवाहर नवोदय विद्यालय द्वारा प्रदान किया जाता है। इस प्रवेश आवेदन फार्म को साफ-साफ तथा पूरी तरह से भरकर उसके साथ जो-जो डॉक्यूमेंट संलग्न करने की जरूरत पड़ेगी उसकी एक-एक कर जानकारी यहाँ दी जा रही है –
  • जाति प्रमाण-पत्र – सबसे पहले जाति प्रमाण-पत्र की जरूरत उन विद्यार्थियों के लिए है, जो जाति के आधार पर जवाहर नवोदय विद्यालय में प्रवेश पा रहे हैं अर्थात आरक्षण की सीट पर चयन हुआ है। तो उनको सक्षम अधिकारी द्वारा जारी किया गया जाति प्रमाण-पत्र संलग्न करना होगा।
  • निवास प्रमाण-पत्र – दूसरी महत्वपूर्ण प्रमाण-पत्र है निवास प्रमाण-पत्र, आप जिस जिले में निवासरत है तथा जहाँ के लिए आप नें जवाहर नवोदय विद्यालय में प्रवेश लिए आवेदन किया है वहाँ का निवास प्रमाण-पत्र सक्षम अधिकारी द्वारा जारी किया गया हो, नवोदय प्रवेश आवेदन-पत्र के साथ संलग्न करना होगा।
  • आय प्रमाण-पत्र – तीसरे प्रमाण-पत्र विद्यार्थी के माता-पिता या पालक के नाम पर सक्षम अधिकारी द्वारा जारी किया गया आय प्रमाण-पत्र या नौकरी पेशा करने वालों के लिए वेतन प्रमाण-पत्र नवोदय प्रवेश आवेदन-पत्र के साथ संलग्न करना होगा।
  • जन्म प्रमाण-पत्र – विद्यार्थी का जन्म प्रमाण-पत्र की फोटोकॉपी नवोदय प्रवेश आवेदन-पत्र के साथ संलग्न करना होगा।
  • मेडिकल सर्टिफिकेट – पाँचवें नम्बर में मेडिकल सर्टिफिकेट तैयार कराना है। यह फार्म नवोदय प्रवेश आवेदन-पत्र के साथ प्राप्त होगा जिसे जिला मेडिकल बोर्ड में बच्चे का मेडिकल वेरिफिकेशन कराकर जिला मेडिकल बोर्ड का प्रमाणीकरण के साथ संलग्न करना होगा। ध्यान रहे प्रत्येक जिले में जिला मेडिकल बोर्ड यह कार्य सप्ताह में केवल एक दिन करती है। आप अपने जिले के जिला शासकीय अस्पताल से निर्धारित दिन को पहले से पता कर लें कि सप्ताह में किस दिन मेडिकल बोर्ड की कार्य होती है। उसी दिन बच्चे को लेकर जिला अस्पताल से मेडिकल सर्टिफिकेट तैयार करा लें।
  • अंकसूची – कक्षा तीसरी, चौथी और पांचवीं, ये तीन कक्षाओं के अंकसूची आपको नवोदय प्रवेश आवेदन-पत्र के साथ संलग्न करना होगा।
  • आधार कार्ड – विद्यार्थी के साथ-साथ माता-पिता या अभिभावक का आधार कार्ड नवोदय प्रवेश आवेदन-पत्र के साथ संलग्न करना होगा।
  • शाला स्थानान्तरण प्रमाण-पत्र – यह प्रमाण-पत्र कक्षा पांचवी पास का या कक्षा छठवीं में अध्ययनरत का रहेगा।
  • पासपोर्ट साइज के फोटो – बच्चे का 10 पासपोर्ट साइज के फोटो तथा माता-पिता के दो-दो या तीन-तीन पासपोर्ट साइज फोटो की जरूरत पड़ेगी।
  • माता-पिता का शिक्षा प्रमाण-पत्र- यदि विद्याथी के माता-पिता या कोई एक पढ़े लिखे हैं तो उनके अंतिम शिक्षा का प्रमाण-पत्र या अंकसूची भी नवोदय प्रवेश आवेदन-पत्र के साथ संलग्न करना होगा।
  • नवोदय परीक्षा प्रवेश-पत्र- आपके नवोदय प्रवेश परीक्षा का एडमिट कार्ड यानी कि प्रवेश-पत्र भी नवोदय में प्रवेश लेते समय जमा करना होगा।
  • ग्रामीण होने का प्रमाण-पत्र- इस प्रमाण-पत्र का फार्मेट नवोदय प्रवेश आवेदन-पत्र के साथ प्राप्त होगा जिसे राजस्व अधिकारी (तहसीलदार) द्वारा प्रमाणीकरण कराना होगा।

नवोदय कक्षा 6th कट-ऑफ मार्क अनुमान

29 अप्रैल 2023 को सम्पन्न हुए जवाहर नवोदय विद्यालय प्रवेश परीक्षा के प्रश्न पुस्तिका के स्तर के आधार पर अध्ययन पश्चात हमारी नवोदय स्टडी टीम ने अपने स्तर पर एक संभावित कट ऑफ मार्क्स तैयार किया है जिसमें परीक्षा में आरक्षित सीटों के आनुसार 80 प्रश्न में कितने प्रश्न सही करने वाले उम्मीदवारों का सलेक्शन होने की संभावना व्यक्त किया गया है।

ध्यान रहे यह कट ऑफ मार्क्स एक अनुमान मात्र है जिसे देशभर के अलग-अलग राज्यों से जानकारी प्राप्त करने के बाद उम्मीदवारों के प्रदर्शन के आधार पर सर्वेक्षण द्वारा हमारी नवोदय स्टडी टीम फिर से एक बार नयी एवं विश्वसनीय कट ऑफ मार्क्स अनुमान जारी करेगा कि इस परीक्षा में आरक्षित सीटों के आनुसार 80 प्रश्न में कितने प्रश्न सही करने वाले उम्मीदवारों का सलेक्शन होने की संभावना है। इसे जारी होने में परीक्षा के बाद 7 से 8 दिन का समय लगेगा।

यहाँ जो कट-ऑफ अंक दिए जा रहे हैं यह प्रश्न पुस्तिका के कठिनाई स्तर पर आधारित है, जबकि परीक्षा का रिजल्ट (चयन लिस्ट) जिलेवार जारी होता है। इस आधार पर कुछ बेहतर स्कूली शिक्षा वाले जिलों तथा कमजोर स्कूली शिक्षा वाले जिलों के अंकों में 2% का विचलन (अंतर) संभव है।

कुछ जिलों में बेहतर स्कूली शिक्षा होने के बावजूद भी कट-ऑफ कम चला जाता है क्योंकि ऐसे जिलों में कुछ आन्य बेहतर विकल्प भी होते हैं जिससे आवेदन संख्या कम होते हैं। इसके विपरित कुछ पिछड़े जिलों में भी कट-ऑफ ऊपर चला जाता है क्योंकि यहाँ कोई विकल्प नहीं होने के कारण आधिक आवेदन की जाती है तथा तैयारी पर विशेष ध्यान दिया जाता है।

कट-ऑफ मार्क :-

शहरी/ग्रामीण अनारक्षित 25% सीटों के लिए अनुमानित कट-ऑफ मार्क (80 प्रश्न में से)

CategoryBoysGirls
UR74-8073-80
OBC73-7472-73
ST72-7471-73
SC72-7470-73

ग्रामीण बच्चों के लिए आरक्षित 75% सीट का अनुमानित कट-ऑफ मार्क (80 प्रश्न में से)

CategoryBoysGirls
UR72-7370-73
OBC70-7268-72
ST65-7263-71
SC63-7260-70

FAQs

नवोदय का रिजल्ट कब आएगा ?

वैसे तो नवोदय का रिजल्ट आने में ढाई से तीन महिने का समय लगता है। इस वर्ष जुलाई के प्रथम सप्ताह में रिजल्ट आने की संभावना है।

हमरे जिले में कितने बच्चों ने नवोदय की परीक्षा दी है ?

यह जानकारी आपके जिले के नवोदय विद्यालय से मिल जाएगी।

नवोदय मॉडल आन्सर (navodaya model answer) कब जारी होगा ?

नवोदय विद्यालय समिति मॉडल आन्सर जारी नहीं करता है।

नवोदय परीक्षा के प्राप्तांक कैसे पता करें ?

नवोदय की रिजल्ट में केवल चयनित हुआ या नहीं हुआ की जानकारी मिलती है। आपके द्वारा अर्जित अंक नहीं बताया जाता।

जवाहर नवोदय विद्यालय चयन परीक्षा कक्षा 6th 2023 प्राप्तांक ऐसे चेक करें [Answer Key]

आज 29 अप्रैल 2023 को देश भर में जवाहर नवोदय विद्यालय चयन परीक्षा कक्षा 6th (शिक्षा सत्र 2023-24) का सफलतापूर्वक आयोजन हो गया। अब बच्चों को इस परीक्षा का संभावित उत्तर कुंजी (Probable Answer Key) दिया जा रहा है, ज्ञातव्य हो कि देश भर में यह परीक्षा अलग-अलग राज्यों में अलग-अलग कोड पर लिया गया है लेकिन सभी कोड के प्रश्न एक जैसे हैं। प्रश्नों का क्रम आगे-पीछे जरूर है लेकिन सभी कोड के पेपर में एक जैसे प्रश्न दिए गए हैं। देशभर के सभी राज्यों के सभी कोड के प्रश्न पत्रों के लिए मॉडल आंसर अलग अलग बनाना संभव नहीं है इसलिए हम यहाँ प्रश्न पेपर NJ 623 परीक्षण पुस्तिका कोड G के सभी पृष्ठों पर सभी प्रश्नों के सही उत्तरों पर सही (✔️) का निशान लगाकर अपलोड कर दिया है, आप अपने कोड के पेपर से हमारे द्वारा दिए गए आंसर को अच्छी तरह से मिलान कर सकते हैं।

निचे दिए गए लिंक पर जाकर अपने उत्तर की जांच कीजिए –

CLICK HERE TO CHECK YOUR ANSWER

Today, on April 29, 2023, the Jawahar Navodaya Vidyalaya Selection Test for Class 6 (Academic Year 2023-24) has been successfully conducted throughout the country. Now, the probable answer key for this examination is being provided to the children. It should be noted that this examination was conducted in different states with different codes, but the questions in all the codes are the same. The sequence of questions may be different in different code papers, but the questions in all code papers are the same. It is not possible to create separate model answers for all the question papers of all codes in the country, so we have uploaded the correct answers with a tick mark (✔️) on all the pages of question paper NJ 623, Code G. You can match our answers with the answers on your code paper.

