नवोदय के ऐसे प्रश्न को हल करें मात्र 10 सेकेण्ड में

विभिन्न परीक्षाओं में गणित के कुछ ऐसे प्रश्न होते है जिसे हल करने तो बहुत ही आसान होते हैं किन्तु सही फार्मूले या तरीके की जानकारी नहीं होने की स्थिति में ऐसे प्रश्न परीक्षार्थियों को उल्झाते हैं तथा अधिक समय लेकर परीक्षा को प्रभावित भी करते हैं।

इस लेख में जवाहर नवोदय विद्यालय प्रवेश की तैयारी करने वाले विद्यार्थियों के लिए कुछ ऐसे ही प्रश्न दिया गया है। इस लेख को पढ़ने के बाद इस तरह नवोदय किसी भी प्रश्न को आप सेकेण्डों में हल कर सही उत्तर पर पहुंच सकते हैं।

ऐसे ही एक प्रश्न उदाहरण के साथ निचे दिया गया है तथा उसके हल करने के सरलतम तरीके का व्याख्या सहित हल दिये जा रहे हैं। इसे समझकर सबसे निचे दो प्रश्न और दिये गए हैं उसे हल करें तथा अपने उत्तर की जांच करें कि आप ऐसे प्रश्नों का हल कर पा रहे हैं या नहीं।

उदाहरण के प्रश्न –

प्रश्न 1. दो संख्याओं का योग 216 है तथा उनका म.स. (HCF) 18 है। ऐसे कितने जोड़े बनाए जा सकते हैं –
(A) 2
(B) 4
(C) 6
(D) 8

व्याख्या सहित हल

सबसे पहले 216 को 18 (HCF) से भाग करें।
216 ÷ 18 = 12
अब प्राप्त भागफल 12 को संभव जोड़े में बांटने है।
जैसे –
6 + 6
5 + 7
4 + 8
3 + 9
2 + 10
1 + 11
इस तरह 12 के 6 जोड़े बनते हैं। इन 6 जोड़े में ऐसे जोड़े की संख्या को गिन लें जो 1 को छोड़कर किसी भी संख्या से पूरी-पूरी विभाजित नहीं हो सकते।

जैसे –

6 + 6 (दोनों संख्या 6 से विभाजित है)
5 + 7 (दोनों संख्या विभाजित नहीं है)
4 + 8 (दोनों संख्या 2, 4 से विभाजित है)
3 + 9 (दोनों संख्या 3 से विभाजित है)
2 + 10 (दोनों संख्या 2 से विभाजित है)
1 + 11 (दोनों संख्या विभाजित नहीं है)

इस तरह 5 + 7 तथा 1 + 11 दो जोड़े ही ऐसे हैं जिनको 1 को छोड़कर किसी भी संख्या से पूरी-पूरी विभाजित नहीं हो सकते। अतः उपर्युक्त प्रश्न का सही विकल्प 2 होगा।

उपरोक्त प्रश्न के व्याख्या सहित हल के आधार पर निचे दिये गये दोनों प्रश्नों को हल करें तथा उत्तर की जांच करें

प्रश्न 2. दो संख्याओं का योग 162 है तथा उनका म.स. (HCF) 18 है। ऐसे कितने जोड़े बनाए जा सकते हैं –
(A) 1
(B) 2
(C) 3 Ans
(D) 4

प्रश्न 3. दो संख्याओं का योग 208 है तथा उनका म.स. (HCF) 16 है। ऐसे कितने जोड़े बनाए जा सकते हैं –
(A) 2
(B) 4
(C) 6 Ans
(D) 8

Leave a Comment

Leverage agile frameworks to provide a robust synopsis for high level overviews. Iterative approaches to corporate strategy foster collaborative thinking to further the overall value proposition.
Download Now