नवोदय चयन परीक्षा 30 अप्रैल 2022 के इस सवाल का क्या है उत्तर, प्रश्न पत्र से कठिन सवाल (उलझ गए कुछ बच्चे)

Download Our Mobile App For better Preparation
and access to our new Model Paper, Live Classes, Test Series And many more

यह सवाल 30 अप्रैल 2022 को आयोजित जवाहर नवोदय विद्यालय चयन परीक्षा कक्षा 6th के भाषा परीक्षण अनुभाग के अन्तर्गत पूछे गए एक अनुच्छेद का है। इस प्रश्न के उत्तर उम्मीदवारों, अभिभावकों तथा शिक्षकों द्वारा अपने-अपने तर्कों के आधार पर अलग-अलग दिया जा रहा है। हमने भी अपने तर्क के आधार पर इस प्रश्न का संभावित उत्तर दिया है। इस लेख में हम हमारे उत्तर के पक्ष में अपना तर्क प्रस्तुत करेंगे। हमारी तर्क के अनुसार हमरे द्वारा दिए गए उत्तर आपको ठीक लगे तो दूसरों को भी शेयर करें। यदि आप हमारे तर्क से सहमत नहीं हैं तो हमारे द्वारा दी गई संभावित उत्तर को गलत मानने के लिए स्वतंत्र हैं।

निचे जवाहर नवोदय विद्यालय चयन परीक्षा कक्षा 6th के अनुच्छेद तथा वह प्रश्न दिया जा रहा है। दिए गए अनुच्छेद तथा प्रश्न के आधार पर हम अपना तर्क प्रस्तुत करेंगे।

अनुच्छेद –
“यह रविवार का दिन था। हरीश पार्क में अपने मित्रों के साथ खेल रहा था। निकट में एक तालाब था । हरीश तैरना चाहता था। वह छपाक के साथ तालाब में कूद गया। तालाब के दूसरे छोर पर पानी में कुछ बत्तखें थीं। हरीश ठंडे पानी और हल्की धूप का आनंद लेते हुए तैरा। अचानक उसने जोर की आवाज सुनी और पानी छितर गया। उसने चारों तरफ देखा कि कहीं किसी ने तालाब में गोता तो नहीं लगाया। उसे कोई दिखाई नहीं दिया।”

प्रश्न – मौसम ………………. था।
(A) बहुत गरम
(B) थोड़ा गरम
(C) बहुत ठंडा
(D) ठंडा और वर्षा वाला

इस प्रश्न का सीधे-सीधे उत्तर निकल सके ऐसा कुछ भी वर्णन अनुच्छेद में नहीं दिया गया है। शोध-अनुसंधान तथा निष्कर्ष पर आधारित इस प्रश्न के उत्तर पर पहुंचने के लिए अनुच्छेद के प्रत्येक वाक्यों का व्याख्या तथा उसके तर्क के आधार पर निष्कर्ष पर पहुंचना होगा।

प्रश्न में मौसम को पूछा गया है, इस आधार पर प्रत्येक वाक्यों से मौसम सम्बन्धी निष्कर्ष निकालने का प्रयास किया गया है।

“यह रविवार का दिन था। हरीश पार्क में अपने मित्रों के साथ खेल रहा था। निकट में एक तालाब था।”

निष्कर्ष – 01
ऊपर दिए गए गए तीन वाक्य से मौसम संबंधी कुछ भी जानकारी नहीं मिलती है।

“हरीश तैरना चाहता था। वह छपाक के साथ तालाब में कूद गया।”

हरीश तैरना चाहता था और वह तलब में कुद गया। कुछ लोगों का कहना है कि बच्चा गर्मी में तैरना चाहता है, ठंड होता तो तालाब में नहीं कूदता। यहाँ हमारा तर्क है चाहत (चाहने) से किसी मौसम विशेष का स्पष्टिकरण नहीं होता, तैरने की चाहत रखने वाला बच्चा मौसम देखकर तालाब में कूदेगा यह बात तर्क संगत नहीं है। वह तैरना चाहता था तालाब दिखा और कूद गया। इस समय वह पानी ठंडा है या गरम नहीं जनता था। यदि मौसम अधिक गरम या कम गरम होता तो केवल हरीश अकेला तालाब में नहीं कूदता उसके पीछे-पीछे सभी बच्चे तालाब में कूद जाते और जलक्रीड़ा करते जबकि अनुच्छेद के अंत में यह भी बताया गया है कि-