Please click on the link below to check your answers.

CLICK HERE TO CHECK YOUR ANSWER

क्या रहेगा इस वर्ष का नवोदय कट ऑफ मार्क्स : 29 अप्रैल 2023

इस वर्ष के कट ऑफ मार्क्स क्या रहेगा इसे समझने से पहले हमें दो बातों पर ध्यान देना होगा। इन बातों के बाद वास्तविक निर्णय पर पहुंचा जा सकता है।

जैसा कि हमें मालूम है इस वर्ष जवाहर नवोदय विद्यालय कक्षा 6 की चयन परीक्षा में सम्मिलित होने वाले समस्त विद्यार्थियों का उम्र 11 से 13 वर्ष है। ये सभी विद्यार्थी कोविड-19 (लॉकडाऊन) के समय कक्षा 2 तथा 3 में अध्ययनरत थे। इन दो कक्षाओं की पढ़ाई प्रभावित हुई है। इस प्रकार इस वर्ष जवाहर नवोदय विद्यालय कक्षा 6 में एडमिशन के लिए चयन परीक्षा देने वाले विद्यार्थी सीखने की अंतराल (लर्निंग गेप) के करण कक्षा पहली की पढ़ाई के बाद सीधे कक्षा तीसरी तथा चौथी की पढ़ाई शिक्षक के द्वारा कक्षा कक्ष में कर पाए हैं। मतलब यह कि वे केवल 3 वर्ष ही शैक्षणिक माहौल में समय व्यतीत किए।

बहुत से विद्यार्थियों को नवोदय के पाठ्यक्रमानुसार पढ़ाई की सुविधाएं भी उपलब्ध नहीं हो सकी। इसे सीखने की अंतराल (लर्निंग गेप) के नाम से जानते हैं। वे सीखने की इस अंतराल को अनेक कारणों से पूरा भी नहीं कर पाए। इस कारण ऐसे विद्यार्थियों का स्तर अन्य वर्षों के विद्यार्थियों के मुकाबले कुछ कमजोर है।

उपर्युक्त बातों के आधार पर गौर करें तो इस वर्ष का परीक्षा पेपर सरल प्रकृति की हो सकती है। ताकि सीखने की इस अंतराल के कारण जिन विद्यार्थियों ने अच्छी तरह पढ़ाई नहीं कर पाए वे भी नवोदय विद्यालय में प्रवेश से वंचित न हो जाएँ।

दूसरी बात यह है कि पिछले वर्ष 30 अप्रैल 2022 की जवाहर नवोदय विद्यालय प्रवेश परीक्षा के पेपर पर गौर करें तो पेपर सरल नहीं थे। जबकि 2022 के विद्यार्थी भी कोविड-19 के समय में सीखने की अंतराल (लर्निंग गेप) के शिकार हुए थे। इस आधार पर पिछले 4-5 वर्षों के अनुरूप औसत स्तर के पेपर आने की संभावन बनती है।

अब इस वर्ष की कट ऑफ मार्क्स की बात करते हैं। ऊपर हमने इस वर्ष की पेपर सरल या औसत (एवरेज) स्तर की हो सकती है इस विषय पर चर्चा की है। चर्चा में यह भी बताया गया है कि पेपर कैसे भी हो आप उसे हल कैसे करें।

यदि पेपर औसत से सरल हो तो कट ऑफ मार्क्स क्या हो सकता है ? यदि पेपर औसत से सरल हो तो कट ऑफ मार्क्स बहुत ऊपर जा सकता है। जैसे कोविड-19 के समय 2021 में पेपर सरल आया था। 2021 के परीक्षा में 100% मार्क्स लाने वाले विद्यार्थियों की संख्या बहुत अधिक थे। कहीं-कहीं 97%, 98%, 99% तो कहीं 100% अंक लाने वाले विद्यार्थियों का भी सलेक्शन नहीं हो पाया था। पेपर सरल आने पर ज्यादा तैयारी करने वाले विद्यार्थी उतावलेपन में प्रश्न गलत कर जाते हैं। इस पर ध्यान देने की जरुरत है। पेपर सरल आने पर हल करने में कोई जल्दबाजी न करें। वैसे भी सरल पेपर आराम से हल करने पर भी तय समय में पूरा हल हो ही जाएगा। पूरा समय लें। यदि पेपर औसत स्तर का हो तो कट ऑफ मार्क्स क्या हो सकता है ? औसत पेपर जैसे पिछले 4-5 वर्षों के पेपर के अनुसार पेपर आए तो कट ऑफ मार्क्स बहुत निचे आ सकता है। अलग-अलग आरक्षण वर्ग के विद्यार्थियों का 70% से 85% मार्क्स पर भी सलेक्शन हो सकता है। औसत स्तर के पेपर आने पर विद्यार्थियों को चाहिए कि पेपर गंभीरता से हल करें।परीक्षा में अच्छे प्रदर्शन के लिए आप सभी को हमारे नवोदय स्टडी टीम की ओर से बहुत-बहुत शुभकामनाएँ, आपकी उज्ज्वल भविष्य की शुभ कामना के साथ…

ST/SC/OBC वर्ग की लड़कियों तथा विकलांग कोटे से नवोदय विद्यालय में चयनित होने के लिए जादुई नम्बर

ST/SC/OBC वर्ग की लड़कियों तथा विकलांग कोटे से नवोदय विद्यालय में चयनित होने के लिए बस इतने नम्बर की जरूरत है। इस पोस्ट में पेश है इस जादुई नम्बर को लाने के लिए तैयारी सम्बन्धी जरूरी टिप्स तथा मोटीवेशनल लेख। ऊपर बताए गए कोटे के छात्राओं को नवोदय विद्यालय में प्रवेश प्राप्त करने के लिए क्वालीफाई अंकों से थोड़े कुछ ही अधिक अंक लाने की जरूरत होती है क्योंकि प्रायः यह देखा गया है कि इस वर्ग के होनहार और प्रतिभावान छात्राएँ अच्छे अंक अर्जित करके सामान्य श्रेणी के शीटों में अपना स्थान बना लेते है इस कारण इस कैटेगरी के सभी सीटें मध्यम तथा कुछ कमजोर स्तर के छात्राओं के लिए रिक्त रहता है या उनको प्राप्त होने का मौका मिल जाता है। इस कैटेगरी में उम्मीदवारों की संख्या कम होने के कारण यहाँ उन छात्राओं को भी सलेक्शन मिल जाता है जो चयन परीक्षा में क्वालीफाई अंक से थोड़ा बहुत अधिक अंक लेने में सफल हो जाते हैं। यही है इनके जादुई नम्बर।

क्वालीफाई अंक क्या है ?

किसी भी प्रवेश परीक्षा में परीक्षार्थी को प्रतियोगिता में बने रहने के लिए कुल पूर्णांक में से एक निश्चित प्रतिशत अंक लाना अनिवार्य होता है जो प्रायः 1/3 या 33% होता है। यही क्वालीफाई अंक या “Passing mark” कहा जाता है।
अब नवोदय प्रवेश परीक्षा में तीन खण्ड होते है। हमें प्रतयेक खण्डों से क्वालीफाई अंक लाना जरूरी है। यहाँ प्रत्येक का अलग-अलग विवरण दिया जा रहा है तथा उसके बाद बताएंगे कि हमसे कहाँ और कैसे चूक हो जाती है-

मानसिक योग्यता परीक्षण –

इस भाग में 40 प्रश्न दिए जाते है। जो 50 अंकों का होता है इस भाग के लिए क्वालीफाई अंक 17 होंगे जो 14 प्रश्न सही करने पर हो जाता है किन्तु इस भाग से अधिकांश बच्चे 36 से 40 प्रश्न सही करते हैं और हमें भी यही करना है क्योंकि यही अंक हमारी औसत अंक को बढ़ाकर हमें सलेक्शन के करीब लेकर जाता है।

अंक गणित परीक्षण –

इस भाग में 20 प्रश्न दिए जाते है। जो 25 अंकों का होता है इस भाग के लिए क्वालीफाई अंक 8.75 होंगे जो कम से कम 7 प्रश्न सही करने पर प्राप्त हो जाता है किन्तु इस भाग से बहुत से बच्चे 7 प्रश्न भी सही नहीं कर पाते और प्रतियोगिता से बाहर हो जाते हैं। इस भाग में हम 12 से 17 अंक आसानी से कैसे ला सकते हैं उसकी चर्चा निचे करेंगे।

भाषा परीक्षण –

इस भाग में भी 4 गद्यांशों पर आधारित 20 प्रश्न दिए जाते है। जो 25 अंकों का होता है यहाँ भी क्वालीफाई अंक 8.75 होंगे जो कम से कम 7 प्रश्न सही करने पर पूरा हो जाता है किन्तु यहाँ हमें अधिकतम अंक लाने की कोशिश करना जरूरी है और हम मेहनत करके ला भी सकते हैं। यह भाग भी हमारे अच्छे प्रदर्शन पर औसत अंक में वृद्धि करके हमें सलेक्शन के करीब पहुंचाता है।

