Jawahar Navodaya Vidyalaya Selection Test 2024, Passage Test Part- 06

Download Our Mobile App For better Preparation
and access to our new Model Paper, Live Classes, Test Series And many more

चे भाषा परीक्षण के लिए एक अनुच्छेद दिया गया है ऐसे अनुच्छेद जवाहर नवोदय विद्यालय प्रवेश परीक्षा में पूछे जाते हैं, जवाहर नवोदय विद्यालय कक्षा छठवीं की परीक्षा अब कुछ ही दिन शेष रह गया है। अब यदि कोई विद्यार्थी इस अनुच्छेद के नीचे दी गई सभी 5 प्रश्नों का सही उत्तर बना लेता है तो उसकी भाषा क्षमता परीक्षण की तैयारी अच्छी मानी जाएगी।

चयन परीक्ष के इस भाग का विशेष महत्व होता है। क्योंकि इस भाग से परीक्षा का एक चौथाई अंक अर्थात 25 प्रतिशत अंक निर्धारित होता है। जिसके लिए गद्यांशों पर आधारित 20 प्रश्नों के लिए 4 अनुच्छेद दिए जाते हैं। जिसमें समझ, चेतना, विचार, व्याकरण आदि पर आधारित प्रश्न पूछे जाते हैं। यहाँ ऐसे ही एक अनुच्छेद दिया जा रहा है। आशा है बच्चों की तैयारी में मदद मिल सके।

आप इस अनुच्छेद को ध्यानपूर्वक पढ़कर नीचे दिए गए सभी प्रश्नों का सही-सही उत्तर देने का प्रयास करें यदि आप सफल हो जाते हैं तो निश्चित ही आपकी तैयारी बहुत ही अच्छी है आप ऐसे ही प्रयास करने के लिए हमारे इस वेबसाइट पर और भी अधिक मटेरियल प्राप्त कर सकते हैं।

यादि आप इस सीरीज के पिछले “भाग एक” तथा “भाग 2” के प्रश्न का भी प्रैक्टिस करना चाहते हैं, तो यहाँ क्लिक करें.

गद्यांश- 06

समय हमें अपने कार्यों को योजनाबद्ध और अनुकूलित करने में मदद करती हैं। समय को मापने के विभिन्न विधियाँ विकसित की गई। इसकी सबसे प्राचीन विधि सूर्य घड़ी थी, जिसमें सूर्य की किरणों की छाया को एक शंकु पर पड़ने वाले अंकों से समय का अनुमान लगाया जाता था। यह विधि प्राचीन मिस्र, बाबिलोन, चीन और भारत में प्रचलित था। रेत घड़ी भी प्राचीन विधि है, जिनमें एक बर्तन से दूसरे बर्तन में रेत के बहने से समय का अनुमान लगाया जाता था। इस विधि का उपयोग यूनान, रोम, अरब और भारत में प्रचलित था। लोलक घड़ी या घूमने वाली घड़ी एक नवीन विधि थी, जिसमें एक लोलक को एक धागे से लटकाकर उसके दोलनों को गिनकर समय का पता लगाया जाता था। इस विधि का उपयोग मध्यकालीन यूरोप में किया जाता था। वर्तमान घड़ी का आविष्कार एक क्रांतिकारी विधि थी। जैसे पेंडुलम घड़ी, हाथ घड़ी, दीवार घड़ी, टेबल घड़ी, डिजिटल घड़ी, इलेक्ट्रॉनिक घड़ी आदि।

  1. समय को मापने की सबसे प्राचीन विधि ………. थी।
    (A) रेत घड़ी
    (B) लोलक घड़ी
    (C) सूर्य घड़ी
    (D) पेंडुलम घड़ी
  2. सूर्य घड़ी एवं रेत घड़ी का प्रचलन ……….. देश में था।
    (A) मिस्र
    (B) यूनान
    (C) नेपाल
    (D) भारत
  3. अनुच्छेद में दिए गए शब्दों में से कौन सा शब्द एक क्रिया है?
    (A) योजनाबद्ध
    (B) अनुकूलित
    (C) मापने
    (D) करती
  4. अनुच्छेद अनुसार ………. शब्द एक विशेषण है।
    (A) समय
    (B) प्राचीन
    (C) घड़ी
    (D) अंकों
  5. अनुच्छेद में दिए गए शब्दों में से ………. शब्द एक सर्वनाम है।
    (A) इसकी
    (B) जिसमें
    (C) जाता
    (D) था

Passage – 06

Time helps us plan and optimize our actions. Various methods of measuring time were developed. Its oldest method was the sun clock, in which the time was estimated from the marks cast by the shadow of the sun’s rays on a cone. This method was prevalent in ancient Egypt, Babylon, China and India. Sand clock is also an ancient method, in which time was estimated by the flow of sand from one vessel to another. The use of this method was prevalent in Greece, Rome, Arabia and India. The pendulum clock or rotating clock was an innovative method in which time was measured by hanging a pendulum from a thread and counting its oscillations. This method was used in medieval Europe. The invention of the present clock was a revolutionary method. Such as pendulum clock, hand clock, wall clock, table clock, digital clock, electronic clock etc.

  1. The oldest method of measuring time………. was.
    (A) sand clock
    (B) Pendulum clock
    (C) Sun clock
    (D) Pendulum clock
  2. Sun clock and sand clock were prevalent in ……….. country.
    (A) Egypt
    (B) Greece
    (C) Nepal
    (D) India
  3. Which word given in the paragraph is a verb?
    (A) plan
    (B) optimize
    (C) measuring
    (D) does
  4. According to the article………. The word is an adjective.
    (A) time
    (B) old
    (C) watch
    (D) digits
  5. Of the words given in the paragraph………. The word is a pronoun.
    (A) its
    (B) in which
    (C) goes
    (D) was

ANSWER :
(1) c
(2) d
(3) c
(4) b
(5) a

new chapter in Navodaya Entrance Exam. Types of angles and their simple applications. What to prepare.

नवोदय प्रवेश परीक्षा में नये अध्याय का समावेश- कोण के प्रकार एवं उनका सरल अनुप्रयोग (Types Of Angle And Its Simple Applications) | क्या-क्या करें तैयारी ??

कक्षा छठवीं के लिए जवाहर नवोदय विद्यालय प्रवेश परीक्षा 2024–25 से नये सिलेबस में “कोण के प्रकार एवं उसके सरल [...]
Read more

नये सिलेबस | जवाहर नवोदय विद्यालय प्रवेश परीक्षा 2025 | Class 6th

[JNVST 2025] जवाहर नवोदय विद्यालय प्रवेश परीक्षा 2025 की तैयारी करने वाले कक्षा छठवीं में प्रवेश की इच्छुक विद्यार्थियों को [...]
Read more
Download Our Mobile App For better Preparation
and access to our new Model Paper, Live Classes, Test Series And many more
Download Our Mobile App For better Preparation
and access to our new Model Paper, Live Classes, Test Series And many more
© 2024 Navodaya Study. All rights reserved.
new chapter in Navodaya Entrance Exam. Types of angles and their simple applications. What to prepare.

नवोदय प्रवेश परीक्षा में नये अध्याय का समावेश- कोण के प्रकार एवं उनका सरल अनुप्रयोग (Types Of Angle And Its Simple Applications) | क्या-क्या करें तैयारी ??

कक्षा छठवीं के लिए जवाहर नवोदय विद्यालय प्रवेश परीक्षा 2024–25 से नये सिलेबस में “कोण के प्रकार एवं उसके सरल [...]
Read more