“अचानक उसने जोर की आवाज सुनी और पानी छितर गया। उसने चारों तरफ देखा कि कहीं किसी ने तालाब में गोता तो नहीं लगाया। उसे कोई दिखाई नहीं दिया।”

छपाक की आवाज तथा पानी का छितर जाना किसी मछली के उछाल मारने का भी हो सकता है। मछलियां अक्सर ठंड मौसम में पानी के ऊपरी तल में रहकर हल्की धूप का आनन्द लेते हुए इस प्रकार की जल क्रीड़ाएँ किया करतीं हैं। यहाँ भी हरीश के अलावा कोई और दूसरा बच्चा तालाब में छलांग नहीं लगाया है।

निष्कर्ष – 02
मौसम गर्मी का नहीं ठंडी का आभास हो रहा है। नहीं तो हरीश के सभी या कुछ मित्र तालाब में गोता अवश्य लगाते।

“तालाब के दूसरे छोर पर पानी में कुछ बत्तखें थीं।”

बत्तख किसी भी मौसम में तालाब में पाए जाते है।

निष्कर्ष – 03
बत्तखों से मौसम संबंधी कोई जानकारी नहीं मिलती।

“हरीश ठंडे पानी और हल्की धूप का आनंद लेते हुए तैरा।”

यहाँ ठंडे पानी का जिक्र है। ठंडे पानी को भलेही कम या ज्यादा ठंडा नहीं कहा गया है। फिर भी यह ठंडी की ओर ईशारा करता है।

दूसरी और महत्वपूर्ण बात “हल्की धूप” केवल सूर्य के दक्षिणायन होने की स्थिति में ही होती है और इस समय सर्दी का मौसम होता है। “हल्की धूप का आनन्द” भी सर्दी के मौसम में ही लिया जाता है।

निष्कर्ष – 04
पानी का ठंडा होना, हल्की धूप सूर्य का दक्षिणायन होना थोड़ा गरम या अधिक गरम मौसम मौसम के इर्दगिर्द भी नहीं है। इसलिए यहाँ मौसम “बहुत ठंंडा” की ओर ईशारा कर रहा है।

उपर्युक्त चारों निष्कर्ष से उत्तर आप्शन A, B तथा D से संबंधित कोई ठोस निष्कर्ष नहीं निकल रहा है। इसलिए यहाँ मौसम “बहुत ठंंडा” की ओर ईशारा कर रहा है।

यह तर्क और संभावित उत्तर मेरी अपनी सोच, शोध निष्कर्ष पर आधारित है, (परीक्षा एजेंसी और विषय विशेषज्ञों की राय कुछ भी हो सकती है) सभी उम्मीदवारों, अभिभावकों तथा सम्मानीय गुरुजनों से अपील है कि कमेन्ट करके अपना मत अवश्य शेयर करें।

new chapter in Navodaya Entrance Exam. Types of angles and their simple applications. What to prepare.

नवोदय प्रवेश परीक्षा में नये अध्याय का समावेश- कोण के प्रकार एवं उनका सरल अनुप्रयोग (Types Of Angle And Its Simple Applications) | क्या-क्या करें तैयारी ??

कक्षा छठवीं के लिए जवाहर नवोदय विद्यालय प्रवेश परीक्षा 2024–25 से नये सिलेबस में “कोण के प्रकार एवं उसके सरल [...]
Read more

नये सिलेबस | जवाहर नवोदय विद्यालय प्रवेश परीक्षा 2025 | Class 6th

[JNVST 2025] जवाहर नवोदय विद्यालय प्रवेश परीक्षा 2025 की तैयारी करने वाले कक्षा छठवीं में प्रवेश की इच्छुक विद्यार्थियों को [...]
Read more
Download Our Mobile App For better Preparation
and access to our new Model Paper, Live Classes, Test Series And many more
Download Our Mobile App For better Preparation
and access to our new Model Paper, Live Classes, Test Series And many more
© 2024 Navodaya Study. All rights reserved.
new chapter in Navodaya Entrance Exam. Types of angles and their simple applications. What to prepare.

नवोदय प्रवेश परीक्षा में नये अध्याय का समावेश- कोण के प्रकार एवं उनका सरल अनुप्रयोग (Types Of Angle And Its Simple Applications) | क्या-क्या करें तैयारी ??

कक्षा छठवीं के लिए जवाहर नवोदय विद्यालय प्रवेश परीक्षा 2024–25 से नये सिलेबस में “कोण के प्रकार एवं उसके सरल [...]
Read more