अंक गणित भाग में 12 से 17 अंक कैसे लाएं –

आमतौर पर हम कठिन से कठिन प्रश्नों को तैयारी करने की कोशिश करते हैं जबकि ये कठिन प्रश्न हमारे वश की नहीं होती। इसके साथ ही कठिन प्रश्नों पर ज्यादा ध्यान देने की वजह से सरल प्रश्नों की भी तैयारी हम सही से नहीं कर पाते। यही कारण है कि हम अंकगणित के इस भाग में क्वालीफाई अंक लाने से चूक जाते हैं। जबकि हमेशा 20 प्रश्नों में से 12-13 प्रश्न सरल आते है। यदि हम केवल इन्हीं सरलतम प्रश्नों का ही तैयारी करें और उन्हीं प्रश्नों को परीक्षा में हल करें तथा शेष प्रश्नों जिसे हम हल नहीं कर पा रहें हैं या जिसकी हमने तैयारी नहीं की है के लिए कोई एक आप्सन को ही चयन करें (तुक्का लगाएँ) तो भी हम 12 से 17 अंक आसानी से ला सकते हैं।

अंक गणित के सभी सरलतम भाग जहाँ से सरल प्रश्न पूछे जाते हैं –

  • भाज्य-अभाज्य संख्याओं की समझ तथा इससे संबंधित सरल प्रश्नों की तैयारी
  • कम से कम 2 से 10 तक की संख्याओं से विभाज्यता के नियम का पूर्ण तैयारी रखना
  • संख्याओं का गुणा, भाग, जोड़ और घटाव को ठीक-ठीक कर पाना
  • गुनखण्ड और गुणज की अच्छी तरह से समझ विकसित करना
  • भिन्नों को गुणा करने, भाग करने, जोड़ने और घटाने के नियमों को अच्छी से तैयारी कर लेना
  • लघुत्तम (LCM) और महत्तम (HCF) निकलने तथा इसके गुण का समझ विकसित करना
  • दशमलव संख्याओं को गुणा करने, भाग करने, जोड़ने और घटाने सम्बन्धी नियमों की अच्छी से तैयारी कर लेना
  • भिन्नों को दूसरे भिन्न के रूप में बदलने के नियम को अच्छी से समझ लेना
  • धनराशि को खर्च करने की हिसाब कर पाना। रुपये-पैसे की समझ विकसित करना
  • लम्बाई (कि.मी., मी., से.मी.), वजन (ग्राम, कि.ग्र.) व समय (घंटा, मिनट, सेकंड तथा am pm) सम्बन्धी प्रश्नों की अच्छी तरह से तैयारी रखना
  • दूरी, समय, गति से संबंधित प्रश्नों में साधारण प्रकार के प्रश्नों जैसे- चाल = दूरी/समय आदि की अच्छी तैयारी रखना
  • BODMAS के नियम को बारबार प्रैक्टिस करना
  • प्रतिशत निकालने तथा संख्याओं को प्रतिशत में बदलने का भरपूर तैयारी रखना
  • लाभ तथा हानि निकालना तथा उसे प्रतिशत में बदलने एवं प्रतिशत लाभ-हानि को संख्याओं में बदलने की तैयारी
  • साधारण ब्याज निकालने तथा समय, दर, मूलधन निकालने की तैयारी
  • परिमाप तथा क्षेत्रफल की समझ विकसित करके इसे ज्ञात करने की विधियों की तैयारी

उपर्युक्तानुसार चैप्टर के सरलतम प्रश्नों का अच्छी तरह से तैयारी तथा समझ विकसित करें। परीक्षा में केवल सरल ही प्रश्नों को हल करने के लिए एकाग्रता लवें। समझ नहीं आने वाले प्रश्नों के लिए कोई एक आप्शन को ही तुक्का लगाएँ। आप निश्चित रूप से क्वालीफाई अंक तो पाएंगे ही साथ ही 12 से 17 अंक तक पहुंच कर सलेक्शन भी प्राप्त करेंगे।

NAVODAYA MOCK TEST
NAVODAYA MODEL PAPER
NAVODAYA OLD PAPER
NAVODAYA IMP QUESTIONS
NAVODAYA 26 OMR SHEET
BLOG PAGE

29 अप्रैल 2023 कक्षा 6, जवाहर नवोदय विद्यालय प्रवेश परीक्षा की फूल तैयारी के लिए फ्री अध्ययन सामग्री

29 अप्रैल 2023 कक्षा 6 जवाहर नवोदय विद्यालय प्रवेश परीक्षा की फूल तैयारी के लिए फ्री अध्ययन सामग्री को आयोजित जवाहर नवोदय विद्यालय प्रवेश परीक्षा कक्षा 6 की फूल तैयारी के लिए फ्री प्राप्त करें-
मॉक टेस्ट, मॉडल पेपर, ओल्ड पेपर, आईएमपी क्वेश्चन, ओ.एम.आर.शीट, नोट्स एवं ब्लॉग टिप्स।

क्लिक करें

Get free preparation for Jawahar Navodaya Entrance Exam for Class 6 on 29th April 2023-
Mock Tests, Model Papers, Old Papers, IMP Questions, OMR Sheets, Notes & Blogs tips.

Click here

नवोदय प्रवेश परीक्षा कक्षा 6 2023 के पाठ्यक्रम अनुसार भाषा परीक्षण 007

नवोदय प्रवेश परीक्षा कक्षा 6 के पाठ्यक्रम अनुसार भाषा परीक्षण के अन्तर्गत 4 अनुच्छेदों में 20 प्रश्न दिये जाते हैं। परीक्षा में सफल होने के लिए अनुच्छेद पर दिये गए प्रश्नों को अधिकाधिक सही करने की जरूरत होती है। निचे अनुच्छेद और उनपर प्रश्न दिये गए हैं। हल करें आपकी तैयारी में कुछ लाभ अवश्य होगा।

LANGUAGE MOCK TEST 007
OTHER MOCK TESTS
NAvodaya Second List(1)

जवाहर नवोदय विद्यालय सेकंड लिस्ट नहीं होगा जारी ?

जवाहर नवोदय विद्यालय चयन परीक्षा द्वारा कक्षा 6 और कक्षा 9 में शिक्षा सत्र 2024-25 में दाखिला लेने के लिए आयोजित चयन प्रवेश परीक्षा का रिजल्ट नवोदय विद्यालय समिति ने 31 मार्च 2024 को जारी कर दिया है। जिसे नवोदय विद्यालय समिति की आधिकारिक वेबसाइट navodaya.gov.in पर देखे जा सकते हैं। जवाहर नवोदय विद्यालय के …

Read more

हजारों प्रश्नों का नवोदय प्रवेश परीक्षा मॉक टेस्ट कक्षा 6 2023 के लिए : सफलता का आधार

2023-24 के लिए जवाहर नवोदय विद्यालय में कक्षा छठवीं स्तर पर प्रवेश परीक्षा के माध्यम से प्रवेश प्राप्त करने के इच्छुक विद्यार्थियों ने परीक्षा में सफलता प्राप्त करने के लिए तैयारी के तरह-तरह उपाय करते नजर आते हैं। अधिक से अधिक अध्ययन सामाग्रियों की तालाश होती रहती है ताकि तैयारी भी अधिक से अधिक हो सके

हमारी नवोदय स्टडी टीम ने इसी को और भी अधिक बेहतर बनाने के लिए हमारे वेबसाइट के माध्यम से ऐसे ही तैयारी करने वाले बच्चों के लिए पूरी तरह मुफ्त में मॉक टेस्ट सीरीज तैयार कर अपलोड किया हुआ है। विद्यार्थी इस टेस्ट सीरीज क़ देकर अपनी तैयारी को और भी अधिक मजबूत बनाने में उपयोग कर सकते हैं।

मॉक टेस्ट में अपने भाषा (माध्यम) बदलने की सुविधा :




इस टेस्ट में विद्यार्थी अपने परीक्षा के लिए चुने हुए माध्यम के अनुसार भाषा बदलकर पेपर दे सकता है। भाषा बदलने के लिए टेस्ट देने से पहले, प्रश्न क्र. 1 के ऊपर में एक बटन दिया गया है। बटन के पुल डाउन एरो को क्लिक करने पर आपको विभिन्न भाषाओं या माध्यमों के आप्शन देखने को मिलेगा। किसी एक भाषा को सेलेक्ट करने का ऑप्शन दिया जाता है आप जिस भाषा को आप सेलेक्ट करेंगे आपका मॉक टेस्ट उसी भाषा या माध्यम में बदल जाएगा और आप आसानी से अपना टेस्ट पूरा कर पाएंगे।

हमारे टीम द्वारा विद्यार्थियों के लिए जो मॉक टेस्ट सीरीज का निर्माण किया गया है यह सीरीज विगत वर्षों से हजारों बच्चों को सफलता देकर नवोदय विद्यालय तक पहुंचाया है। आप भी इन मॉक टेस्ट सीरीज का उपयोग करके अपनी तैयारी को और भी अधिक मजबूत कर सकते हैं।

साईट पर दिए गए 100 से अधिक मॉक टेस्टों में हजारों प्रश्नों का समावेश किया गया है। इसके बार-बार प्रैक्टिस करने से बहुत से सवाल हल करने में आसान हो जाते हैं तथा बच्चे तय समय सीमा में नवोदय प्रवेश परीक्षा में दिए गए सवालों को आसानी से हल कर लेते हैं।

FREE MATH MOCK TEST
FREE MENTAL ABILITY MOCK TEST
FREE LANGUAGE MOCK TEST
NAvodaya Second List(1)

जवाहर नवोदय विद्यालय सेकंड लिस्ट नहीं होगा जारी ?

जवाहर नवोदय विद्यालय चयन परीक्षा द्वारा कक्षा 6 और कक्षा 9 में शिक्षा सत्र 2024-25 में दाखिला लेने के लिए आयोजित चयन प्रवेश परीक्षा का रिजल्ट नवोदय विद्यालय समिति ने 31 मार्च 2024 को जारी कर दिया है। जिसे नवोदय विद्यालय समिति की आधिकारिक वेबसाइट navodaya.gov.in पर देखे जा सकते हैं। जवाहर नवोदय विद्यालय के …

Read more

2023-24 जवाहर नवोदय विद्यालयों में कक्षा छठी में प्रवेश अधिसूचना | Download final prospectus | Admission Notification to Class VI in Jawahar Navodaya Vidyalayas (2023-24)

Admission Notification to Class VI in Jawahar Navodaya Vidyalayas (2023-24)

कक्षा VI JNVST 2023 के लिए आवेदन करने के लिए योग्य उम्मीदवारों से ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित करने के लिए NVS द्वारा सभी व्यवस्थाएं की गई हैं और पंजीकरण पोर्टल पहले ही लाइव कर दिया गया है। कक्षा VI JNVST-2023 सभी JNVST में 29 अप्रैल 2023 को एक बार में आयोजित की जाएगी।

चयन परीक्षा 29 अप्रैल 2023, शनिवार को सुबह 11:30 बजे से दोपहर 1:30 बजे तक आयोजित की जाएगी।

पंजीकरण के समय उम्मीदवारों और अभिभावकों को नि:शुल्क सहायता प्रदान करने के लिए प्रत्येक ज.न.वि. में हेल्प डेस्क खोला जाएगा साथ ही जिला प्रशासन के सहयोग से, माता-पिता को पूर्व योजना और सूचना के साथ सभी ब्लॉकों में शिविरों की व्यवस्था की जा सकती है। पांचवीं कक्षा वाले विद्यालयों में प्रधानाध्यापकों के समन्वय से पंजीकरण शिविर भी आयोजित किए जा सकते हैं और संबंधित माता-पिता को अध्ययन प्रमाण पत्र फोटो, उम्मीदवार का आधार नंबर और आधार पंजीकृत मोबाइल नंबर के साथ मोबाइल लाने के लिए सूचित किया जा सकता है।

चूंकि पंजीकरण के लिए उपलब्ध अवधि सीमित है, कृपया सक्रिय रूप से कार्य करने की जरूरत है।

पंजीकरण प्रक्रिया में शुरू किए गए परिवर्तनों को नोट करने के लिए कक्षा VI JNVST-2023 के लिए प्रॉस्पेक्टस सह अधिसूचना देखें।

पंजीकरण पोर्टल 31.01.2023 को बंद कर दिया जाएगा

ऑनलाइन आवेदन पत्र अपलोड करने के लिए कुछ महत्वपूर्ण दिशानिर्देश

जवाहर नवोदय विद्यालय में कक्षा छठी में प्रवेश के लिए ऑनलाइन आवेदन पत्र स्व-व्याख्यात्मक है। हालांकि, छात्रों और उनके माता-पिता द्वारा निम्नलिखित दिशानिर्देशों को विशेष रूप से ध्यान में रखा जाना चाहिए।

  1. जिस जिले में जेएनवी स्थित है, केवल उस जिले के वास्तविक निवासी उम्मीदवारों को ही उस जिले में जेएनवीएसटी के लिए उपस्थित होने की अनुमति है जहां वह कक्षा V में पढ़ रहा/रही है। भारत सरकार द्वारा अधिसूचित उसी जिले के माता-पिता का निवास प्रमाण पत्र, जहां उम्मीदवार ने कक्षा V का अध्ययन किया है और JNVST के लिए उपस्थित हुए हैं, दस्तावेज़ सत्यापन के समय अनंतिम रूप से चयनित उम्मीदवार द्वारा प्रस्तुत किया जाना है।
  2. प्रॉस्पेक्टस को ध्यान से पढ़े। यह सुनिश्चित करने के बाद पूरी जानकारी भरें कि उम्मीदवार निर्दिष्ट सीमा (01.05.2011 से 30.04.2013) के भीतर जन्म तिथि, कक्षा III, IV और V मान्यता प्राप्त संस्थान में। (सरकारी / सरकारी सहायता प्राप्त / मान्यता प्राप्त / एनआईओएस)। में स्कूली शिक्षा जैसी सभी निर्धारित आवश्यकताओं को पूरा करता है।
  3. श्रेणी यानी सामान्य, अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग और दिव्यांग के संबंध में आवेदन पत्र के साथ अपलोड किए जाने वाले प्रमाण पत्र को ध्यान से भरें। लड़का/लड़की और ग्रामीण/शहरी। यदि प्रवेश के समय यह पाया जाता है कि एक उम्मीदवार ने एक ऐसी श्रेणी का चयन किया है जिससे वह वास्तव में संबंधित नहीं है, तो उसका चयन रद्द किया जा सकता है। पंजीकरण पोर्टल में अपलोड किए जाने वाले प्रमाण पत्र पर हेड मास्टर के हस्ताक्षर और मुहर अनिवार्य है।
  4. (a) अंकों के साथ-साथ शब्दों में जन्म तिथि का उल्लेख करें। जन्म प्रमाण पत्र और स्कूल के रिकॉर्ड के अनुसार जन्म तिथि सही लिखें। यदि बाद में यह पाया जाता है कि उम्मीदवार की जन्म तिथि स्कूल के रिकॉर्ड और जन्म प्रमाण पत्र से मेल नहीं खाती है, तो उसकी उम्मीदवारी खारिज कर दी जाएगी। एनवीएस को मान्य करने का अधिकार है
    (b) स्थायी पहचान चिह्न जिन्हें स्पष्ट रूप से पहचाना जा सकता है, उम्मीदवार द्वारा आवेदन पत्र में उल्लिखित किया जाएगा।
  5. उम्मीदवार और माता-पिता/अभिभावक दोनों के हस्ताक्षर अपलोड करते समय अपलोड किए जाने चाहिए |
  6. टेस्ट के लिए ऑनलाइन आवेदन जमा करने की अंतिम तिथि 31 जनवरी 2023 है

चेतावनी: यदि कॉलम खाली छोड़ दिया जाता है या प्रविष्टियां अपूर्ण हैं, तो आवेदन पत्र रद्द कर दिया जाएगा। आवेदकों को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि वे शिक्षा, आयु, श्रेणियों (एससी/एसटी/ओबीसी/दिव्यांग) और क्षेत्र (शहरी/ग्रामीण) जहां भी लागू हो, की सभी निर्धारित आवश्यकताओं को पूरा करते हैं। यदि ऑनलाइन आवेदन पत्र में दी गई कोई भी जानकारी बाद के सत्यापन पर झूठी / गलत / बेमेल पाई जाती है, तो उम्मीदवार के चयन के बाद भी, प्रवेश रद्द करने के लिए उत्तरदायी होगा और नवोदय विद्यालय समिति का निर्णय अंतिम और बाध्यकारी होगा। इस संबंध में कोई पत्राचार नहीं किया जाएगा।किसी भी उम्मीदवार द्वारा झूठे प्रमाण पत्र / घोषणा / सूचना के आधार पर प्राप्त किए गए ऐसे प्रवेश, यदि कोई हों, तो न केवल रद्द कर दिए जाएंगे, बल्कि विद्यालय में अपने पूरे प्रवास के दौरान छात्र पर किए गए खर्च को वसूलने का अधिकार भी समिति के पास सुरक्षित है

Final prospectusDownload
HomeVisit
Sainik School Paper 2023Paper

Sainik School Paper 2023 | स्कूल प्रवेश परीक्षा 2023

Sainik School Paper

Sainik School Paper : आल इंडिया सैनिक स्कूल प्रवेश परीक्षा 2023 जनवरी माह में होने वाला है। ऐसे में Sainik School Paper की सैम्पल पेपर आपको काफी मदद पहुंचा सकती है। आप जितना ज्यदा से ज्यादा सैम्पल पेपर का सहारा लेकर बच्चों का प्रैक्टिस कराएंगे फायदा भी उतनी ज्यादा होगी।

बाजार में विभिन्न प्रकाशनों के सैम्पल Sainik School Paper उपलब्ध है। आप किसी भी प्रकाशन का पेपर लेकर बच्चों को प्रैक्टिस करावें। कुछ सैम्पल पेपर हमारे इस वेबसाईट पर भी निःशुल्क उपलब्ध है। लिंक निचे दिया जा रहा है।

सैम्पल पेपर से तैयारी करने से होने वाले फायदे :

  • परीक्षा का प्रेशर कम हो जाता है।
  • टाईम मैनेजमेंट में सहायक होती है।
  • परीक्षा पैटर्न की जानकारी मिल जाती है।
  • जरूरी कार्य याद हो जाते हैं।
  • त्रुटि की सम्भावना कम हो जाती है।
  • घंटों तक परीक्षा में बैठने की आदत बन जाती है।
  • घबराहट नहीं होती।

बच्चे को सीधे परीक्षा में सम्मिलित न करावें। परीक्षा पूर्व सैम्पल Sainik School Paper से बच्चे का प्रैक्टिस अवश्य करावें।

AISSEE सैनिक स्कूल प्रवेश परीक्षा एवं नवोदय प्रवेश परीक्षा कक्षा 6 गणित प्रैक्टिस सेट 01 : परीक्षा से पहले इन 20 प्रश्नों का कर लें तैयारी

AISSEE सैनिक स्कूल प्रवेश परीक्षा कक्षा 6 | गणित प्रैक्टिस सेट 02 : परीक्षा से पहले 100 प्रश्नों का सीरीज

AISSEE सैनिक स्कूल प्रवेश परीक्षा कक्षा 6 | गणित प्रैक्टिस सेट 03 : परीक्षा उपयोगी 100 प्रश्नों का सीरीज प्रश्न क्रमांक 41 से 60

AISSEE सैनिक स्कूल प्रवेश परीक्षा कक्षा 6 | गणित प्रैक्टिस सेट 04 : परीक्षा उपयोगी 100 प्रश्नों का सीरीज प्रश्न क्रमांक 61 से 80

सैनिक स्कूल प्रवेश परीक्षा प्रैक्टिस सेट 05 : गणित के 100 अति महत्वपूर्ण प्रश्न, परीक्षा के लिए जाने से पहले एकबार जरूर देखें

Navodaya Entrance Exam 2023

Navodaya Entrance Exam 2023

Navodaya Entrance Exam 2023 : JNVST 2023 Class 6 का परीक्षा नोटिफिकेशन आने में काफी विलम्ब हो चुका है। विद्यार्थियों से लेकर अभिभावकों को परीक्षा संबंधी जानकारी पाने के लिए Navodaya Entrance Exam 2023 की नोटिफिकेशन का बेसब्री से इंतजार है। सोशल मीडिया में तरह-तरह के कयास भी लगाए जा रहे हैं। फिर भी इतने विलम्ब होने का कोई स्पष्ट कारण या संबंधित जानकारी प्राप्त नहीं हो पा रही है।

किन कारणों से हो रहा है विलम्ब :

विलम्ब होने के अनेक कारण हो सकते हैं। जानकारों के द्वारा अपने-अपने तरीकों से तर्क दिए जा रहे हैं। कुछ लोगों का कहना है कि Navodaya Entrance Exam 2023 के परीक्षा पैटर्न में कुछ बदलाव हो रहा होगा। कुछ ने प्रवेश नियमावली में सुधार की तर्क दे रहे हैं। विगत वर्षों में दोबारा परीक्षा देने वाले विद्यार्थियों की संख्या पर अंकुश लगाने की बात भी हो सकती है। यही नहीं कुछ अधिक उम्र के बच्चे भी गलत तरीके से परीक्षा में सम्मिलित हो रहे हैं। एक दूसरी समस्या बच्चों का जिला बदल-बदल कर फार्म भरने की भी प्रवृत्ति हाल के वर्षों में ज्यादा देखने को मिल रही है। नवोदय विद्यालय समिति इन समस्याओं से निपटने के लिए कोई नयी योजना तैयार कर रहा हो। विलम्ब का यही कारण हो सकता है।

इन पर करें विचार :

इस तरह दूसरे जिले से आवेदन करने, उम्र छिपा कर आवेदन करने, दोबारा आवेदन करने। आदि ऐसे कारणों से नवोदय विद्यालय का वास्तविक उद्देश्य की पूर्ति नहीं हो पा रही है। लक्षित समूह से अलग ही बच्चे Navodaya Entrance Exam में सम्मिलित होकर फायदा उठा रहे हैं। क्या इसे रोका जाना चाहिए ? आप अपने विचार कमेन्ट बाक्स पर अवश्य देवें।

कब आएंगे नोटिफिकेशन ?

एक अनुमान है कि Navodaya Entrance Exam 2023 अप्रैल माह में हो सकती है। इस आधार पर परीक्षा से चार माह पहले दिसम्बर 2022 में ही आनलाईन आवेदन की नोटिफिकेशन आ जाएगा।

नवोदय प्रवेश परीक्षा कक्षा 6 के लिए महत्वपूर्ण माडल पेपर सीरीज

Sainik School Paper 2023 | स्कूल प्रवेश परीक्षा 2023

NAVODAYA EXAM 2023

अब बहुत जल्द ही NAVODAYA EXAM 2023 कक्षा 6 का नोटिफिकेशन आने वाला है। ऐसा कुछ जानकारी प्राप्त हो रही है।

read in english [click]

अब बहुत जल्द ही NAVODAYA EXAM 2023 कक्षा 6 का नोटिफिकेशन आने वाला है। ऐसा कुछ जानकारी प्राप्त हो रही है।

परीक्षा की तिथि चाहे कुछ भी हो। अब बच्चों को परीक्षा की तैयारी में थोड़े-बहुत समय देना शुरू कर देना चाहिए।

NAVODAYA EXAM की नोटिफिकेशन के इन्तजार में अब समय गंवाने का समय नहीं रह गया है। इसी महीने के अन्तिम सप्ताह या अगले महीने के 10 तारीख तक नोटिफिकेशन आने की भरपूर संभावना है।

तैयारी हेतु सबसे पहले हमारे वेबसाइट पर दिए गए NAVODAYA MOCK TEST के अन्तर्गत पूछे गये सवालों को हल करने की प्रैक्टिस करना शुरू कर दें। इस सीरीज में लगभग 1700 उपयोगी प्रश्न दिये गये हैं। इसे हिन्दी, अंग्रेजी या अन्य किसी भी भाषा में ट्रांसलेट करने की सुविधा भी दी गई है।

समय के साथ-साथ अधिकतम उपयोगी अध्ययन सामग्रियों का समावेश वेबसाइट पर अपलोड किए जाते रहेंगे। NAVODAYA EXAM 2023 से संबंधित जरूरी सूचनाएं भी यहाँ आपको मिलते रहेंगे।

नवोदय कक्षा नौवीं प्रवेश परीक्षा 2023 अधिसूचना जारी | Navodaya Class IX Entrance Exam 2023 Notification Released

Navodaya Class IX Entrance Exam 2023 Notification Released

नवोदय विद्यालय समिति ने नवोदय कक्षा नौवीं प्रवेश परीक्षा 2023 के लिए अधिसूचना जारी किया है. जवाहर नवोदय विद्यालयों में रिक्त सीटों के खिलाफ नौवीं कक्षा में प्रवेश के लिए आनलाईन आवेदन आमंत्रित किया है. नौवीं कक्षा में खाली रह गये सीटों को भरने के लिए आवेदन जमा करने के लिए ऑनलाइन पोर्टल 02 सितंबर 2022 से शुरू होता है. आवेदन एनवीएस की आधिकारिक वेबसाईट पर नि: शुल्क जमा किया जा सकता है.

आवेदन की अंतिम तिथि तथा परीक्षा तिथि की जानकारी. एनवीएस की वेबसाइट का लिंक निचे दिया जा रहा है.

नवोदय कक्षा नौवीं प्रवेश परीक्षा 2023 के लिए शैक्षणिक सत्र 2022-23 में उसी जिले के सरकारी/सरकारी मान्यता प्राप्त स्कूलों में जहां नवोदय विद्यालय संचालित है और जिसमें वे प्रवेश चाहते हैं. कक्षा-आठवीं में पढ़ने वाले उम्मीदवार पात्र हैं. प्रवेश पाने के इच्छुक उम्मीदवार का जन्म 01.05.2008 और 30.04.2010 (दोनों दिन सम्मिलित) के बीच होना चाहिए. यह आयु सीमा सभी श्रेणियों के उम्मीदवारों पर लागू होता है. जिनमें अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति/अन्य पिछड़ा वर्ग के वर्ग शामिल हैं.

जवाहर नवोदय विद्यालयों में रिक्ति सीटों की स्थिति सहित परीक्षा पैटर्न की विस्तृत अधिसूचना के लिए नवोदय विद्यालय समिति की आधिकारिक वेबसाइट www.navodaya.gov.in पर देखे जा सकते हैं या संबंधित जिले के प्रिंसिपल, जेएनवी से संपर्क किया जा सकता है.

एनवीएस की सामान्य सुविधाएँ :

  • हर जिले में सह-शैक्षिक आवासीय विद्यालय
  • लड़कों और लड़कियों के लिए अलग छात्रावास
  • मुफ्त शिक्षा, बोर्डिंग और आवास
  • प्रवासन योजना के माध्यम से व्यापक सांस्कृतिक आदान-प्रदान
  • खेल और खेल का प्रचार
  • एनसीसी, स्काउट्स एंड गाइड्स और एनएसएस

नवोदय कक्षा नौवीं प्रवेश परीक्षा 2023 के लिए आनलाइन आवेदन की अंतिम तिथि 15 अक्टूबर 2022 है. चयन परीक्षा की तिथि 11 फरवरी 2023 है. निचे दिए गए कोई एक लिंक के माध्यम से आनलाईन आवेदन करें :

www.navodaya.gov.in

या

www.nvsadmissionclassnine.in

नवोदय परीक्षा 2023 की तैयारीCLICK HERE

नवोदय परीक्षा 2023 की तैयारी | Navodaya exam preparation 2023

Navodaya form 2023

जवाहर नवोदय विद्यालय कक्षा VI में प्रवेश के लिए आयोजित होने वाली चयन परीक्षा 2023. (All india entrance exam 2023) का परीक्षा नोटिफिकेशन अभी नहीं निकला है. किन्तु 2023 के लिए इस परीक्षा में सम्मिलित होकर नवोदय विद्यालय में पढ़ाई का सपना लेकर तैयारी करने वाले लाखों विद्यार्थियों ने अपनी तैयारी शुरू कर दिया है. परीक्षा की तैयारी के लिए बच्चों को सही और अच्छी अध्ययन सामग्रियों के साथ-साथ उचित मार्गदर्शन तथा सही समय पर सही जानकारी की खास जरूरत होती है. किताबों की चयन से लेकर तैयारी की रणनीति ही किसी परीक्षा में विद्यार्थियों को सफलता दिलाती है. अच्छी किताबों के साथ-साथ सही मार्गदर्शन सफलता को पास लाकर खड़ी कर देती है.

आज किसी भी प्रतियोगी परीक्षा में कम्पिटीशन बहुत अधिक बढ़ गई है. एक समान अंक पाने वाले परीक्षार्थियों में कुछ सफल हो जाते है. कुछ को असफलता हाथ लगती है. ऐसी प्रतियोगी परीक्षाओं में अपने प्रतिद्वंदी से मात्र एक अंक अधिक हासिल कर कोई सफल हो जाता है. तो कोई एक अंक की कमी रह जाने से असफल हो जाता है.

अभी विद्यार्थियों एवं अभिभावकों द्वारा “नवोदय परीक्षा 2023 की तैयारी” के बारे में ये दो बातों की जानकारी सबसे ज्यादा पूछे जा रहे है. “नोटिफिकेशन कब तक आएगा ?”. इस विषय पर हमने पहले ही जानकारी दे दी है. आपको अधिक जानकारी की जरूरत है तो Notification पर क्लिक करके जानकारी देखें. अब बात करते हैं नवोदय की चयन परीक्षा कब तक हो सकती है. इस बारे में हमारा पिछला लेख यदि आपने नहीं पढ़ पाया है तो JNV Entrance Exam 2023 पर क्लिक करके इस बारे में जानकारी ले सकते हैं.

तैयारी के लिए यहाँ लें मदद :

किसी भी परीक्षा की तैयारी तथा उसमें सफलता के लिए विद्यार्थी का दृढ़ इच्छाशक्ति और कठिन परिश्रम का होना जरूरी है. यदि विद्यार्थी ठान बैठे कि मुझे सफलता प्राप्त करना ही है तो समझ लें कि उसकी आधी तैयारी पूर्ण हो गयी. अब उसे कठिन परिश्रम की जरुरत है. इसके लिए उसे अच्छी अध्ययन सामग्री तथा उचित मार्गदर्शन की जरूरत होती है. हमारा वेबसाइट आपको आपके पास उपलब्ध अध्ययन सामग्रियों के अतिरिक्त एकदम नयी “यूनिक” (जिसे हमारे Navodaya Study Team ने स्वयं से तैयार किया है). अध्ययन सामग्री बिना कोई शुल्क के प्रदान करती है. आप हमारे वेबसाइट के HOME PAGE पर नवोदय तैयारी से संबंधित महत्त्वपूर्ण विषय सामग्री है. जिसे अलग-अलग बटन के माध्यम से अलग-अलग सुविधाओं का निःशुल्क उपयोग कर लाभ प्राप्त कर सकते हैं. जिससे आपकी तैयारी और भी मजबूत होगी.

महत्त्वपूर्ण विषय सामग्री :

  • मॉक टेस्ट
  • मॉडल प्रैक्टिस पेपर
  • महत्वपूर्ण प्रश्न
  • नवोदय पुराने पेपर
  • वेब सीरीज
  • OMR शीट
  • ब्लॉग

नवोदय के लिए उचित मार्गदर्शन :

हमारी टीम आपको तैयारी से लेकर सलेक्शन तक तथा नवोदय विद्यालय में एडमिशन होने तक. वेबसाइट के माध्यम से उचित एवं जरूरी मार्गदर्शन करती है किसी प्रकार का कोई अनावश्यक सूचनाएं (फेक न्यूज) प्रसारित नहीं करता. यह वेबसाइट केवल नवोदय तैयारी करने वाले विद्यार्थियों तथा तैयारी कराने वाले शिक्षकों / कोचिंग संस्थाओं को आवश्यक सूचनाएं एवं सुविधा उपलब्ध कराने के लिए तैयार किया गया है. यहाँ आपको सही जानकारी और उचित मार्गदर्शन मिलते रहेंगे. हमारे वेबसाइट के HOME PAGE पर दिये गए BLOG PAGE पर क्लिक करके अलग-अलग लेखों का अध्ययन करके नवोदय संबंधित जरूरी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं.

नवोदय कक्षा छठी परीक्षा नोटिफिकेशन 2023 क्या है अटकलें | What is Navodaya Class VI Exam Notification 2023 Speculation

JNVST Notification 2023
  • नवोदय कक्षा छठी की फार्म कब आएगी ?
  • नोटिफिकेशन कब तक आएगा ?
  • 2023 में परीक्षा कब होगी ?
  • सिलेबस क्या रहेगा ?
  • नोटिफिकेशन अबतक क्यों नहीं आया ?
  • चयन प्रक्रिया में कोई बदलाव तो नहीं ?
  • तैयारी कैसे करें ?

आदि ऐसे सवाल आजकल पूछे जा रहे हैं. नवोदय विद्यालय चयन परीक्षा 2023 कक्षा छठी में प्रवेश के लिए इस प्रकार की कई सवाल आपके विचार में भी आ रहा होगा. तथा किसी-किसी से पूछताछ भी कर रहे होंगे. इन सवालों का जवाब भी आपको तरह-तरह के मिल रहे होंगे. आइए इस लेख में इस बारे में हमें प्राप्त जानकारी के अनुसार कुछ अटकलों पर बात करते हैं.

सबसे ज्यादा बार पूछे जाने वाली सवाल है- नवोदय का फार्म कब से भरे जाएंगे ?. नवोदय कक्षा छठी परीक्षा नोटिफिकेशन 2023 कब आएगा ? हमने इस बात की जानकारी प्राप्त करने की बहुत कोशिश की. नवोदय विद्यालय समिति के हेल्प लाइन नम्बर पर भी बात की तथा अन्य जानकारों से भी बातचित की है. जिसके आधार पर दो अटकलें लगाए जा रहे हैं. यहाँ हम दोनों पर विस्तार से चर्चा करेंगे –

पहले अनुमान के अनुसार :

पहले अनुमान के अनुसार जवाहर नवोदय विद्यालय चयन परीक्षा 2023 कक्षा छठी की नोटिफिकेशन सितम्बर महीने के प्रथम सप्ताह के बाद आने की संभावना है. फार्म सितम्बर से भरे जाएंगे तथा परीक्षा की तिथि जनवरी 2023 के दूसरे या तीसरे सप्ताह की सीमा में हो सकती है. इस आधार नोटिफिकेशन कभी भी आए यदि परीक्षा की तिथि को जनवरी मान लें तो आपको अपनी तैयारी पर विशेष ध्याने की जरूरत है.

दूसरे अनुमान के अनुसार :

कुछ एक और बातें आ रही है. इस वर्ष के परीक्षा अधिसूचना अक्टूबर माह में आने की सम्भावना है. बताई जा रही है कि फार्म अक्टूबर से भरे जाएंगे. उपर्युक्तानुसार यदि परीक्षा की तारीख माह जनवरी को ही मान लें तथा कोई परीक्षार्थी अभी तक परीक्षा की तैयारी शुरू नहीं की है तो उसे परीक्षा की तैयारी करने के लिए बहुत ही कम समय मिलेगा. इसलिए परीक्षा अधिसूचना कभी भी जारी हो परीक्षा फार्म कभी भी भरवाई जाए. परीक्षाथी को अपनी तैयारी पर अभी से ही विशेष ध्यान देना होगा. इस तरह आप परीक्षा अधिसूचना संबंधी सभी अटकलें समाप्त कर केवल अपने तैयारी पर ध्यान दीजिए.

दूसरे अनुमान के अनुसार परीक्षा की तिथि पर एक और अटकलें लगाई जा रही है कि परीक्षा अप्रैल माह में होगी. मेरे अपने विचार के अनुसार अप्रैल माह में परीक्षा होने से शिक्षा, समाज और राष्ट्र की दृष्टि से इसका लाभ भी अधिक मिलेगा. इसकी पुष्टि मैं निचे की पैराग्राफ में किया है.

देशभर में नवोदय विद्यालय की परीक्षा हेतु आवेदन करने वाले विद्यार्थियों की संख्या 25-30 लाख में होती है. यदि नवोदय परीक्षा जनवरी की बजाय अप्रैल माह में आयोजित होती है. तो इन 25-30 लाख विद्यार्थियों का तैयारी के लिए पढ़ाई-लिखाई में जुड़ाव अधिक समय तक बना रहेगा. तथा इसके कारण तीन माह अधिक समय तक बच्चे पढ़ाई-लिखाई से जुड़े रहेंगे. इससे अप्रत्यक्ष तौर पर शिक्षा क्षेत्र में कुछ सुधार मिलेगा ही साथ ही भविष्य में समाज और राष्ट्र को इसका प्रत्यक्ष लाभ मिलेगा.

नवोदय विद्यालय चयन प्रक्रिया तथा सिलेबस में किसी प्रकार बदलाव की कोई जानकारी अभी तक नहीं मिली है. फिर भी आपको अधिक जानकारी या पूछताछ की जरूरत है तो आप नवोदय विद्यालय समिति के आफिसियल वेबसाईट पर दिये गये हेल्पलाइन नंबर का उपयोग कर सकते है.

अच्छी तैयारी के लिए 1100 प्रश्नों वाली 101 मॉक टेस्ट सीरीज का फ्री उपयोग करें।

अच्छी तैयारी के लिए नवोदय मॉडल प्रैक्टिस पेपर का फ्री उपयोग करें।

नवोदय कक्षा 11वीं में एडमिशन के लिए मात्र दो दिन का समय बाकी | Only two days left for admission in Navodaya class 11th

admission in Navodaya class 11th

जवाहर नवोदय विद्यालय में कक्षा 11 वीं में एडमिशन लेने के इच्छुक विद्यार्थियों के लिए 2 दिन का ही समय शेष है। आप किसी भी बोर्ड/स्कूल से कक्षा 10 वीं उत्तीर्ण (Pass) हैं तो आपको नवोदय विद्यालय में कक्षा 11 वीं पढ़ने का मौका मिल जाएगा। “न फीस, न परीक्षा, न इन्टरव्यू – सीधे एडमिशन” जल्दी आवेदन करें, 18 अगस्त लास्ट डेट है।

निचे दो लिंक दिये जा रहे हैं उसे जरूर पढ़े, अपने/अपनों के भविष्य के लिए 2 मिनट का समय निकालकर इसे जरूर पढ़ें और दूसरों को शेयर करें। “बाद में पछताना न पड़े”

आवेदन संबंधी जानकरी के लिए अधिक पढ़ें

CLICK HERE

आवेदन कैसे करें पूरी जानकारी

CLICK HERE

JNV कक्षा 11 वीं में सीधे एडमिशन. न कोई परीक्षा न इंटरव्यू. जल्दी आवेदन करें. 18 अगस्त लास्ट डेट | Direct Admission in JNV Class 11th.. no exam no interview..

JNV कक्षा 11 वीं में सीधे एडमिशन. न कोई परीक्षा न इंटरव्यू. जल्दी आवेदन करें. 18 अगस्त लास्ट डेट | Direct Admission in JNV Class 11th.. no exam no interview..

कक्षा 11 वीं से जवाहर नवोदय विद्यालय में अध्ययन करने के लिए कोई भी बाहरी विद्यार्थी जो 2021-22 में कक्षा 10 उत्तीर्ण है आवेदन कर सकता है। विद्यार्थी का एडमिशन बिना कोई चयन परीक्षा के सीधे एडमिशन दिये जाते हैं। विद्यार्थियों को सिर्फ आनलाईन आवेदन करने की जरूरत है। आनलाईन आवेदन का अंतिम तिथि 18 जुलाई 2022 है। इच्छुक विद्यार्थी जल्द से जल्द आवेदन भरें। अन्य जानकारी निचे दी जा रही है :

रिक्त सीटों के विरुद्ध कक्षा-XI में छात्रों के प्रवेश के लिए मानदंड :

शैक्षणिक सत्र 2021-22 के दौरान दसवीं कक्षा की बोर्ड परीक्षा में छात्रों द्वारा प्राप्त अंकों के आधार पर कक्षा-XI में उपलब्ध रिक्तियों के विरुद्ध छात्रों का प्रवेश किया जाएगा।

अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति वर्ग में रिक्त सीटें अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति के उम्मीदवारों के लिए आरक्षित हैं।

छात्रों का चयन निम्नलिखित चरणों के अनुसार किया जाएगा :

(अ) जिलेवार मेरिट सूची तैयार की जाएगी और रिक्तियों के खिलाफ छात्रों का चयन किया जाएगा।

(ब) जिले के जवाहर नवोदय विद्यालय में रिक्तियों के खिलाफ छात्रों का चयन करने के बाद, राज्य स्तर पर एक सामान्य मेरिट सूची तैयार की जाएगी। चरण (अ) के बाद उसी राज्य के किसी भी जेएनवी में मौजूद रिक्तियों को उम्मीदवार द्वारा दिए गए विकल्प पर विचार करके राज्य स्तरीय मेरिट सूची से भरा जाएगा।

(स) चरण (अ) और (ब) द्वारा चयन के बाद, यदि चयनित उम्मीदवार सभी प्रयासों के बाद भी शामिल नहीं होता है, तो रिक्त सीटों को केवल राज्य स्तरीय मेरिट सूची से भरा जाएगा।

(द) जहां भी राज्य बोर्ड द्वारा उम्मीदवारों को ग्रेड आवंटित किए जाते हैं, एनवीएस ड्राइंग के लिए संबंधित राज्य बोर्ड से अंक एकत्र करेगा।

अन्य जानकारी :

चयनित छात्रों को संबंधित जवाहर नवोदय विद्यालय के प्रधानाचार्य द्वारा एसएमएस/स्पीड पोस्ट द्वारा सूचित किया जाएगा।

नव प्रवेशित छात्रों को विद्यालय चिकित्सक द्वारा चिकित्सा जांच से गुजरना पड़ता है। संक्रामक रोग/गंभीर बीमारियों से पीड़ित छात्रों को प्रवेश नहीं दिया जाएगा।

नए प्रवेशित छात्रों के लिए सीखने के अंतराल को पाटने और उन्हें नए वातावरण के अनुकूल बनाने के लिए दस दिवसीय अभिविन्यास कार्यक्रम की व्यवस्था की जाएगी।

अन्य विशेष जानकारी एवं आवेदन कैसे करें

CLICK HERE

जवाहर नवोदय विद्यालय कक्षा XI में लेटरल प्रवेश अधिसूचना 2022 | Lateral Entry Admission Notification 2022 in Jawahar Navodaya Vidyalaya Class XI

LATERAL ANTRY 2022 CLASS XI

नवोदय विद्यालय प्रवेश : शैक्षणिक वर्ष 2022-23 के लिए नवोदय विद्यालय में प्रवेश हेतु आनलाईन आवेदन की अधिसूचना 29 जुलाई 2022 को नवोदय विद्यालय समिति द्वारा जारी कर दिया गया है। आवेदन से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारी, अन्तिम तिथि, चयन प्रक्रिया, आवश्यक शर्तें, आयु सीमा, जरूरी दस्तावेज, आनलाईन विंडों खुलने और बन्द होने की तिथि तथा अन्य जानकारी यहाँ दी जा रही है।

जवाहर नवोदय विद्यालय कक्षा XI में लेटरल प्रवेश 2022 के लिए अधिसूचना जारी हो चुकी है। शैक्षणिक वर्ष 2022-23 में रिक्त सीटों पर लेटरल एंट्री के माध्यम से ग्यारहवीं कक्षा में प्रवेश प्रक्रिया के संबंध में अधिसूचना जारी होने की इस खबर के साथ नवोदय विद्यालय में प्रवेश चाहने वाले उम्मीदवारों को आनलाईन पंजीकरण करने सम्बंधी जानकरी यहाँ दी जा रही है।

निचे दिये गये लिंक के माध्यम से पंजीकरण करने के लिए यह ऑनलाइन विंडो 29.07.2022 से 18.08.2022 तक खुला रहेगा।

आनलाईन आवेदन करने सम्बंधी महत्वपूर्ण जानकारी :

निचे दिये गये लिंक के माध्यम से आनलाइन आवेदन करते समय निम्न बातों का अनिवार्य रूप से पालन करने की जरुरत है –

ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया में 3 चरण (स्टेप) सम्मिलित है :

  1. पंजीकरण
  2. व्यक्तिगत विवरण जमा करना
  3. कक्षा दसवीं के अंक जमा करना

नोट : आनलाइन आवेदन करते समय यदि आपने तीनों चरणों को पूरा नहीं किया है, तो आपका फॉर्म स्वीकार नहीं किया जाएगा।

(क) सबसे पहले पंजीकरण करें।

(ख) फॉर्म भरने के दूसरे चरण से पहले निम्नलिखित की स्कैन की गई कॉपी रखें
(आकार : 10-100 केबी .JPG/.jpg प्रारूप में)

  1. उम्मीदवार नवीनतम फोटो
  2. उम्मीदवार के हस्ताक्षर
  3. माता-पिता के हस्ताक्षर
  4. दसवीं कक्षा की मार्कशीट (2021-22)

(ग) अधिक जानकारी के लिए कृपया विस्तृत अधिसूचना पढ़ें।

चयन प्रक्रिया एवं पात्रता संबंधी जानकारी :

जवाहर नवोदय विद्यालय कक्षा XI में लेटरल प्रवेश 2022 में आवेदन करने वाले उम्मीदवारों को शैक्षणिक सत्र 2021-22 में उसी जिले / राज्य के किसी भी सरकारी/सरकारी मान्यता प्राप्त स्कूल में दसवीं कक्षा में अध्ययन किया हो, जहाँ नवोदय विद्यालय स्थित है और जिसमें जिसमें उम्मीदवार प्रवेश चाह रहा है।

उम्मीदवार की जन्म तिथि 1 जून 2005 से 31 मई 2007 (दोनों दिन सम्मिलित) के बीच है। यह अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के उम्मीदवारों सहित सभी श्रेणियों के उम्मीदवारों पर लागू होता है। मतलब किसी भी आरक्षित जाति वर्ग को उम्र में कोई छूट नहीं है।

चयन प्रक्रिया :

रिक्त सीट के विरुद्ध कक्षा-XI में छात्रों के प्रवेश के लिए क्या मानदंड रहेगा इसकी जानकारी नवोदय विद्यालय समिति के प्रवेश मानदंड के अधीन शैक्षणिक सत्र 2021-22 के दौरान दसवीं कक्षा की बोर्ड परीक्षा में छात्रों द्वारा प्राप्त अंकों के आधार पर कक्षा-XI में उपलब्ध रिक्त सीटों के विरुद्ध प्रवेश के लिए उम्मीदवारों का चयन निम्नलिखित चरणों के अनुसार किया जाएगा :

(क) जिलेवार मेरिट सूची तैयार की जाएगी और रिक्तियों के खिलाफ छात्रों का चयन किया जाएगा।

(ख) जिले के जवाहर नवोदय विद्यालय में रिक्तियों के खिलाफ छात्रों का चयन करने के बाद, राज्य स्तर पर एक सामान्य मेरिट सूची तैयार की जाएगी।

नोट : एनसीसी, स्काउट और गाइड, खेल प्रतियोगिता, तैराकी आदि के लिए अतिरिक्त वरियता (वैटेज) मिलेगा।

उपलब्ध संकाय : विज्ञान, वाणिज्य, व्यावसायिक और मानविकी

जवाहर नवोदय विद्यालय की मुख्य विशेषताएँ :

  • देश के प्रत्येक जिले में सह-शैक्षिक (बालक/बालिका) आवासीय विद्यालय (तमिलनाडु राज्य को छोड़कर)
  • लड़कों और लड़कियों के लिए अलग-अलग छात्रावास
  • दसवीं और बारहवीं कक्षा में सर्वोत्तम परिणाम
  • मुफ्त शिक्षा, बोर्ड और आवास
  • प्रवासन योजना के माध्यम से व्यापक सांस्कृतिक आदान-प्रदान
  • कंप्यूटर : छात्र अनुपात – 1 : 8

नवोदय विद्यालय समिति द्वारा जारी आनलाईन आवेदन का लिंक

CLICK HERE

नवोदय फर्स्ट लिस्ट की एडमिशन प्रक्रिया पूर्ण…, होगा सेकेण्ड लिस्ट जारी… | Admission process of Navodaya First List will be completed…, Second list will be released…

SECOND LIST OF JNV CLASS VI

नवोदय विद्यालय सेकेण्ड लिस्ट का बेसब्री से इन्तजार करने वाले विद्यार्थियों के लिए महत्वपूर्ण सूचना। इस लेख को बिल्कुल न छोड़ें। सर्व प्रथम आपको यह जानना जरूरी है कि 8 जुलाई को जारी नवोदय रिजल्ट द्वारा फर्स्ट लिस्ट में चयनित जिन विद्यार्थियों का सलेक्शन हुआ है जवाहर नवोदय विद्यालय में उनकी एडमिशन प्रक्रिया चल रही है। फर्स्ट लिस्ट की एडमिशन प्रक्रिया पूर्ण हो जाने के बाद ही सेकेण्ड लिस्ट जारी होता है। अभी फर्स्ट लिस्ट का एडमिशन डेट समाप्त नहीं हुआ है, सेकेंड लिस्ट कहाँ से आएगा।

एडमिशन प्रक्रिया कब तक चलेगा ?

सेकेण्ड लिस्ट (Second List) कब आएगा ?

किन बच्चों का आएगा लिस्ट में नाम ?

सेकेण्ड लिस्ट में कितने बच्चों का सलेक्शन होता है ?

सेकेंड लिस्ट आने की जानकारी कैसे मालूम होगा ?

क्या गुगल में सेकेण्ड लिस्ट चेक कर सकते है ?

दि आपको ऊपर दिए गए सभी सवालों का जवाब जानना है तो निचे दिए लिंक पर क्लिक करें..

CLICK HERE

नवोदय प्रवेश के लिए आयु पात्रता मानदंड में संशोधन | Amendment in age eligibility criteria for Navodaya Admission

JNV AGE NOTIFICATION

नवोदय विद्यालय समिति ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के अनुसार नवोदय विद्यालय के विभिन्न कक्षाओं में छात्रों के प्रवेश के लिए आयु पात्रता मानदंड को संशोधित करने का निर्णय लिया है। संशोधित आयु मानदंड को कक्षा VI, IX और XI में प्रवेश के लिए निर्धारित की जाएगी। विस्तृत विवरण निचे दिया जा रहा है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार आयु मानदंड को पहले की आयु मानदंड 4 वर्ष की तुलना में घटाकर 2 वर्ष कर दी जाएगी। इस बात को हम यहाँ एक उदाहरण के तौर पर ऐसे समझ सकते हैं – 30 अप्रैल 2022 को आयोजित नवोदय प्रवेश परीक्षा के माध्यम से 2022 में कक्षा VI में प्रवेश लेने के लिए जारी नोटिफिकेशन में प्रवेश चाहने वाले उम्मीदवारों का जन्म 01-05-2009 से पहले और 30-04-2013 के बाद नहीं होना चाहिए (दोनों तिथियां सम्मिलित हैं) ऐसा दिया गया है। इन दोनों तिथियों में 4 वर्ष का अन्तर है। अब इस नये संशोधन के बाद भविष्य में यह अन्तर 2 वर्ष हो जाएगी।

उपर्युक्तानुसार नवोदय विद्यालय समिति ने कहा है कि भविष्य में कक्षा VI, IX और XI में प्रवेश के लिए योग्य जन्म तिथि का विस्तृत विवरण संबंधित अधिसूचनाओं के माध्यम से प्रकाशित की जाएगी। साथ ही संशोधित आयु मानदंड का यह संशोधन भविष्य की अधिसूचनाओं के लिए लागू होंगे।

प्राप्त जानकारी के अनुसार जवाहर नवोदय विद्यालय के इन तीनों कक्षाओं में प्रवेश चाहने वाले उम्मीदवारों के लिए संशोधित आयु मानदंड निचे सारणी में दिया जा रहा है।

कक्षा संशोधित आयु मानदंड
छठी10 से 12 वर्ष
नौवीं13 से 15 वर्ष
ग्यारहवीं15 से 17 वर्ष

उपर्युक्त सारिणी के अनुसार सत्र 2023-24 के लिए नवोदय की कक्षा VI में प्रवेश चाहने वाले उम्मीदवारों का उम्र 10 से 12 वर्ष का होनी चाहिए, कक्षा IX में प्रवेश चाहने वाले उम्मीदवारों का उम्र 13 से 15 वर्ष के बीच तथा कक्षा XI में प्रवेश चाहने वाले उम्मीदवारों का उम्र 15 से 17 वर्ष के बीच होना चाहिए।

देखें नवोदय सेकेण्ड लिस्ट के बारे में क्लिक करें

नवोदय कक्षा 6 का एडमिशन फार्म हुआ जारी एडमिशन के लिए जल्दी करें यह काम | Navodaya’s Class 6 admission form released, do this work quickly for admission

नवोदय का एडमिशन फार्म हुआ जारी एडमिशन के लिए जल्दी करें यह काम

जवाहर नवोदय विद्यालय कक्षा 6 में एडमिशन के लिए नवोदय विद्यालय समिति द्वारा जारी नवोदय प्रवेश फार्म को सही से भरकर जमा करना जरूरी है। कहीं तय समय सीमा में आपने एडमिशन फार्म जमा नहीं कर पाया तो बहुत देर हो जाएगी। इसलिए जल्द से जल्द फार्म डाऊनलोड कर भरें और अपने जवाहर नवोदय विद्यालय में जमा करें। देशभर में लगभग 50 हजार बच्चों को नवोदय विद्यालय की कक्षा छठवीं में एडमिशन की प्रक्रिया अभी शुरू हो चुकी है। विलम्ब न करते हुए निम्न बातों पर सर्वप्रथम ध्यन दें –

  1. सर्वप्रथम नवोदय विद्यालय एडमिशन फार्मेट का PDF FILE डाऊनलोड कर लें।

डाऊनलोड लिंक

  1. डाऊनलोड किए गए फार्म को भरने का तरीका जाने साथ ही भरे हुए DUMI FORM का नमूना भी देखें :

यहाँ क्लिक करें

  1. फार्म के साथ जमा की जाने वाली जरूरी डाक्यूमेंट्स की सूची देखें तथा महत्वपूर्ण जानकारी का अध्ययन करें।

यहाँ क्लिक करें

फार्म के साथ विद्यार्थी का जन्म प्रमाणपत्र अवश्य लगाएं।

उपर्युक्त लेख सत्र 2022-23 के लिए जवाहर नवोदय विद्यालय चयन परीक्षा के माध्यम से जवाहर नवोदय विद्यालय में कक्षा छठी स्तर पर प्रवेश हेतु जारी अनन्तिम चयन सूची में चयनित विद्यार्थियों के लिए है। आपने अभी तक अपने नवोदय विद्यालय से सम्पर्क नहीं किया है तो तत्काल सम्पर्क करके उपर्युक्तानुसार एडमिशन की प्रक्रिया पूर्ण करें।

कक्षा 6 नवोदय एडमिशन फार्म देख लें कैसे भरना है भरे हुए DUMI प्रारूप भी देखें | How To Fill Navodaya Admission Form With Filled DUMI Format

नवोदय एडमिशन फार्मेट को सही-सही भरकर, सम्बन्धित विभागों से सत्यापन पश्चात फार्मेट के साथ आपेक्षित प्रमाण-पत्रों को संलग्न कर नवोदय विद्यालय में फाईल पास करना प्रवेश की प्रारंभिक प्रक्रिया है।

कक्षा छठवीं जवाहर नवोदय विद्यालय प्रवेश परीक्षा 2022 की रिजल्ट जारी हो चुकी है, परीक्षा में अनन्तिम रूप से चयनित विद्यार्थियों को जवाहर नवोदय विद्यालय में प्रवेश के लिए NVS द्वारा जारी किए गए 8-9 पृष्ठों वाली प्रवेश फार्म को सही ढंग से भरने के लिए इस लेख में पूरी जानकारी दी जा रही है। सबसे पहले निचे दिये गये डाऊनलोड लिंक से इस फार्मेट का PDF FILE डाऊनलोड करें।

लिंक

Form PDF File DownloadCLICK HERE

इस फार्मेट का प्रिन्ट लेकर फार्मेट में चाही गई जानकारी भर लें, विद्यार्थी के पिता/अभिभावक के सत्यापन (हस्ताक्षर) के पश्चात कुछ प्रमाण पत्रों को सम्बन्धित विभाग से सत्यापित कराने की जरूरत पड़ेगी।

फार्मेट कैसे भरें

हमने भरे हुए फार्म की एक नकली (DUMI) फार्मेट की प्रारूप तैयार किया है। निचे दिए गए लिंक में जाकर फार्मेट को भरने का तरीका देख सकते हैं तथा कहाँ-कहाँ किसके हस्ताक्षर होंगें इसकी जानकारी के लिए निचे दिये गए फार्मेट भरने संबंधी निर्देश का अध्ययन करें।

भरे हुए [DUMI] फार्म देखेंCLICK HERE

पृष्ठ 1 में विद्यार्थी का पासपोर्ट फोटो चिपकाएँ तथा सामान्य जानकारी भरने के बाद कक्षा III, IV, V शिक्षण की जानकारी दिए गए कॉलम में भरकर निचे संबंधित विद्यालय के प्रधानाध्यापक से हस्ताक्षर तथा सील करवाएँ।

पृष्ठ 2 पर भी विद्यार्थी क